कर्नाटक में CM पद की कमान अब बसवराज बोम्मई के हाथ- आज CM के तौर पर ली शपथ
कर्नाटक में CM पद की कमान अब बसवराज बोम्मई के हाथ- आज CM के तौर पर ली शपथSocial Media

कर्नाटक में CM पद की कमान अब बसवराज बोम्मई के हाथ- आज CM के तौर पर ली शपथ

कर्नाटक में नए मुख्यमंत्री के लिए बसवराज बोम्मई को चुना गया है और आज बुधवार को उन्‍होंने 23वें मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ले ली है।

कर्नाटक, भारत। कर्नाटक में अभी तक मुख्यमंत्री पद की जिम्‍मे‍दारी बीएस येदियुरप्पा संभालते आ रहे थे, लेकिन दो दिन पहले ही बीजेपी की स्टेट यूनिट और सरकार में खींचतान के बीच उन्‍होंने इस्तीफा दे दिया, इसके बाद अब इस राज्‍य में नए मुख्यमंत्री के लिए बसवराज बोम्मई को चुना गया है और आज बुधवार को उन्‍होंने 23वें मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ले ली है।

राजभवन में मुख्यमंत्री पद की ली शपथ :

अब कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई होंगे। बसवराज बोम्मई आज सुबह 10:30 बजे ही राजभवन पहुंचे और CM पद की शपथ ली, कर्नाटक के राज्‍यपाल थावर चंद गहलोत ने उन्‍हें शपथ दिलाई। इस दौरान उनके नेता और पूर्व सीएम बीएस येदियुरप्पा भी साथ थे। राजभवन में आज CM पद की शपथ लेने से पहले बसवराज बोम्मई ने राज्‍य के पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा के पैर छूकर उनका आशीर्वाद लिया और कहा- उन्हें येदियुरप्पा के लंबे अनुभव का फायदा मिलेगा।

येदियुरप्पा ने ही बोम्मई के नाम का रखा प्रस्ताव :

दरअसल, बीते दिन मंगलवार शाम 7 बजे कर्नाटक में विधायक दल का नेता चुनने के लिए बैठक बुलाई गई थी, इसमें भाजपा महासचिव और कर्नाटक के प्रभारी जी किशन रेड्डी, केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान, कर्नाटक भाजपा अध्यक्ष नलिन कुमार कतिल, पूर्व मुख्यमंत्री येदियुरप्पा समेत राज्य के कई बड़े नेता शामिल थे। बैठक में पूर्व मुख्यमंत्री येदियुरप्पा ने ही बसवराज बोम्मई के नाम का प्रस्ताव रखा, जिसे मंजूर कर लिया गया। बताते चलें, इंजीनियर और खेती से जुड़े होने के नाते बसवराज को कर्नाटक के सिंचाई मामलों का जानकार माना जाता है। राज्य में कई सिंचाई प्रोजेक्ट शुरू करने की वजह से उनकी तारीफ होती है। उन्हें अपने विधानसभा क्षेत्र में भारत की पहली 100% पाइप सिंचाई परियोजना लागू करने का श्रेय भी दिया जाता है।

बता दें कि, पूर्व CM बीएस येदियुरप्पा ने इस्तीफे की वजह बढ़ती उम्र भी बताई जा रही है। बीएस येदियुरप्पा के करीबी कहे जाने वाले बोम्मई को सीएम बनाकर बीजेपी ने पूर्व सीएम और लिंगायत समुदाय दोनों को ही साधने का प्रयास किया है। बोम्मई भी उसी लिंगायत समुदाय से आते हैं, जिससे येदियुरप्पा का ताल्लुक था।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.