ग्वालियर : 6 बैंकें खंगाली, नहीं मिले लॉकर, जल्द आएगी खातों की जानकारी
6 बैंकें खंगाली, नहीं मिले लॉकर, जल्द आएगी खातों की जानकारीSocial Media

ग्वालियर : 6 बैंकें खंगाली, नहीं मिले लॉकर, जल्द आएगी खातों की जानकारी

ग्वालियर, मध्य प्रदेश : मामला नगर निगम के सिटी प्लानर के पांच लाख की रिश्वत लेते हुए पकड़े जाने का। सभी बैंक खातों को संचालन कराया बंद।

ग्वालियर, मध्य प्रदेश। नगर निगम के सिटी प्लानर प्रदीप वर्मा के मामले में पड़ताल कर रही ईओडब्ल्यू की छह टीमों ने मंगलवार को अलग-अलग 6 बैंकों में पहुंची। बैंकों में एक भी टीम को वर्मा के नाम से एक भी लॉकर नहीं मिला है। जबकि छह बैंकों में करीब एक दर्जन खाते पाए गए हैं। फिलहाल ईओडब्ल्यू ने बैंकों की लीडिंग बैंकों को वर्मा के मामले में कोई भी जानकारी मिलने पर सूचना देने के लिए कहा है।

ज्ञात हो कि ग्वालियर नगर निगम के सिटी प्लानर प्रदीप वर्मा को आर्थिक अपराध अन्वेषण ब्यूरो की टीम ने पांच लाख की रिश्वत लेते हुए शनिवार को गिरफ्तार किया था। सिटी प्लानर प्रदीप वर्मा द्वारा गांधी नगर निवासी बिल्डर धर्मेन्द्र भारद्वाज से निर्माण स्वीकृति के एवज में 50 लाख की मांग की गई थी। बाद में मामला 25 लाख रुपए पर तय हुआ। बिल्डर ने इसकी शिकायत ईओडब्ल्यू एसपी से की थी। शिकायत के आधार पर पूरे लेन देन की ऑडियो टेप कराई गई। शनिवार को पहली किस्त के रूप में पांच लाख रुपए लेते हुए ईओडल्यू ने सिटी प्लानर को रंगे हाथ गिरतार कर लिया है। ईओडब्ल्यू ने सिटी प्लानर के घर पर भी छापा मारा था, जहां दो लाख रुपए नगद के साथ कई जमीनों की रजिस्ट्री एवं नगर निगम की सैकड़ों फाइलें मिली थीं। इनकी जांच जारी है। सिटी प्लानर के खिलाफ पहले से ही लोकायुक्त एवं ईओडब्ल्यू में आधा दर्जन से अधिक शिकायतें चल रही हैं। लेकिन शिकायत में सही से कार्रवाई नहीं हुई। आय से अधिक संपत्ति की शिकायतें प्रमाणित दस्तावेजों के साथ की गई थी।

छह बैंकों में 12 खाते, सभी खातों का संचालन कराया बंद :

वर्मा के घर से ईओडब्ल्यू के अधिकारियों को जो कागजात हाथ लगे थे। उनके आधार पर जांच की जा रही है। उक्त कागजातों में टीम को छह बैंकों से संबंधित जानकारी मिली थी। इसलिए मंगलवार को ईओडब्ल्यू की छह टीमें गठित की गईं। प्रत्येक टीम को एक-एक बैंक में पहुंचकर जानकारी जुटाने की जिम्मेदारी दी गई थी। ईओडब्ल्यू की छह टीमें स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, यूको बैंक, आंध्रा बैंक, एक्सिस बैंक, ओरियंटल बैंक, मध्य प्रदेश सेन्ट्रल बैंक पहुंचीं। जहां पर सभी टीम ने बैंक के अधिकारियों के साथ मिलकर कुछ जानकारी जुटाई। हालांकि इस दौरान छह बैंकों के कुल 12 खातों में से एक में भी लॉकर की सुविधा उपलब्ध नहीं पाई गई है।

लीडिंग बैंकों को जानकारी देने के लिए लिखा पत्र :

ईओडब्ल्यू ने विभिन्न बैंकों की लीडिंग़ बैंकों को पत्र लिखा है। जिसमें बैंकों से कहा गया है कि प्रदीप वर्मा के बारे में यदि कोई जानकारी हाथ लगे तो उन्हें अवगत कराएं। प्रदीप वर्मा के जिन बैंकों में खाते मिले हैं। उन सभी बैंकों के मैनेजरों से पत्र लिखकर वर्मा के खातों के बारे में सम्पूर्ण जानकारी मांगी है।

रजिस्टार कार्यालय व एलआईसी को भी लिखा पत्र :

ईओडब्लयू की ओर से रजिस्टार कार्यालय व एलआईसी के लिए पत्र लिखा है। जिसमें उन्होंने प्रदीप वर्मा के संबंध में सम्पत्ति व पॉलिसी आदि की जानकारी मांगी है।

इनका कहना :

जिन बैंकों में प्रदीप वर्मा के खाते पाए गए हैं, उनमें आज टीम भेजी थी। अब तक एक भी बैंक में लॉकर होने की जानकारी हाथ नहीं लगी है। बैंकों की लीडिंग बैंकों को अथवा रजिस्टार, एलआईसी आदि को भी पत्र लिखकर सूचित किया गया है।

अमित सिंह, एसपी, ईओडब्ल्यू, ग्वालियर

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co