Raj Express
www.rajexpress.co
ससंद भवन के बाहर बैठी अनु दुबे
ससंद भवन के बाहर बैठी अनु दुबे|Kavita Singh Rathore -RE
भारत

आखिर क्यों बैठी है यह लड़की ससंद भवन के गेट पर बोर्ड लेकर

प्रियंका रेड्डी हत्याकांड के सामने आने के बाद पूरे देश में गुस्से का माहौल है, वहीं अनु दुबे नाम की एक लड़की देश की अन्य लड़कियों के बहुत सारे सवाल लेकर ससंद भवन पहुंची। उसे पूछने हैं बहुत से सवाल।

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

हाइलाइट्स :

  • प्रियंका रेड्डी हत्याकांड से गर्माया देश

  • ससंद भवन पहुंची अनु दुबे

  • लड़की को पूछने हैं बहुत सारे सवाल

  • प्रियंका ने बहन को की थी आखिरी कॉल

राज एक्सप्रेस। हैदराबाद को शर्मसार कर देने वाली घटना जिसमें एक महिला डॉक्टर से गैंगरेप कर उसे बेरहमी से जला कर फेंक दिया गया। इस घटना ने भारत में गैंगरेप की किताब के साल 2012 के पन्ने खोल कर रख दिए हैं। हैदराबाद की प्रियंका रेड्डी जो पेशे से महिला डॉक्टर थी, इनके साथ घटी इस दर्दनाक घटना के बाद पूरे देश की जनता में आक्रोश का माहौल है सब में गुस्सा है, लेकिन क्या प्रशासन अभी भी सो रहा है? इसी बात का जवाब लेने अनु दुबे नाम की एक लड़की ससंद भवन पहुंची।

क्या है मामला :

दरअसल, अनु दुबे नाम की एक लड़की आज सुबह ससंद भवन पहुंची, वहाँ पहुंच कर वह सुबह से ससंद भवन के बैक डोर पर एक बोर्ड लेकर बैठी है जिस पर अंग्रेजी भाषा में लिखा है कि, "Why I can't feel safe in my home भारत?" जिसका मतलब है ‘मैं अपने घर भारत में सुरक्षित क्यों नहीं हूं? लड़की से बातचीत करने पर उसने कहा कि, कल मेरा भी रेप हो जाएगा कल मुझे भी जला दिया जाएगा। उसने कहा कि, वो यहाँ हर रोज आकर बैठेगी, वो ऑफिस भी जाएगी, लेकिन यहाँ आना बंद नहीं करेगी।

पूरी बातचीत : लड़की से पूछे जाने

सवाल : आप यहाँ अकेले बैठी हैं कितने बजे से बैठी हैं ?

जवाब : मैं सुबह 7 बजे से यहाँ बैठी हूँ।

सवाल : आप काम करती हैं ?

जवाब : हाँ

सवाल : क्या लगता है आप दिल्ली में रहते हुए खुद को सुरक्षित महसूस नहीं करते?

जवाब : मुझे यहाँ पर दिल्ली तो नहीं दिख रहा मुझे यहाँ पूरा भारत दिख रहा है।

सवाल : आप दिल्ली के रहने वाले हो ?

जवाब : उससे क्या फर्क पड़ता है में हूँ तो एक लड़की ही।

सवाल : आप भारत में जहां भी जाती हैं वहाँ लड़कियां सुरक्षित नहीं हैं?

जवाब : निर्भया हो गया, कठुआ हो गया, 2-4 साल की लड़की का रेप हो रहा है। निर्भया केस के बाद तो रेप और बढ़ गए हैं, हर 20 मिनट में एक रेप होता है और भारत की सरकार यहाँ बहुत नार्मल है, देखो यहाँ किसी कोई कोई फर्क नहीं पड़ रहा है। आज वो लड़की जली है जिसका साथ मैं दे रही हूँ कल मैं जलूँगी, जल जाऊंगी पर में लड़ूंगी। (रोती हुई आवाज में बोली)

सवाल : आप में डर बैठ गया है?

जवाब : गर्दन हिलाते हुए मना किया और कहा अब डरने का मन नहीं करता, अब मन भर गया है डर-डर के, जबाव दे दे के कि, घर जल्दी आऊंगी डरने की कोई बात नहीं है, अब नहीं देना जबाव मुझे अब मन भर गया है, अब जो करना है कर लो।

सवाल : आपके साथ और लोग नहीं जुड़ते हैं तो; आप क्या अकेली बैठेंगी ?

जवाब : मुझे किसी से उम्मीद नहीं है मैं हर रोज यहाँ अकेले बैठूंगी।

सवाल : आप सरकार से क्या पूछना चाहती हैं?

जवाब : बहुत सारे सवाल हैं मेरे, एक नार्मल सा सवाल है "ये मेरा ही तो घर है, मेरा ही घर है भारत तो, में अपने ही घर में सुरक्षित क्यों नहीं हो सकती?"

सवाल : आप यहाँ कब तक बैठेंगी ?

जवाब : मैं ऑफिस भी जाऊंगी और यहाँ रोज बैठूंगी, जब तक इंसाफ नहीं मिलता बैठ जाते हैं। रोज इसी टाइम पर सुबह से शाम तक।

एक अन्य शव मिला :

अभी प्रियंका रेड्डी हत्याकांड के आरोपियों को सजा मिली भी नहीं है और वहीं शमशाबाद में एक और लड़की का जला हुआ शव मिला है। पुलिस बातें यह कर रही है कि, प्रियंका ने बहन को कॉल न करके पुलिस को कॉल किया होता तो शयद आज वो जिन्दा होती और उसके साथ यह सभी नहीं होता। दूसरी तरफ पुलिस अनु दुबे को संसद भवन के बाहर से हटाती हुई नजर आई।

क्या था प्रियंका रेड्डी हत्याकांड मामला :

22 साल की महिला डॉक्टर प्रियंका रेड्डी हर दिन की तरह ही ड्यूटी पर जा रही थी, अचानक रस्ते में गाड़ी पंचर हो जाने के कारण वो रुक गईं। इसके बाद प्रियंका ने अपनी बहन को फोन लगा कर कहा, "मुझे बहुत डर लग रहा है" उसके बाद जो घटना घटित हुई पूरा देश जनता है महिला के साथ गैंगरेप कर उसे जलाकर मार दिया गया और उसका शव हाईवे पर ब्रिज के नीचे फेंक दिया गया।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।