Raj Express
www.rajexpress.co
एक ही परिवार के 6 लोगों ने खाया जहर
एक ही परिवार के 6 लोगों ने खाया जहर|Surender Sen
मध्य प्रदेश

सागर: एक ही परिवार के 6 लोगों ने खाया जहर-2 की मौत, 4 की हालत गंभीर

महका, सागर: एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी और बच्चों के साथ जहर खाने से परिवार के मुखिया और एक बच्ची की मौत हो गई। वहीं पत्नि सहित 3 बच्चों की हालत गंभीर है। पत्नि सहित तीनों बच्चे बीएमसी में भर्ती हैं।

Surendra Sen

राज एक्‍सप्रेस। सुरखी थाना अंतर्गत आने वाले ग्राम महका निवासी एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी और बच्चों के साथ शुक्रवार की सुबह जहर खा लिया, जहर खाने से परिवार के मुखिया और एक बच्ची की मौत हो गई। वहीं पत्नि सहित तीन बच्चों की हालत गंभीर बनी हुई है। पत्नि सहित तीनों बच्चे बीएमसी में भर्ती हैं।

प्राप्त जानकारी के अनुसार, सुखराम गौड़ नामक व्यक्ति ने अपनी पत्नि सुमन गौड़ व तीन मासूम बच्चियों सीता, रोशनी, अनुराधा व एक मासूम बेटे शिवा को सल्फास की गोली देने के बाद स्वयं भी सल्फास की गोली खा ली, जिसके चलते सुखराम की इलाज के लिये ले जाते समय ही मौत हो गई तथा उसकी 5 वर्षीय मासूम बच्ची सीता ने भी इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। तीन मासूम बच्चोंं तथा सुखराम की पत्नि का बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज में गंभीर हालत में इलाज जारी है। फिलहाल पुलिस ने मर्ग कायम कर मामले की जांच प्रारंभ कर दी है।

मृतक के परिजन ने बताया :

कुछ रोज पहले सुखराम अपनी साली के घर नैनागिर गया था। वहां से वापस आने के बाद कुछ परेशान सा रहने लगा। शुक्रवार की सुबह सुखराम ने अपनी पत्नि सुमन सहित 4 बच्चों को जहरीला पदार्थ खिला दिया। सुखराम के 4 बच्चे है, जिनमें 3 लड़कियां व 1 लड़का है। एक बच्ची गीता कक्षा 5 वीं में अध्ययनरत है, एक बच्ची अनुराधा कक्षा 8 वीं में अध्ययनरत है वहीं पुत्र शिवम कक्षा तीसरी का छात्र है। बच्चों और परिजनों के बताए अनुसार शुक्रवार की सुबह इनके पिता ने इन्हें चाय में कुछ मिलाकर पीने को दिया। जिससे इनकी हालत गंभीर हो गई। शुक्रवार की सुबह आनन-फानन में सभी को एम्बुलेंस की मदद से सागर के बुंदेलखंड़ मेडीकल कॉलेज लाया गया। रास्ते में सुखराम की मौत हो गई। जिसका पोस्टमार्टम कराया गया। बीएमसी के गहन चिकित्सा कक्ष में भर्ती 6 वर्षीय पुत्री सीता की भी इलाज के दौरान मौत हो गई। वहीं शिवम, गीता, अनुराधा एवं इनकी माता सुमन का इलाज बीएमसी में किया जा रहा है।

टूटी-फूटी भाषा में मिला सुसाइट नोट :

मृतक सुखराम ने जहर खाने के पहले अपनी बच्ची से एक सुसाइट नोट भी लिखवाया। जिसमें टूटी-फूटी हिंदी भाषा में लिखा गया है कि वह अपनी मर्जी से यह कर रहा है किसी को परेशान नहीं करना चाहता और वह बहुत गरीब है। साथ ही मृतक ने अपने सुसाइट नोट में अपनी साली के द्वारा उसके साथ अवैध संबंध बनाने के लिये दबाब बनाने की बात भी लिखवाई है और साली के पति द्वारा 50 हजार रूपये मांगने की बात भी लिखवाई है।

टूटी-फूटी भाषा में मिला सुसाइट नोट
टूटी-फूटी भाषा में मिला सुसाइट नोट
Surender Sen

शाम को हो पाये अस्पताल में भर्ती :

मृतक सुखराम के परिजन सुबह से इलाज कराने के लिये बीएमसी और जिला अस्पताल के बीच भटकते रहे और दिन भर भटकने और गंभीर हालत होने के बाद भी उनका इलाज शाम को शुरू हो पाया तथा मृतको का पीएम भी लगभग शाम पांच बजे ही हो पाया।