भोपाल : राजधानी में 50 हजार विद्यार्थी बैठेंगे 10वीं-12वीं की परीक्षा देने
राजधानी में 50 हजार विद्यार्थी बैठेंगे दसवीं-बारहवीं की परीक्षा देनेसांकेतिक चित्र

भोपाल : राजधानी में 50 हजार विद्यार्थी बैठेंगे 10वीं-12वीं की परीक्षा देने

भोपाल, मध्यप्रदेश : अगले माह से प्रारंभ हो रही 10वीं 12वीं की परीक्षाओं में भोपाल जिले से तकरीबन 5 हजार छात्र इम्तिहान देंगे। इसके लिए एक सैकड़ा से अधिक परीक्षा केंद्र निर्धारित किए गए हैं।

भोपाल, मध्यप्रदेश। अगले माह से प्रारंभ हो रही 10वीं 12वीं की परीक्षाओं में भोपाल जिले से तकरीबन 5 हजार छात्र इम्तिहान देंगे। इसके लिए एक सैकड़ा से अधिक परीक्षा केंद्र निर्धारित किए गए हैं। कोरोना गाइडलाइन का पूरा पालन करते हुए परीक्षाएं संपादित करवाई जाएंगी।

भोपाल में इस बार 105 केंद्रों पर परीक्षाएं करवाई जाएंगी। माध्यमिक शिक्षा मंडल ने अन्य जिलों के साथ-साथ यहां परीक्षा केंद्रों का निर्धारण कर दिया है। जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार इस बार हाईस्कूल की परीक्षा में 23 हजार 852 छात्र परीक्षा में सम्मिलित होंगे। जबकि हायर सेकंडरी की परीक्षा में 27 हजार 99 विद्यार्थी शामिल हो रहे हैं। डीईओ नितिन सक्सेना ने बताया कि माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा जिन विद्यालयों को परीक्षा केंद्र बनाने के लिए अनुमोदन किया गया है। वहां पर कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए समस्त तैयारियां की जा रही हैं। क्योंकि भारत सरकार के जो निर्देश हैं, उसी के अनुसार परीक्षाएं करवाई जाएंगी। जिला शिक्षा अधिकारी ने बताया कि प्रत्येक केंद्र पर सोशल डिस्टेंसिंग बनाने की जवाबदारी केंद्र अध्यक्षों की होगी। हर विद्यार्थी को अपने साथ मास्क अनिवार्य रूप से लाना होगा। परीक्षा केंद्रों पर बाकायदा प्रत्येक विद्यार्थी के टेंपरेचर मापने की व्यवस्था की जाएगी।

विद्यार्थी ज्यादा होंगे तो बढ़ाए जाएंगे केंद्र :

जिला शिक्षा अधिकारी नितिन सक्सेना ने बताया कि यदि विद्यार्थी ज्यादा होंगे तो परीक्षा केंद्रों में वृद्धि की जाएगी। मंडल ने भी इस प्रकार के निर्देश दिए हैं। निर्धारित जिन केंद्रों पर नियम के अनुसार क्षमता से अधिक छात्रों की मौजूदगी रही तो उनके लिए समीप ही मिडिल स्कूलों में केंद्र बनाए जाएंगे। माध्यमिक शिक्षा मंडल ने कोरोना महामारी को लेकर यह व्यवस्था जिला शिक्षा अधिकारियों पर छोड़ दी है। जिला शिक्षा अधिकारी नितिन सक्सेना ने यह भी बताया कि राजधानी में इस बार 10 केंद्र ऐसे निर्धारित किए गए हैं, जहां पर स्वाध्याय छात्र परीक्षा देंगे।

अन्य जिलो में भी कलेक्टरों को पत्र :

कोरोना संकट के बीच अन्य जिलों में भी अपने हिसाब से व्यवस्था परिवर्तन के निर्देश माध्यमिक शिक्षा मंडल ने कलेक्टरों को दिए हैं। अगर परीक्षा केन्द्रों पर तय क्षमता के हिसाब से ज्यादा छात्र होंगे तो समीप के विद्यालयों में पृथक से केन्द्र बनाने के लिए कलेक्टरों को निर्देशित कर दिया गया है। जिन क्षेत्रों में कोरोना के ज्यादा मरीजों के कारण यदि कंटेनमेंट की स्थिति बनती है तो वहां परीक्षा केन्द्र परिवर्तित करने के लिए भी जिला कलेक्टरों को स्वतंत्र किया गया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co