भूपेश सरकार पर प्रति माह 1400 करोड़ रूपए का ऋण लेने का रमन ने लगाया आरोप
भूपेश सरकार पर प्रति माह 1400 करोड़ रूपए का ऋण लेने का रमन ने लगाया आरोपSocial Media

भूपेश सरकार पर प्रति माह 1400 करोड़ रूपए का ऋण लेने का रमन ने लगाया आरोप

डा. रमन सिंह ने भूपेश सरकार के दो वर्षों से अधिक के शासनकाल में राज्य के सभी क्षेत्रों में पिछड़ने और उस पर औसतन प्रति माह 1400 करोड़ रूपए का ऋण लेने का आरोप लगाया है।

रायपुर, छत्तीसगढ़। भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह ने भूपेश सरकार के दो वर्षों से अधिक के शासनकाल में राज्य के सभी क्षेत्रों में पिछड़ने और उस पर औसतन प्रति माह 1400 करोड़ रूपए का ऋण लेने का आरोप लगाया है।

डा. सिंह ने आज भाजपा की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक को सम्बोधित करते हुए कहा कि उनकी सरकार ने 15 वर्षों में 33 हजार करोड़ रूपए का ऋण लिया था, जबकि भूपेश सरकार ने 26 महीनों में 36 हजार करोड़ का ऋण ले लिया। उन्होंने कहा कि जब उन्होंने सत्ता छोड़ी थी तब राज्य पर 42 हजार करोड़ का ऋण था आज 78 हजार करोड़ हो गया है। आने वाले समय में भी अगर यहीं स्थिति रही तो जिलों में सिर्फ वेतन देने के लिए बजट जाया करेगा।

उन्होंने कहा कि पूर्ण शराब बंदी का वादाकर सत्ता में आई यह सरकार अब इस वादे को भूल चुकी है। उल्टे शराब की होम डिलिवरी शुरू हो गई है और पानी पाउच की तरह गली मुहल्लों में शराब बिकना शुरू है। उन्होंने कहा कि चुनाव से पहले बेरोजगारों की संख्या 36 लाख बताते हुए कांग्रेस सत्ता में आने पर उन्हे पक्की सरकारी नौकरी देने की बात करती थी और इसके बेरोजगारों को पंजीयन नम्बर भी दिया था पर अब वादा करने वाले गायब है। दो वर्ष से अधिक सरकार बने हो गए लेकिन बेरोजगारों को 2500 रूपए महीने भत्ता देने के वादे का पता नहीं है।

डा. सिंह ने कहा कि 26 महीने में प्रदेश की जनता समझ गई है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल केवल अपनी जेब भरने सरकार में आए हैं। उन्होंने कहा कि देश की शायद यह पहली सरकार होंगी जिसने इतने कम समय में जनता का विश्वास खो दिया। राज्य में किसी से पूछिए यहीं कहता मिलेगा कि कांग्रेस अब राज्य में 25 साल सत्ता में नही आयेंगी। उन्होंने कहा कि इस सरकार के भ्रष्टाचार का आलम यह है कि 15 माह में इनके अधिकारियों पर इनकम टैक्स के छापे पड़ गए।

उन्होंने आरोप लगाया कि आज छत्तीसगढ़ कांग्रेस पार्टी का एटीएम बन गया है। किसी भी प्रदेश में चुनाव हो छत्तीसगढ़ से ही पैसा जाता है। इस सरकार ने पैसे कमाने के लिए अधिकारियों को भी ठेका पद्दति में लगा दिया है। लेकिन में ऐसे अधिकारियों को चेतावनी देता हूं कि आप अपना मूल काम करिए, अन्यथा आपको दो साल बाद सब समझा देंगे। प्रदेश कार्यसमिति की इस बैठक में पार्टी की छत्तीसगढ़ प्रभारी डी पुरंदेश्वरी, सह प्रभारी नवीन सहित राज्य भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं कार्यसमिति के सदस्य हिस्सा ले रहे हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co