फील्ड ऑफिसरों के बाद ब्रांच मैनेजरों पर कसी नकेल
फील्ड ऑफिसरों के बाद ब्रांच मैनेजरों पर कसी नकेल|Afsar Khan
मध्य प्रदेश

फील्ड ऑफिसरों के बाद ब्रांच मैनेजरों पर कसी नकेल, ब्रांच मैनेजर गिरफ्तार

शहडोल, मध्य प्रदेश : माइक्रो फायनेंस कंपनियों की जड़े खंगाल रही पुलिस, 3 कंपनियों के ब्रांच मैनेजर सहित 8 गिरफ्तार।

Afsar Khan

शहडोल, मध्य प्रदेश। बीते माह जिले के विभिन्न थाना क्षेत्रों में माइक्रो फायनेंस कंपनियों के नाम पर फर्जी दस्तावेजों का उपयोग कर डेढ़ करोड़ की धोखाधड़ी करने वाले नटवरलालों पर पुलिस ने शिकंजा कसा था, 13 फील्ड ऑफिसरों की गिरफ्तारी के बाद पुलिस की जांच में 3 ब्रांच मैनेजर सहित कुल 8 फिर गिरफ्तार किये गये हैं, पुलिस सूत्रों की मानें तो, जांच अभी यहीं थमने वाली नहीं है, इस मामले में पुलिस अधीक्षक सतेन्द्र शुक्ला ने पत्रकारवार्ता के दौरान ही आमजनों से की गई धोखाधड़ी के हर आरोपी को हवालात तक पहुंचाने की बात कही गई थी। शुक्रवार को पार्ट-2 की कार्यवाही के बाद पुलिस ने दावा किया है कि जांच अभी बाकी है।

7 वें माह कप्तान ने कराई कार्यवाही :

11 जनवरी को थाना सोहागपुर में आवेदिका ग्राम गोरतरा निवासी विद्या सिंह व अन्य कई महिलाओं की शिकायत के आधार पर धारा 420, 467, 468, 471, 120 बी ताहि के पंजीबद्ध प्रकरण में आरोपीगण लक्ष्मण पनिका, शंकर पनिका, सुनील पनिका, शशिकांत राजपूत, विकास द्विवेदी, मदन पनिका कुल 06 नफर आरोपियों को गिरफ्तार कर तत्समय तक विवेचना पूर्ण होने से विधिक प्रावधानों के तहत चालान न्यायालय पेश किया जा चुका है।

पार्ट-2 में आये ब्रांच मैनेजर सामने :

प्रकरण की विवेचना में प्रकरण के व्यापक आयामों का विश्लेषण करने के क्रम में माइक्रो फाइनेंस कंपनियों की भूमिका एवं दोषिता का परीक्षण करने हेतु  22 जुलाई को कार्यवाही की गई। एक ही समय पर पुलिस की विभिन्न टीमों द्वारा शहडोल व बुढ़ार से माइक्रो फायनेंस कंपनियों के दफ्तरों से जानकारी प्राप्त की जाकर द्वितीय चरण की विवेचना की गई।

जब्त हुए दस्तावेज :

कंपनी कार्यालयों से स्वीकृत ऋणों के संबंध में प्राप्त जानकारी व प्रत्येक कंपनी के कर्मचारियों व पदाधिकारियों से पृथक-पृथक पूछताछ, दस्तावेजों, रजिस्टरों एवं इलेक्ट्रानिक डाटा की सूक्ष्मता से जांच-पड़ताल के आधार पर माइक्रो फायनेंस कंपनियों क्रमश: आरोहण, एल एण्ड टी, आर.बी.एल, सोनाटा, संहिता, पहल एवं आशीर्वाद कंपनियों के लगभग 01 करोड़ 45 लाख रूपये की हेराफेरी के स्पष्ट प्रमाण प्राप्त हुए हैं। इस ऋण संबंधी फर्जीवाड़े में गत सप्ताह 13 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया।

8 आरोपियों को फिर भेजा जेल :

विवेचना के अगले क्रम में अन्य 08 आरोपियों को उनकी संलिप्तता के आधार पर आज गिरफ्तार किया गया है। ये सभी आरोपी पूर्व में माइक्रो फाइनेंस कंपनियों की शहडोल शाखा में पदस्थ रहे हैं। इन्होंने अपनी पदस्थापना के दौरान स्वरोजगार के उद्देश्य से ऋण देने के नाम पर स्वयं अनुचित आर्थिक लाभ हासिल करने हेतु फर्जी आधार कार्ड व वोटर आई डी कार्ड के आधार पर ऋण स्वीकृत किये हैं। आधार नंबरों की जांच से यह तथ्य प्रकाश में आया कि मूल आधार कार्ड नंबरों के अंकों को आगे-पीछे किया गया है और शेष जानकारी यथावत् रखते हुए ऋण स्वीकृत किया गया है।

3 कंपनी के 8 कारिंदे :

पुलिस ने एलएण्डटी फाइनेंस कंपनी के ब्रांच मैनेजर अखिलेश कुमार ठाकुर, रोहित गुप्ता, आरोहण माइक्रोफाइनेंस कंपनी के ब्रांच मैनेजर अमित तिवारी, शब्बर अली फील्ड लेवल आफीसर, सुभाष पटेल फील्ड लेवल ऑफीसर, सचिन कुर्मी फील्ड लेवल ऑफीसर, संहिता माइक्रो फाइनेंस कंपनी के ब्रांच मैनेजर राहुल गुप्ता, संहिता माइक्रो फाइनेंस कंपनी अखिलेश कुमार पाण्डेय फील्ड लेवल ऑफीसर कर्मचारी शामिल हैं।

बैंको को देनी होगी डिटेल रिपोर्ट :

पुलिस के द्वारा की जा रही जांच में अब बैंकों को ग्राहकों को लोन स्वीकृत किये जाने के संबंध में कंपनी कार्यालय में संधारित मूल दस्तावेज। स्वीकृत लोन प्रकरणों में कंपनियों के किन-किन पदाधिकारियों का दोष एवं अवैध संलिप्तता है, इस संबंध में तथ्यात्मक जानकारी। कंपनी संचालन के संबंध में शासन/भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा निर्धारित गाईडलाइन, कंपनी स्थापना से आज दिनांक तक कंपनी की ऑडिट रिपोर्ट में ऑडिट के दौरान पाई गई, समस्त जानकारी का खाखा पुलिस को उपलब्ध कराना होगा।

जारी रहेगा नटवरलालों के खिलाफ अभियान :

इस प्रकार इन माइक्रो फाइनेंस कंपनियों की संस्थागत भूमिका का भी परीक्षण किया जा रहा है। ग्रामीण जनता की आर्थिक अधोसंरचना के विकास के दृष्टिकोण से कार्यरत कंपनियों की कार्यप्रणाली के संबंध में गहन समीक्षा की जा रही है। अब तक इस आर्थिक अपराध के विरूद्ध पंजीबद्ध प्रकरण में कुल 26 व्यक्तियों की गिरफ्तारी पुलिस द्वारा की जा चुकी है। पुलिस अधीक्षक शहडोल सत्येन्द्र कुमार शुक्ल के मार्गदर्शन में पुलिस द्वारा अनवरत कार्यवाही की जा रही है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co