कोविड नियमों के उल्लंघन व अभद्र टिप्पणी देकर बुरी तरह फंसे ओवैसी- केस हुआ दर्ज
कोविड नियमों के उल्लंघन व अभद्र टिप्पणी देकर बुरी तरह फंसे ओवैसी- केस हुआ दर्जSocial Media

कोविड नियमों के उल्लंघन व अभद्र टिप्पणी देकर बुरी तरह फंसे ओवैसी- केस हुआ दर्ज

AIMIM के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी के खिलाफ सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने, PM मोदी और CM योगी के खिलाफ अभद्र भाषा का इस्तेमाल व कोविड-19 के नियमों का उल्लंघन करने पर मामला दर्ज हुआ।

उत्‍तर प्रदेश, भारत। देश के नेता व मंत्री कभी-कभी कुछ ऐसे बयान दे देते हैं, जिससे उनकी मुश्किलें बढ़ जाती हैं। इसी तरह अब हैदराबाद से सांसद और AIMIM के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी अभद्र टिप्पणी काे लेकर बुरी तरह फसे और उत्‍तर प्रदेश में उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ है।

असदुद्दीन ओवैसी के खिलाफ बाराबंकी में मुकदमा दर्ज :

बताया जा रहा है कि, AIMIM के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी के खिलाफ जो मुकदमा दर्ज हुआ है, वो बीते दिन गुरुवार को बाराबंकी के नगर कोतवाली में धार्मिक भावनाएं भड़काने समेत कई धाराओं को लेकर उनपर केस दर्ज किया गया है। इतना ही नहीं बल्कि असदुद्दीन ओवैसी पर बिना अनुमति के जनसभा करने, लोगों को रामसनेही मस्जिद के नाम पर भड़काने और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ अभद्र टिप्पणी करने के साथ ही कोविड-19 के नियमों का उल्लंघन करने का आरोप लगा है।

कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक ने दर्ज की रिपोर्ट :

असदुद्दीन ओवैसी और आयोजक मंडल के खिलाफ गुरूवार रात करीब साढ़े 10 बजे नगर कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक ने रिपोर्ट दर्ज हुए जाने की जानकारी सामने आई है। दरअसल, ओवैसी गुरूवार को बाराबंकी पहुंचे थे, इस दौरान उन्‍होंने कई गलतियां की। पहली बात तो यह कि, जहां उन्होंने एक के बाद एक कई विवादित बयान दिए और जो कार्यक्रम का आयोजन किया वो प्रशासन की बगैर अनुमति के किया गया था। पार्टी के पदाधिकारियों ने कार्यकर्ताओं से मुलाकात और चाय पार्टी करने की मंजूरी ली थी, उसके बावजूद बड़े मैदान में बाकायदा मंच बनाकर जनसभा की गई, जिसमें सैकड़ों की भीड़ थी, जबकि जिला प्रशासन द्वारा सिर्फ 50 लोगों की अनुमति दी गई थी।

बताया जा रहा है कि, असदुद्दीन ओवैसी की जनसभा में सीतापुर, अतरौला व लखनऊ समेत कई जिलों के लोग पहुंचे थे। तो वहीं, विधायक सतीश शर्मा ने अपर मुख्य सचिव को भेजे पत्र में लिखा- गुरुवार को कटरा मोहल्ला में बिना अनुमति के मीटिंग हुई। इस दौरान कोरोना गाइडलाइंस की जमकर धज्जियां उड़ाई गई, ओवैसी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर रामसनेहीघाट में 100 साल पुरानी मस्जिद शहीद कराने का आरोप लगाया है, जो निंदनीय और सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने वाला है। सभी जानते हैं कि, अवैध ढांचे को संवैधानिक प्रक्रिया के तहत गिराया गया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co