नाथ-सिंह ने झूठ बोला इसलिए उन्हें काट लिया- सिंधिया

इंदौर, मध्य प्रदेश : मंच से बोलते हुए सिंधिया ने खुद पर लग रहे गद्दारी के कांग्रेस के आरोपों पर पलटवार करते हुए कहा कि गद्दार मैं नहीं कमलनाथ और दिग्विजय सिंह हैं जिन्होंने जनता से गद्दारी की।
नाथ-सिंह ने झूठ बोला इसलिए उन्हें काट लिया- सिंधिया
नाथ के बयान पर सिंधिया का पलटवारSocial Media

इंदौर, मध्य प्रदेश। भाजपा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने सांवेर विधानसभा के कंपेल में कांग्रेस पर तीखा हमला बोला और नाथ- सिंह की जोडी बताते हुए कहा कि चुनाव आता है तो एक पर्दे के पीछे छुप जाता है। उन्होंने स्वयं को काला कौवा बताते हुए कहा कि बचपन में एक कहावत सुनी थी झूठ बोले कौवा काटे। ज्योतिरादित्य सिंधिया वो ही काला कौवा है। कमल नाथ-दिग्विजय सिंह ने मप्र से झूठ बोला इसलिए उन्हें काट लिया। मंच से बोलते हुए सिंधिया ने खुद पर लग रहे गद्दारी के कांग्रेस के आरोपों पर पलटवार करते हुए कहा कि गद्दार मैं नहीं कमलनाथ और दिग्विजय सिंह है जिन्होंने जनता से गद्दारी की। इस आगे उन्होंने कहा कि प्रदेश की मंत्री और दलित महिला इमरती देवी को कमल नाथ आयटम कहते हैं और अजय सिंह जलेबी कह कर संबोधित करते है। श्री सिंधिया रविवार को देर शाम कंपेल में भाजपा प्रत्याशी तुलसीराम सिलावट के समर्थन में चुनावी सभा को संबोधित कर रहे थे। सभा को संबोधित करते हुए सिंधिया ने जय श्री नाम का नारा भी लगवाया।

किया था 370 हटाने का समर्थन :

श्री सिंधिया ने अपने संबोधन में केंद्र सरकार के कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने और राममंदिर बनवाने के निर्णय की तारीफ की। उन्होनें दावा किया कि भाजपा में होने के नाते मैं यह बात नहीं कह रहा। बल्कि कांग्रेस की वर्किंग कमेटी की बैठक में भी मैं अकेला था जिसने मोदी सरकार के निर्णय का समर्थन किया था। सिंधिया ने आरोप लगाया कि मैंने सोचा कि कमल नाथ उद्योगपति है। सोचा था सीएम बनने के बाद निवेश लाएंगे। उन्होंने तो ट्रांसफर उद्योग खोल दिया। कमल नाथ ने मुख्यमंत्री बनने के बाद वल्लभ भवन को भष्ट्रचार का अड्डा बना लिया था।

वो नेता थे जो 15 महीने पहले आए थे :

उन्होनें मंच से कहा कि सिंधिया परिवार की तीसरी पीढ़ी आपके सामने खड़ी। मैं नेता नही हूं जनसेवक हूं। नेता वो थे जो 15 महीने पहले आये थे। जिन्हें हमने रवाना कर दिया। कमल नाथ और दिग्विजय सिंह के बारे में सिंधिया बोले इस जोड़ी को हम 40 साल से देख रहे हैं। चुनाव आता है तो एक पर्दे के पीछे छुप जाता है। चुनाव सम्पन्न हो जाता है तो मुखौटा किसी और का पीछे से टोली किसी और की काम करती है। सांवेर से भाजपा उम्मीदवार तुलसी सिलावट ने कहा कि कांग्रेस सरकार बनने के छह महीने हो गए थे। सिंधियाजी ने वादे पूरे करने के लिए कमल नाथ को फोन लगाया था। वादे पूरे करने के लिए कहा तो उन्होंने नकारात्मक उत्तर दिया। इसके बाद सिंधिया ने सड़क पर उतरने की बात कही थी।

मेरी रुचि न पोस्टर में, न रथ में :

कम्पेल की सभा के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने खुद को भाजपा के स्टार प्रचारकों की सूची में 10वें स्थान पर रखे जाने के सवाल पर जवाब दिया कि मेरी रुचि न पोस्टर में है न रथ में। मैं तो जनता के दिल में जगह बनाना चाहता हूं। सिंधिया से पत्रकारों ने पूछा था कि कांग्रेस कह रही है कि भाजपा में आपका अपमान हो रहा है। इस पर सिंधिया ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि यह बड़ी अद्भुत बात है कि कांग्रेस को मेरे सम्मान की चिंता हो रही है। श्री सिंधिया ने का कि 20 वर्षो से मुझे परख रहे हैं। मैं भी अब बुढ़ापे की ओर हूं बस जनता के लिए काम करना चाहता हूं। सभा के दौरान सांसद शंकर लालवानी ने सरल व सहजता का प्रमाण दिया। सांसद लालवानी श्री सिंधिया के साँवेर चुनाव प्रचार में मंच पर कार्यकर्ताओं व जनता से रूबरू होने के लिए मंच पर नीचे ही बैठ गए और वही से सभी का अभिवादन किया ।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co