विधायक मैडम के शब्दों ने लांघी मर्यादा, महिला आईपीएस से हुआ विवाद
विधायक मैडम के शब्दों ने लांघी मर्यादा, महिला आईपीएस से हुआ विवाद|Deepika Pal - RE
छत्तीसगढ़

विधायक मैडम के शब्दों ने लांघी मर्यादा, महिला आईपीएस से हुआ विवाद

छत्तीसगढ़ के बलौदाबाजार से कांग्रेस की महिला विधायक और ट्रेनी आईपीएस अधिकारी के बीच आपसी विवाद का मामला आया सामने ।

Deepika Pal

Deepika Pal

राज एक्सप्रेस। छत्तीसगढ़ के बलौदाबाजार से कांग्रेस की महिला विधायक और ट्रेनी आईपीएस के बीच आपसी विवाद का मामला सामने आया है जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। मामले में कांग्रेस विधायक शकुंतला साहू ने विवाद के बढ़ते आईपीएस को औकात दिखाने की धमकी दी। दरअसल यह विवाद क्षेत्र में सीमेंट प्लांट में घायल हुए मजदूर की मौत पर धरना देने के दौरान सामने आया है जिसमें प्रदर्शनकारियों को ट्रेनी आईपीएस ने रोका था जिसमें मामला और बढ़ गया। फिलहाल मामले में कांग्रेस विधायक और आईपीएस ने अपनी सफाई दी है।

क्या है पूरा मामला :

जानकारी के मुताबिक, यह मामला राज्य के बलौदाबाजार जिले से सामने आया है जहां बीते दिनों 10 फरवरी को सीमेंट प्लांट सोनाडीह में शटरिंग खोलते समय एक मजदूर कौशल साहू (36) बुरी तरह घायल हो गया था, जिसकी रायपुर के अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई थी। जिस पर कंपनी प्रबंधन ने जहां मृतक के परिजनों को मुआवजा राशि दी थी वहीं इस मामले में राजनीतिक मोड़ पकड़ते हुए मजदूर की मौत पर सवाल उठाते हुए कसडोल विधानसभा की विधायक शकुंतला साहू अपने समर्थकों के साथ कंपनी के गेट पर पहुंची और धरने पर बैठ गईं। धरना प्रदर्शन बढ़ने पर घटनास्थल पर मौजूद पुलिस ने काबू में करना चाहा लेकिन समर्थक कंपनी के गेट को जोर-जोर से हिलाकर प्रदर्शन करने लगे जिस दौरान प्रशिक्षु आईपीएस अंकिता शर्मा ने समर्थकों को चेतावनी देते हुए कहा कि, ऐसा कुछ मत करिए जिससे पुलिस कर्मियों को चोट लग जाए। ध्यान रहे कि पुलिस कर्मियों को चोट नहीं लगनी चाहिए। लेकिन कार्यकर्ताओं ने इसकी शिकायत विधायक से कर दी जिस पर विधायक साहू ने आईपीएस शर्मा से शिकायती लहजे में बात की जिसमें विवाद गहरा होता गया और विधायक साहू ने समर्थकों से अपशब्दों का प्रयोग करने पर कहा कि, आपकी जितनी औकात है हम दिखा देंगे।

मामले में दोनों ने दी सफाई :

इस संबंध में सफाई देते हुए महिला आईपीएस शर्मा ने कहा कि, मैंने कोई अपशब्द नहीं कहे हैं। बस इतना ही कहा है कि मेरे पुलिस कर्मियों को चोट नहीं लगनी चाहिए। जहां तक औकात की बात है तो मेरी औकात की तो आप बात ही मत कीजिए। आपको जिससे भी शिकायत करनी है कर दीजिए। वहीं विधायक शकुंतला साहू का कहना है कि, वे अपने समर्थकों के साथ पीड़ित परिवार को उचित मुआवजा दिलाने की मांग को लेकर शांतिपूर्ण धरना प्रदर्शन कर रही थीं तभी आईपीएस अंकिता शर्मा कार्यकर्ताओं को धमका रही थीं और मना करने के बाद भी वे अपनी जिद पर अड़ी रहीं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co