ब्लैकबक ने 50 करोड़ के राहत कोष और यात्रा बीमा की घोषणा की
ब्लैकबक ने 50 करोड़ के राहत कोष और यात्रा बीमा की घोषणा की|Social Media
भारत

ब्लैकबक ने 50 करोड़ के राहत कोष और यात्रा बीमा की घोषणा की

भारत के सबसे बड़े ऑनलाइन ट्रकिंग प्लेटफॉर्म ब्लैकबक ने आज माल परिवहन में तेजी और लॉजिस्टिक्स इंडस्ट्री को वापस पटरी पर लाने के लिए कई विशेष प्रयासों की घोषणा की।

राज एक्सप्रेस

राज एक्सप्रेस

राजएक्सप्रेस। भारत के सबसे बड़े ऑनलाइन ट्रकिंग कंपनी ब्लैकबक ने पूरे देश में ट्रकों और सामानों का परिवहन शुरू करने और लॉकडाउन में टूटी सप्लाई चेन दोबारा कायम करने के लिए 'मूव इंडिया' पहल की है। 'मूव इंडिया' पहल के तहत कम्पनी इस बीच कोई कमीशन नहीं लेगी, ताकि ट्रक कारोबारी इसके प्लेटफार्म से जुड़ें और फिर से कारोबार शुरू करें। साथ ही, ब्लैकबक ने सुरक्षा के कई उपाय किए हैं, जैसे डायरेक्ट मनी ट्रांसफर (डीएमटी) और ट्रिप इंश्योरेंस ताकि दूसरी पंक्ति के कोरोना योद्धाओं, ट्रक ड्राइवरों को मदद और सुरक्षा मिले क्योंकि वे भारतीय अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने की बड़ी जिम्मेदारी निभाने वाले हैं।

'मूव इंडिया' की पहल से 10 लाख से अधिक ट्रकों के साथ 50,000 से अधिक फ्लीट मालिकों को मांग की जानकारी होगी तथा कई अन्य सेवाएं मिलेंगी जैसे कि फास्टैग, जीपीएस और फ्यूल कार्ड। कमीशन नहीं लिए जाने से ट्रक मालिकों को हर ट्रिप पर 2,000 से 3,000 रुपये का अतिरिक्त लाभ होगा। कई बड़े ट्रक फ्लीट मालिकों के लिए केवल इस इंसेंटिव से लाखों की कमाई होगी। इससे पूरी तरह कार्य परिचालन शुरू करने का उनका हौसला बुलंद होगा। इतना ही नहीं पूरी लॉजिस्टिक्स इंडस्ट्री को वापस पटरी पर लाने के इस प्रयास के साथ कम्पनी ने अपने प्लेटफार्म का विस्तार कर छोटे ट्रांसपोर्टरों, मंडी के विक्रेताओं और वितरकों (जो वर्तमान में ब्लैकबक प्लेटफॉर्म का हिस्सा नहीं हैं) के लिए भी कमीशन माफ करने का निर्णय लिया है। कम्पनी अगले 1 महीने तक एक कॉल से बुक करने के हेल्पलाइन से ऐसे 20,000 से अधिक ट्रांसपोर्टरों और विक्रेताओं को कमीशन माफी का लाभ देने वाली है।

ट्रक ड्राइवरों के लिए 50 करोड़ रुपये का कोविड 19 राहत कोष बनाया गया है। ब्लैकबक अपने ड्राइवर पार्टनरों के स्वास्थ्य और सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध है। बीमार ट्रक ड्राइवरों को राहत में 50,000 रुपये का डायरेक्ट मनी ट्रांसफर (डीएमटी) किया जाएगा। प्रभावित ट्रक ड्राइवरों के ब्लैकबक से संपर्क करने के लिए कम्पनी का मुफ्त हेल्पलाइन भी है।

इसके अलावा कम्पनी हर ट्रिप पर नि:शुल्क बीमा देगी जिसमें किसी दुर्घटनावश अस्पताल में भर्ती होने पर 50,000 रुपये तक का खर्च और दुर्भाग्य से ड्राइवर की मृत्यु हो जाए या स्थायी विकलांगता हो जाए तो उसके परिवार को तीन लाख रुपये मिलेंगे।

ब्लैकबक के फाउंडर और सीईओ राजेश याबजी ने कहा कि सरकार के ट्रक परिवहन दोबारा बहाल करने के साथ हमारी ''मूव इंडिया" पहल का मुख्य उद्देश्य फ्लीट मालिकों को प्रोत्साहन और हमारे ड्राइवर पार्टनरों को सुरक्षा प्रदान कर ट्रकों को सड़क पर वापस लाना है। लगभग 2 महीनों के लॉकडाउन के बाद हमारी अर्थव्यवस्था के लिए सबसे जरूरी तत्काल लॉजिस्टिक्स सेक्टर को पुनर्जीवन देना है ताकि फसल कटनी के सीजन में देश की स्थिति सुधारने में मदद मिले; आवश्यक सामानों का परिवहन आसान हो; और भारत एक बार फिर अपने विकास के रास्ते पर तेजी से बढ़े!

डिस्क्लेमर: यह आर्टिकल न्यूज एजेंसी फीड के आधार पर प्रकाशित किया गया है। सिर्फ शीर्षक में बदलाव किया गया है। अतः इस आर्टिकल अथवा समाचार में प्रकाशित हुए तथ्यों की जिम्मेदारी राज एक्सप्रेस की नहीं होगी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co