दिल्‍ली: विजय चौक पर इस बार का बीटिंग द रिट्रीट कार्यक्रम बेहद खास, जानें वजह
दिल्‍ली: विजय चौक पर इस बार का बीटिंग द रिट्रीट कार्यक्रम बेहद खास, जानें वजहSocial Media

दिल्‍ली: विजय चौक पर इस बार का बीटिंग द रिट्रीट कार्यक्रम बेहद खास, जानें वजह

दिल्‍ली के ऐतिहासिक विजय चौक पर गणतंत्र दिवस समारोह की समाप्ति के लिए बीटिंग द रिट्रीट समारोह 2021 का आयोजन शुरू हो गया है। इस दौरान यहां प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति समेत तमाम नेता मौजूद हैं...

दिल्‍ली, भारत। देश ने 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस मनाने के 3 दिन बाद बीटिंग रिट्रीट का समारोह का आयोजन होता है, जिसे गणतंत्र दिवस के जश्न के समापन के रुप में मनाते हैं। ठीक उसी तरह इस बार में 72वां गणतंत्र दिवस मनाने के बाद आज 29 जनवरी को दिल्‍ली के ऐतिहासिक विजय चौक पर 'बीटिंग द रिट्रीट' समारोह के साथ गणतंत्र दिवस समारोह की समाप्ति हो रही है।

बीटिंग रिट्रीट समारोह में तमाम नेता मौजूद :

विजय चौक पर आयोजित बीटिंग रिट्रीट समारोह के समापन के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद विजय चौक पर मौजूद हैं। इसके अलावा रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह समेत तमात बड़े नेता मौजूद हैं।

इस बार का बीटिंग रिट्रीट समारोह बेहद खास : 

बता दें, इस वर्ष 2021 का 'बीटिंग द रिट्रीट' समारोह बेहद खास है, क्‍योंकि इस बार बीटिंग-रिट्रीट समारोह की शुरुआत 1971 युद्ध में पाकिस्तान पर मिली जीत के लिए तैयार की गई खास धुन से की गई है। इस धुन को ‘स्वर्णिम विजय’ थीम नाम दिया गया है।

कैसे मनाते हैं बीटिंग रिट्रीट समारोह :

बता दें, ‘बीटिंग द रिट्रीट’ भारत के गणतंत्र दिवस समारोह की समाप्ति का सूचक है। इस दौरान बीटिंग रिट्रीट समारोह के शुरुआत में जल, वायु और थल तीनों सेनाओं के बैंड एक साथ पारंपरिक धुन बजाते हैं और फिर आखिरी में बैंड मास्टर राष्ट्रपति के पास जाकर बैंड की विदाई की अनुमति लेते हैं, इस दौरान राष्ट्रपति की इजाजत मिलने के बाद ही गणतंत्र दिवस के कार्यक्रमों का समापन हो जाता है।

तो वहीं, बैंड की वापसी के वक्‍त वह 'सारे जहां से अच्छा' की लोकप्रिय धुन बजाते हैं। शाम को ठीक 6 बजे के करीब बगलर्स रिट्रीट की धुन बजाते हैं और तिरंगे को उतार लिया जाता है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

AD
No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co