CBSE ने दो भागों में बांटा एकेडमिक सेशन, दो बार होगी 10th-12th की परीक्षा
CBSE ने दो भागों में बांटा एकेडमिक सेशन, दो बार होगी 10th-12th की परीक्षा Kavita Singh Rathore -RE

CBSE ने दो भागों में बांटा एकेडमिक सेशन, दो बार होगी 10th-12th की परीक्षा

'केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड' (CBSE) बोर्ड 10th और 12th की परीक्षा में भी बड़ा बदलाव करने का फैसला किया है। इस बदलाव के तहत 10th और 12th के एकेडमिक सेशन को दो भागों में बांट दिया है।

CBSE Board : आज देश कोरोना महामारी जैसी बहुत बड़ी समस्या से जूझ रहा है। देश में पिछले दिनों हालात इस कदर बिगड़ गए थे कि, कोरोना से संक्रमित लोगों का प्रतिदिन का आंकड़ा भी लाखों में सामने आरहा था। ऐसे में देश में पिछले कुछ समय में बहुत से ऐसे जरूरी कामों को भी रोक दिया गया, जिनका रुकना पिछले कई सालों में किसी भी हाल में मुश्किल ही था। साथ ही कई बड़े बदलाव भी किए गए हैं। इन बदलावों के तहत 'केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड' (CBSE) बोर्ड 10th और 12th की परीक्षा में भी बड़ा बदलाव करने का फैसला किया है।

CBSE बोर्ड ने किया यह बदलाव :

बताते चलें, सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (CBSE) ने 10th और 12th के विद्यार्थियों के लिए एक बड़ा बदलाव किया है। इस बदलाव के तहत CBSE बोर्ड इस साल यानी 2022 में परीक्षा देने वाले 10th और 12th के विद्यार्थियों के लिए एकेडमिक सेशन को 50 -50% सिलेबस के अनुसार दो भागों में बांट दिया है। इनकी परीक्षा दो बार में ली जाएगी। जिसमें से पहली परीक्षा नवंबर-दिसंबर में ली जाएगी। जबकि दूसरी परीक्षा मार्च-अप्रैल में ली जाएगी।

CBSE बोर्ड का कहना :

2022 की 10th और 12th की बोर्ड परीक्षाओं को लेकर CBSE बोर्ड का कहना है कि, 'इंटरनल असेसमेंट और प्रोजक्ट वर्क को और ज्यादा विश्वसनीय और वैलिड बनाने के प्रयास जारी रहेंगे। इससे पहले बोर्ड ने इस साल होने वाली 10वीं-12वीं की परीक्षा कोरोना के चलते रद्द कर दी थीं। एकेडमिक सेशन में की गई सभी मार्किंग के लिए छात्रों की एक प्रोफाइल बनाईं जाएंगी, इन सभी का लेखा जोखा एक डिजिटल प्रारूप में रखा जाएगा।'

CBSE के डायरेक्टर ने बताया :

CBSE के डायरेक्टर जोसेफ इमैनुएल ने इस मामले में जानकारी देते हुए कहा, ‘शिक्षण सत्र 2021-22 के लिए सिलेबस को दो टर्म में बांटा जाएगा, इसके लिए विषयों के विशेषज्ञों की सहायता ली जाएगी। पाठ्य्रकम को दो हिस्सों में बांटे जाने के आधार पर प्रत्येक टर्म के अंत में बोर्ड परीक्षाएं कराई जाएंगी। एकेडमिक सेशन के अंत में बोर्ड द्वारा 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं कराने की संभावनाओं को बढ़ाने के लक्ष्य से ऐसा किया गया है। इंटरनल मार्किंग, प्रैक्टिकल, प्रोजेक्ट वर्क को अधिक विश्वसनीय और दिशा-निर्देशों के अनुसार वैध बनाने के लिए प्रयास किए जाएंगे और निष्पक्ष तरीके से नंबर दिए जाने के लिए बोर्ड द्वारा पॉलिसी की घोषणा की जाएगी। बोर्ड द्वारा यह योजना कोविड महामारी की वजह से लाई गई है जिसके कारण पिछले साल एग्जाम कैंसिल हो गए थे।’

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co