Raj Express
www.rajexpress.co
रतलाम: सर्वे के दौरान 210 परिवारों को मिली 1 करोड़ 68 लाख की मदद
रतलाम: सर्वे के दौरान 210 परिवारों को मिली 1 करोड़ 68 लाख की मदद|Nilesh Dhariwal
मध्य प्रदेश

रतलाम: सर्वे के दौरान 210 परिवारों को मिली 1 करोड़ 68 लाख की मदद

जावरा, रतलाम : बाढ़ से प्रभावित हुए गांवों में प्रशानिक अधिकारियों ने 8 गांवों के 210 परिवारों को राहत के रूप में करीब 1 करोड़ 68 लाख रुपए की मदद दी

Nilesh Dhariwal

हाइलाइट्स

  • बाढ़ से प्रभावित हुए गांवों को मिली सहायता

  • 8 गांवों के 210 परिवारों को करीब 1करोड़ 68 लाख की मदद

  • प्रशासनिक अमला अब भी में लगा सर्वे कार्य

  • 114 लोगों के मकान पूरी तरह से नष्ट हो चुके

  • आंशिक रूप से प्रभावित हुए मकानों का सर्वे कर सूची जिला कलेक्टर को प्रेषित

  • अमले को सावधानी से 1-1 घर का सर्वे करने के निर्देश जारी किए

राज एक्सप्रेस। जल प्रलय के रूप में बरसी भारी बारिश का दौर सोमवार को कम हुआ, सोमवार को केवल सुबह करीब 8 बजे तक ही पानी बरसा उसके बाद राहत मिली, कुछ देर के लिए कुछ क्षेत्रों में धूप भी खिली। बाढ़ से प्रभावित हुए गांवों में प्रशानिक अधिकारियों की तत्परता से सर्वे कार्य में तेजी आई। जिससे महज दो दिनों में प्रशानिक अमले ने 8 गांवों के 210 परिवारों को राहत के रूप में करीब 1 करोड़ 68 लाख रुपए की सहायता राशि स्वीकृत करवा दी है, जल्द ही यह राशि प्रभावितों के बैंक खातों में पहुंच जाएगी।

बारिश के दौरान तबाह हुए गांवों का सर्वे अब भी बाकी है, प्रशासनिक अमला अब भी सर्वे कार्य में लगा है। शुक्रवार और शनिवार को बारिश के रूप में बरसी आफत ने क्षेत्र में चारो और कहर ढाया, तबाही मचाई, गांवों में हये नुकसान के आंकलन में सरकारी अमला लगा हुआ है। महज दो दिनों में सरकारी अमले ने 8 गांवों का सर्वे कर पूरी तरह से गिर चुके मकानों के साथ ही आंशिक रूप से प्रभावित हुए मकानों का सर्वे कर सूची जिला कलेक्टर को प्रेषित की। जहां से अनुमोदित होने के बाद प्रभावितों के लिए सहायता राशि स्वीकृत की गई।

सर्वे के दौरान 210 परिवारों को मिली 1 करोड़ 68 लाख की मदद
सर्वे के दौरान 210 परिवारों को मिली 1 करोड़ 68 लाख की मदद
Nilesh Dhariwal

इन 8 गांवों के लोगों को मिली सहायता :

अनुविभागीय अधिकारी मोहनलाल आर्य ने बताया कि, प्रशासनिक अमला पूरी तरह से मैदान में डटा हुआ है, अभी 8 गांवों का सर्वे किया गया है। जिनमें पिपलिया जोधा, किलगारी, पिपलोदी, रणायरा गुर्जर, रोला, धतरावदा, मेहंदी तथा ताराखेड़ी शामिल हैं। इन 8 गांवों के 210 परिवारों के लिए शासन स्तर से करीब 1 करोड़ 68 लाख रूपए की सहायता राशि स्वीकृत की जा चुकी है। जिनमें 114 लोगों के जिनके मकान पूरी तरह से नष्ट हो चुके हैं, उन्हें प्रति मकान 90 हजार की राशि तथा अन्य मकानों की क्षति के अनुसार राशि स्वीकृत की गई है। आने वाले 2 से 3 दिनों में यह राशि प्रभावितों के खातों में पहुंच जाएगी। बाढ़ से प्रभावित हुए कई गावोंं का सर्वे अभी होना शेष है, जिसमें सरकारी अमला लगा हुआ है। एसडीएम ने कहा कि विधानसभा का एक भी प्रभावित सहायता से वंचित नहीं रहेगा।

सर्वे के दौरान 210 परिवारों को मिली 1 करोड़ 68 लाख की मदद
सर्वे के दौरान 210 परिवारों को मिली 1 करोड़ 68 लाख की मदद
Nilesh Dhariwal

कमिश्नर बोले काम बड़ा है, समय लगेगा :

सोमवार को मंदसौर और नीमच में बाढ़ से प्रभावित लोगों से रूबरू होने कमिश्नर अजीतकुमार तथा आईजी राकेश गुप्ता जाते समय जावरा सर्किट हाऊस पर रुके, जहां कलेक्टर रूचिका चौहान, एसपी गौरव तिवारी, एसडीएम एमएल आर्य तथा तहसीलदार नित्यानंद पाण्डेय ने प्रभावितों की सहायात राशि के संबंध में चर्चा करते हुए प्रगति के बारे में जाना। इस दौरान कमिश्नर ने कहा कि लम्बे अरसे के बाद इतनी बारिश हुई है, बहुत सारे गांव प्रभावित हुए हैं, काम बड़ा है, सर्वे में थोड़ा समय लगेगा, ताबड़तोड़ में सर्वे होगा तो उसमें कमियां आएगी, इसलिए अमले को सावधानी से 1-1 घर का सर्वे करने के निर्देश जारी किए हैं।

नेता भी पहुंचे गांवों में, हुआ विरोध :

भारी बारिश से प्रभावित हुए लोगों की कुशलझेम पूछने तथा शासन स्तर से सहायता दिलवाने की मंशा को लेकर दोनो प्रमुख राजनैतिक दलों के नेतागण ग्रामीण क्षेत्रों में पहुंच रहे हैं। कांग्रेस नेता केकेसिंह कालूखेड़ा शनिवार की शाम से ग्रामीण दौरो पर हैं, तो सोमवार को विधायक डॉ. राजेन्द्र पाण्डेय ने भी अपने समर्थकों के साथ प्रभावित गांवों में पहुंचे। लेकिन दो दिन बाद गांवों में पहुंचने पर विधायक को ग्राम रोला और पिपलिया जोधा में लोगों का आक्रोश भी झेलना पड़ा।