Raj Express
www.rajexpress.co
Arun Jaitley and Narendra Modi
Arun Jaitley and Narendra Modi|संपादित तस्वीर
भारत

असली संकट मोचक या चाणक्य थे जेटली

अरूण जेटली के निधन पर PM नरेंद्र मोदी ने अपनी शोक संवेदना में बहुत सारी बातें कहीं मगर उन्होंने माना कि, वे वाकई संकट मोचक थे। उनमें निर्णय क्षमता इतनी प्रबल थी, जिससे उन्हें चाणक्य कहना गलत नही है।

Sushil Dev

राज एक्सप्रेस। अरूण जेटली के निधन पर वैसे तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी शोक संवेदना में बहुत सारी बातें कहीं मगर उन्होंने माना कि, वे वाकई संकट मोचक थे। उनमें निर्णय क्षमता इतनी प्रबल और कुषाग्र थी, जिसकी वजह से उन्हें चाणक्य कहना भी गलत नही होगा। मोदी सरकार की कैबिनेट में वह हमेशा पढ़े लिखे और विद्वान मंत्री रहे। पिछले तीन दशक से अधिक समय तक अपनी तमाम तरह की काबिलियत के चलते जेटली लगभग हमेशा सत्ता तंत्र के पसंदीदा लोगों में रहे चाहे सरकार जिसकी भी रही हो।

उत्कृष्ट रणनीतिकार थे जेटली :

पूर्व केंद्रीय मंत्री और भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता रहे जेटली सौम्य, सुशील, अपनी बात स्पष्टता के साथ कहने वाले और राजनीतिक तौर पर उत्कृष्ट रणनीतिकार थे। कहते हैं कि, जेटली भाजपा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए मुख्य संकटमोचक थे, जिनकी चार दशक की शानदार राजनीतिक पारी स्वास्थ्य बिगड जाने की वजह से बर्बाद हो गई। बता दें कि, खराब सेहत के चलते प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में दूसरी बार बनी सरकार से खुद को बाहर रखने वाले 66 वर्षीय जेटली का शनिवार को राजधानी नई दिल्ली के एम्स अस्पताल में निधन हो गया। सांस लेने में तकलीफ और बेचैनी की शिकायत के बाद उन्हें नौ अगस्त को यहां भर्ती कराया गया था।