विधायक देवव्रत सिंह का हृदयाघात से निधन- भूपेश, महंत, रमन एवं जोगी ने किया शोक व्यक्त
देवव्रत के निधन पर भूपेश, महंत, रमन एवं जोगी ने किया शोक व्यक्तSocial Media

विधायक देवव्रत सिंह का हृदयाघात से निधन- भूपेश, महंत, रमन एवं जोगी ने किया शोक व्यक्त

छत्तीसगढ़ की खैरागढ़ विधानसभा सीट से विधायक देवव्रत सिंह का हृदयाघात से देर रात निधन। देर रात उन्हे दिल का गंभीर दौरा पड़ा और अस्पताल ले जाते समय रास्ते में ही उनका निधन हो गया।

रायपुर, छत्तीसगढ़। छत्तीसगढ़ की खैरागढ़ विधानसभा सीट से विधायक देवव्रत सिंह का हृदयाघात से देर रात निधन हो गया। वह लगभग 52 वर्ष के थे। पारिवारिक सूत्रों के अनुसार देर रात उन्हें दिल का गंभीर दौरा पड़ा और अस्पताल ले जाते समय रास्ते में ही उनका निधन हो गया। श्री सिंह शुगर के मरीज थे और उनका शुगर लेवल कई बार खतरनाक स्तर तक पहुंच जाता था। उनका आज ही राजकीय सम्मान के साथ अन्तिम संस्कार किया जाएगा।

श्री सिंह इस समय जनता कांग्रेस के विधायक थे। वह इससे पूर्व भी तीन बार खैरागढ़ सीट से विधायक एवं एक बार राजनांदगांव सीट से सांसद रह चुके हैं। खैरागढ़ राजपरिवार के सदस्य श्री सिंह अपने क्षेत्र में काफी लोकप्रिय थे। विनम्र व्यवहार के कारण सत्ता एवं विपक्ष दोनों ओर उन्हें लोग पसन्द करते थे।

छत्तीसगढ़ की खैरागढ़ विधानसभा सीट से विधायक देवव्रत सिंह के आकस्मिक निधन पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत, पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह एवं जनता कांग्रेस के अध्यक्ष अमित जोगी ने गहरा दुख व्यक्त किया हैं।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने व्यक्त की अपनी शोक संवेदनाएं :

मुख्यमंत्री श्री बघेल ने विधायक और पूर्व सांसद श्री सिंह के आकस्मिक निधन पर गहरा दुख प्रकट करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ ने एक ऊर्जावान और लोकप्रिय जनप्रतिनिधि को खो दिया है। श्री सिंह का कम उम्र में निधन प्रदेश की राजनीति को अपूरणीय क्षति है। उन्होंने श्री सिंह के शोक संतप्त परिवारजनों के प्रति गहरी संवेदना प्रकट करते हुए, दिवंगत आत्मा की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना की है।

विधानसभा अध्यक्ष डॉ. महंत ने जताया दुःख :

विधानसभा अध्यक्ष डॉ. महंत ने श्री सिंह के असामयिक निधन पर गहरा शोक व्यक्त करते हुए कहा कि श्री सिंह मृदुभाषी,सहज,सरल एवं मिलनसार थे।सांसद एवं विधायक के रूप में उन्होंने सदैव प्रदेश एवं क्षेत्र की समस्याओं को प्रमुखता से उठाया एवं उनके निराकरण के लिए प्रयासरत रहे।उन्हें संसदीय कार्यों की भी अच्छी समझ थी इसलिए उन्होंने छत्तीसगढ़ विधानसभा में सभा के संचालन के लिये मनोनीत सभापति तालिका के सदस्य के रूप भी अपनी भूमिका का कुशलता पूर्वक निर्वहन किया।उनके निधन से प्रदेश ने एक कर्मठ एवं ऊर्जावान जन प्रतिनिधि को खो दिया है।

डॉ. रमन सिंह ने भी किया शोक व्यक्त :

पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने श्री सिंह के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि श्री सिंह एवं उनके परिवार के साथ मेरे व्यक्तिगत बेहद वात्सल्यपूर्ण संबंध हैं,उनका असमय निधन मेरी व्यक्तिगत क्षति हैं। उन्होंने ईश्वर से प्रार्थना किया कि दिवंगत आत्मा को अपने श्री चरणों में स्थान दे एवं परिजन को धैर्य प्रदान करे।

जनता कांग्रेस अध्यक्ष श्री जोगी ने कहा कि श्री सिंह के निधन के समाचार से पूरा प्रदेश स्तब्ध है।उनसे मेरे व्यक्तिगत सम्बंध 1998 से हैं। हमारी 25 दिन पहले ही मुलाक़ात हुई थी। हमेशा की तरह उन्होंने मेरा एक बड़े भाई की तरह मनोबल बढ़ाया था।इतने युवा, समझदार और अनुभवी नेता के अचानक चले जाने से छत्तीसगढ़ की राजनीति में एक बहुत बड़ा अधूरापन उत्पन्न हो गया है जिसको आसानी से भरा नहीं जा सकता है।मैं विशेष रूप से ईश्वर से रानी साहिबा विभा सिंह जी और उनके प्यारे बच्चों के लिए प्रार्थना करता हूँ कि वो उन्हें इस अपार संकट का सामना करने के लिए सम्बल और संयम दें।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co