MP, राजस्थान और UP को जोड़ने के लिए बनाया जाएगा 'अटल प्रोग्रेस-वे'
MP, राजस्थान और UP को जोड़ने के लिए बनाया जाएगा 'अटल प्रोग्रेस-वे'Social Media

MP, राजस्थान और UP को जोड़ने के लिए बनाया जाएगा 'अटल प्रोग्रेस-वे'

मध्यप्रदेश, राजस्थान और उत्तर प्रदेश वासियों को एक राज्य से दूसरे राज्य जाने के लिए आसानी प्रदान करने के मकसद से तीनो राज्यों को जोड़ने के लिए अटल प्रोग्रेस-वे का निर्माण किया जाएगा।

मध्य प्रदेश। पिछले कुछ सालों में भारत को कई बड़ी सौगातें मिली हैं। वहीं, अब मध्यप्रदेश, राजस्थान और उत्तर प्रदेश वासियों को एक राज्य से दूसरे राज्य जाने के लिए आसानी प्रदान करने के मकसद से तीनो राज्यों को जोड़ने के लिए अटल प्रोग्रेस-वे का निर्माण किया जाएगा। बता दें, इस अटल प्रोग्रेस-वे का निर्माण भारत माला परियोजना के पहले चरण में किया जाएगा। इस बारे में मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने विस्तार से जानकारी दी है।

3 राज्यों को जोड़ने के लिए किया जाएगा एक्सप्रेस-वे तैयार :

दरअसल, अब तक भारत में कई एक्सप्रेस-वे तैयार किये जा चुके है। जिससे एक राज्य से दूसरे राज्यों की यात्रा को सरल बनाया जा सके। यह एक्सप्रेस वे इन राज्यों को जोड़ने का काम करते है। वहीं, अब मध्यप्रदेश, राजस्थान और उत्तर प्रदेश को जोड़ने के लिए अटल प्रोग्रेस (चंबल एक्सप्रेस) वे का निर्माण किया जाएगा। इसका निर्माण भारत माला परियोजना के पहले चरण में ही किया जाएगा। इस बारे में राष्ट्रीय राजमार्ग एवं सड़क परिवहन मंत्रालय ने 19 अगस्त को इस परियोजना को भारत माला फेज-1 में शामिल करने की अनुमति दे दी है। इस अनुमति के बाद अब जल्द ही नेशनल हाईवे अथॅारिटी ऑफ इंडिया (NHAI) इसके निर्माण के लिए टेंडर जारी करेगा। इस बारे में जानकारी देते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि,

अटल प्रोग्रेस-वे ग्वालियर-चबंल संभाग के विकास की जीवन रेखा साबित होगी। इस 404 किलोमीटर लंबाई के एक्सप्रसे-वे के आसपास इंडस्ट्रियल कॉरिडोर का निर्माण कराया जाएगा। जो क्षेत्र के आर्थिक विकास की महत्वपूर्ण कड़ी बनेगी। अटल प्रोग्रेस-वे का परिधि क्षेत्र दिल्ली-मुम्बई एक्सप्रेस- वे, ईस्ट-वेस्ट कॉरिडोर, आगरा-कानपुर हाईवे के मध्य स्थित है।

शिवराज सिंह चौहान, मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री

अटल प्रोग्रेस-वे से जुड़ी कुछ अहम बातें :

  • अटल एक्सप्रेस-वे का निर्माण नेशनल हाईवे अथॅारिटी ऑफ इंडिया (NHAI) द्वारा किया जाएगा।

  • इस प्रोजेक्ट के लिए मध्य प्रदेश सरकार ने 1523 हेक्टेयर सरकारी जमीन प्रोजेक्ट के लिए NHAI को ट्रांसफर की है, जबकि 1248 हेक्टेयर निजी जमीन का अधिग्रहण शेष है।

  • इस प्रोजेक्ट के लिए प्रदेश सरकार ने रिकाॅर्ड 4 महीने में DPR बनाकर केंद्र सरकार के सामने रख दी है।

  • करीब 1523 हेक्टेयर सरकारी जमीन का हस्तांतरण भी रिकॉर्ड समय में पूर्ण कर राष्ट्रीय राजमार्ग एवं सड़क परिवहन मंत्रालय (NHAI) को आधिपत्य दिया जा चुका है।

  • नेशनल हाईवे अथॅारिटी ऑफ इंडिया (NHAI) द्वारा राजस्थान के दीगोद से लेकर श्योपुर, मुरैना, भिंड होते हुए उत्तर प्रदेश तक को जोड़ने के लिए 404 किलोमीटर लंबा अटल चंबल एक्सप्रेस-वे बनाया जा रहा है।

  • इस मेगा हाईवे को इस तरह डिजाइन किया जाएगा कि इस पर लगभग 100 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से वाहन चल सकें।

कैसा होगा हाईवे ?

  • एक्सप्रेस वे की कुल लंबाई 394 किलोमीटर

  • मप्र में मात्र 404 किलोमीटर, राजस्थान में केवल 85 किलोमीटर बनेगा

  • यह फोर लेन मेगा हाईवे 100 फीट चौड़ा होगा

  • इस पर 100 किमी की रफ्तार से वाहन चल सकेंगे

  • मुरैना जिले में 144 किमी लंबा होगा

  • श्योपुर जिले में 197 किमी होगा

  • भिंड जिले में केवल 67 किमी का हिस्सा आएगा

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co