कंगना-शिवसेना विवाद में अयोध्या संत समाज की एंट्री
कंगना-शिवसेना विवाद में अयोध्या संत समाज की एंट्री|Social Media
भारत

कंगना-शिवसेना विवाद में अयोध्या संत समाज की एंट्री, ठाकरे को दी बड़ी धमकी

कंगना रनौत-शिवसेना विवाद: महाराष्ट्र में अभिनेत्री कंगना रनौत के समर्थन में उतरेे अयोध्या के साधु संतों और विश्व हिंदू परिषद (VHP) ने नाराजगी जताई और उद्धव ठाकरे को अयोध्या न आने की धमकी दी है।

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

कंगना रनौत-शिवसेना विवाद: बॉलिवुड अभिनेत्री कंगना रनौत के मुंबई स्थित दफ्तर में बीएमसी की कार्रवाई व तोड़फोड़ के बाद महाराष्‍ट्र के मुख्‍यमंत्री उद्धव ठाकरे व कंगना में विवाद ओर बढ़ गया है। महाराष्‍ट्र की ठाकरे सरकार के खिलाफ जबरदस्‍त विरोध हो रहा है। इसी बीच कंगना रनौत और उद्धव ठाकरे की लड़ाई में अब अयोध्या के संत समाज की भी एंट्री हो गई है।

संतों ने किया उद्धव ठाकरे का विरोध :

इस दौरान महाराष्ट्र में अभिनेत्री कंगना रनौत के साथ किए जा रहे व्यहार पर अयोध्या के साधु संतों और विश्व हिंदू परिषद (VHP) उनके समर्थन में उतरे और नाराजगी जताते हुए उद्धव ठाकरे के खिलाफ विरोध शुरू कर दिया है। साथ ही संतों और विश्व हिंदू परिषद ने CM उद्धव ठाकरे को अयोध्या न आने की चेतावनी दी, अगर आए तो उन्‍हेंं विरोध झेलना पड़ेगा।

कंगना रनौत देश की बहादुर और हिम्मत वाली बेटी :

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि ने कहा कि, ''कंगना रनौत बहादुर और हिम्मत वाली बेटी हैं, जिन्होंने बॉलिवुड के माफियाओं और ड्रग माफियाओं के रैकेट का भंडाफोड़ किया है। उन्होंने निडर होकर बॉलीवुड में एक विशेष समुदाय के वर्चस्व के खिलाफ खुलकर आवाज उठाई है। इससे न केवल बॉलिवुड के माफिया डर गए हैं, बल्कि सरकार के भी कदम उखड़ रहे हैं।''

कंगना रनौत की ओर से कहे सच को दबाने के लिए उद्धव ठाकरे सरकार ने कंगना के कार्यालय पर बुलडोजर चलवाया है और बदले की कार्रवाई की है। हालांकि, महाराष्ट्र हाईकोर्ट ने कंगना रनौत को बड़ी राहत देते हुए ध्वस्तीकरण की कार्रवाई पर रोक लगाई है। कहा कि, सुशांत सिंह मर्डर केस में जिस बहादुरी से कंगना रनौत ने ड्रग और बॉलीवुड माफियाओं का सामना किया है। उससे लोगों में बौखलाहट है।

अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि

वहीं, हनुमान गढ़ी मंदिर के पुजारी महंत राजू दास ने कंगना के दफ्तर को तोड़ने का विरोध किया और कहा कि, ''उद्धव ठाकरे या शिवसेना का कोई भी नेता अयोध्या में आया तो उनका विरोध होगा। संत उनकी करतूत के खिलाफ हैं। बीएमसी ने कंगना का दफ्तर तोड़कर अच्छा नहीं किया।''

कंगना रनौत पर हमला क्यों ?

संत समाज के प्रमुख महंत कन्हैया दास ने शिवसेना कंगना रनौत पर हमला क्यों कर रही है? हर कोई समझ सकता है, यह कोई रहस्य नहीं है। शिवसेना वह नहीं रही, जो कभी बालासाहेब ठाकरे के अधीन हुआ करती थी, उन्होंने आरोप लगाया कि, महाराष्ट्र सरकार असामाजिक गतिविधियों में शामिल लोगों को बचाने की कोशिश कर रही है।

VHP के क्षेत्रीय प्रवक्ता शरद शर्मा ने कहा कि, ''यह एकदम स्पष्ट है कि शिवसेना जानबूझकर अभिनेत्री को निशाना बना रही है, क्योंकि वह राष्ट्रवादी ताकतों का समर्थन कर रही है और उसने मुंबई के ड्रग माफिया के खिलाफ आवाज उठाई है। महाराष्ट्र सरकार जानबूझकर कंगना रनौत के खिलाफ बदले के इरादे से कार्रवाई कर रही है।''

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co