बर्ड फ्लू और स्वाइन फ्लू ने दी दस्तक
बर्ड फ्लू और स्वाइन फ्लू ने दी दस्तक|Sudha Choubey - RE
भारत

COVID-19 का खतरा टला नहीं कि, बर्ड फ्लू और स्वाइन फ्लू ने दी दस्तक

कोरोना वायरस ने दुनिया भर में दहशत फैला दी है। कोरोना वायरस का खतरा अभी टला भी नहीं कि, भारत में दो और जानलेवा वायरस ने दस्तक दे दी ही।

Sudha Choubey

Sudha Choubey

राज एक्सप्रेस। महामारी की तरह फैल रहे कोरोना वायरस ने दुनिया भर में दहशत फैला दी है। कोरोना वायरस का खतरा अभी टला भी नहीं कि, भारत में दो और जानलेवा वायरस ने दस्तक दे दी ही। कोरोना वायरस संक्रमण की दहशत के बीच अब बिहार में बर्ड फ्लू और स्वाइन फ्लू की आशंका से लोगों में दहशत व्याप्त है।

पटना में बर्ड लू और स्वाइन फ्लू की आशंका :

कोरोना वायरस संक्रमण की दहशत के बीच अब बिहार में बर्ड फ्लू और स्वाइन फ्लू की आशंका से लोगों के बीच दहशत बना हुआ है। पटना में कई कौवों की अचानक मौत के बाद उसमें बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई है। हालांकि भागलपुर में हो रही सूअरों की मौत को चिकित्सक 'स्वाइन फीवर' बता रहे हैं। बिहार के कई क्षेत्रों में पिछले दिनों कौओं की मौत हुई थी। इस बीच, सरकार ने सतर्कता बढ़ा दी है।

अधिकारियों का कहना :

पशुपालन विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि, पटना के लोहियानगर में 15 फरवरी को कई कौवों की मौतें हुई थीं। इसके बाद वहां से दो बार सैंपल जांच के लिए भेजे गए थे। दोनों बार ही बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई है। पशुपालन विभाग के एनिमल हेल्थ एंड प्रोडक्शन इंस्टीट्यूट के निदेशक डॉ. उमेश कुमार ने बताया कि, बर्ड फ्लू और स्वाइन फीवर के बाद सुरक्षात्मक कदम उठाए गए हैं। उस इलाके को सैनिटाइजेशन कराया गया है।

उन्होंने कहा, "प्रभावित इलाकों की निगरानी की जा रही है। क्षेत्र में चलने वाली मीट-मुर्गा की दुकानों से भी सैंपल लिए गए हैं।" उन्होंने कहा कि, निरंतर बदलते मौसम के कारण पूरे राज्य में सर्विलांस बढ़ाई गई है तथा सुरक्षात्मक कदम उठाए गए हैं।

भागलपुर में कई सुअरों की मौत :

वहीं पटना सिटी और भागलपुर के कुछ क्षेत्रों में सुअरों की मौत के पीछे स्वाइन फीवर बीमारी की बात कही जा रही है। संस्थान के वेटनरी डॉक्टरों के मुताबिक स्वाइन फीवर भी स्वाइन फ्लू की भांति नुकसानदेह होता है। हालांकि मृत सूअरों के सैंपल कोलकाता भेज गए हैं, लेकिन अभी तक रिपोर्ट नहीं है।

बिहार में आठ दिनों में छह मरीज :

आपको बता दें कि, बिहार में पिछले आठ दिनों में स्वाइन फ्लू के छह मरीज सामने आ चुके हैं। इनमें से एक युवक की हालत गंभीर है, उसे वेंटीलेटर पर रखा गया है। बिहार में छह मार्च को एक युवती में पहली बार स्वाइल फ्लू की पुष्टि हुई थी। पटना सिटी के गायघाट मोहल्ले की इस युवती को तेज बुखार आ रहा था। कोरोना वायरस के संदेह में इसकी जांच की गई तो स्वाइन फ्लू का पता चला था।

निदेशक डॉ. उमेश कुमार के अनुसार :

संस्थान के निदेशक डॉ. उमेश कुमार के अनुसार मामले की पुष्टि के बाद सुरक्षात्मक कदम उठाए गए हैं। उस इलाके का सैनिटाइजेशन कराया गया। वैसे पूरे प्रभावित इलाके को सर्विलांस में रखा गया है। क्षेत्र में चलने वाली मीट-मुर्गे की दुकानों से सभी सैम्पल लिए गए हैं। कहा कि, पैनिक जैसी कोई बात नहीं है। हम लोग सतर्क हैं, निरंतर बदलते मौसम के कारण किसी बीमारी की आशंका के मद्देनजर पूरे राज्य में सर्विलांस बढ़ा दी गई है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर ।

Raj Express
www.rajexpress.co