सिंचाई के लिए किसानों को देंगे पानी : भूपेश बघेल

रायपुर, छत्तीसगढ़ : तांदुला जलाशय से सिंचाई के लिए जलापूर्ति शुरू। मुख्यमंत्री ने विकास के लिए करसा ग्राम पंचायत को 25 लाख और घुघवा को 15 लाख रूपए दिए जाने की घोषणा की है।
सिंचाई के लिए किसानों को देंगे पानी : भूपेश बघेल
सिंचाई के लिए किसानों को देंगे पानी : भूपेश बघेलSocial Media

रायपुर, छत्तीसगढ़। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आज पाटन ब्लाक के करसा में हरेली तिहार के मौके पर आयोजित कार्यक्रम में शामिल हुए। मुख्यमंत्री ने करसा गौठान में गौ-मूत्र की खरीदी का शुभारंभ किया और समूह की महिलाओं से चर्चा कर आयमूलक गतिविधियों के बारे में जानकारी ली। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर सभी लोगों को हरेली पर्व की बधाई और शुभकामनाएं देते हुए कहा कि हरेली तिहार हमारे प्रदेश का पहला त्यौहार है। इस बार अधिकांश जगहों पर अच्छी बारिश हुई है। कहीं-कहीं बारिश कम होने की वजह से दिक्कत भी है। सिंचाई के लिए जलाशयों से पानी छोड़े जाने की मांग भी आ रही है। जलाशयों से किसानों के जरूरत के मुताबिक सिंचाई के लिए पानी दिया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि तांदुला जलाशय से सिंचाई के लिए पानी छोड़ा गया है। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने करसा ग्राम पंचायत के विकास के लिए 25 लाख रुपये और समीपस्थ ग्राम पंचायत घुघवा के लिए 15 लाख रुपये की घोषणा की है।

मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि हमारी सरकार किसानों और ग्रामीणों की सरकार है। किसानों की आय बढ़ाने के लिए हमने निरंतर कार्य किया है। बीते साल हमने समर्थन मूल्य पर 98 लाख मीट्रिक टन धान खरीदा था। इस साल 110 लाख मीट्रिक टन धान खरीदने का लक्ष्य हमने रखा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार की किसान हितैषी नीतियों के चलते खेती-किसानी समृद्ध हुई है, धान का रकबा और किसानों की संख्या बढ़ी है। उत्पादन बढ़ा है। खेती छोड़ चुके लोग भी अब खेती से जुड़ने लगे हैं। गांवों के वह लोग जो खेती-किसानी छोड़कर शहरों में बसे थे, अब वह गांवों की ओर लौटने लगे हैं। खेती से जुड़ने लगे है। हमारी सरकार की नीतियों के चलते अब रिवर्स माईग्रेसन (शहरों से गांवों की ओर) होने लगा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि खाद्यान्न की गुणवत्ता को बेहतर बनाने और खेती की लागत को कम करने के लिए जैविक खेती को बढ़ावा दिया जा रहा है। वर्मी कम्पोस्ट का उपयोग जिन किसानों ने किया, वे इसके लाभ से परिचित हो गए हैं। जैविक खाद का प्रयोग बीमारियों से भी बचाता है। हमें लगातार जैविक खेती की ओर बढ़ना है, साथ ही आजीविका भी बढ़ानी है। गोधन न्याय योजना के तहत गोबर और गौ-मूत्र की खरीदी की जा रही है, इससे राज्य में पशुपालन को बढ़ावा और पशुपालकों की आय में वृद्धि हुई है। गौठानों को हम आजीविका केंद्र के रूप में विकसित कर रहे है। हमारी महिला बहनें यहां विभिन्न प्रकार की आयमूलक गतिविधियों को संचालित कर अतिरिक्त आय अर्जित कर रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि जिन इलाकों में किसान सुगंधित धान बो रहे हैं, वहां के आगौठानों में धान कुटाई के लिए हालर मिल लगाएंगे। करसा में हरेली तिहार के अवसर पर लोक खेलों की स्पर्धाएं भी आयोजित हुई। गेंड़ी दौड़, गेड़ी बॉल प्रतियोगिता तथा भंवरा प्रतियोगिता के विजेता प्रतिभागियों को मुख्यमंत्री ने पुरस्कृत किया और उन्हें बधाई दी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co