Raj Express
www.rajexpress.co
सऊदी अरब में हुई उमरिया के लाल की मौत
सऊदी अरब में हुई उमरिया के लाल की मौत|Social Media
मध्य प्रदेश

सऊदी अरब में हुई उमरिया के लाल की मौत

उमरिया : सरजमीं में शव को दफन करने के लिए परिजनों ने मांगी मदद।

Kamlesh Yadav

राज एक्सप्रेस। नौरोजाबाद क्षेत्र में रहने वाले इस्तेखार अहमद की 14 नवंबर को बीमारी के उपचार के दौरान सऊदी अरब में मौत हो गई। 45 वर्षीय इस्तेखार अहमद रोजगार की तलाश में सऊदी अरब गया था। काम मिल जाने के बाद वह सऊदी अरब में ही रहता था, साल डेढ़ साल में वह शासन से अनुमति लेकर घर आता था। इस्तेखार के पीछे यहां पर उसका एक बेटा और तीन बेटियां तथा पत्नी संयुक्त परिवार में रहते थे।

कलेक्टर ने हर संभव मदद का दिया आश्वासन :

14 नवंबर को जब मौत की खबर इस्तेखार के चचेरे भाई ने सऊदी अरब से भारत भेजी तो नौरोजाबाद में रहने वाले उसके परिवार में मातम का माहौल छा गया। मौत के बाद परिजन इस्तेखार के शव को अपनी सरजमीं पर दफन करना चाहते हैं। जिसके लिए उन्होंने सबसे पहला प्रयास कलेक्टर से मिलकर किया। परिजनों ने कलेक्टर को पूरी स्थिति से अवगत कराते हुए इस संदर्भ में विदेश मंत्रालय सहित अन्य संबंधित वरिष्ठ कार्यालयों से संपर्क करने की गुजारिश की। इधर कलेक्टर ने भी परिजनों की बात सुनने के बाद उनकी हर संभव मदद करने का आश्वासन दिया है।

चचेरे भाई ने दी थी सूचना :

बीते 10 वर्षों से सऊदी अरब के किसी कारोबारी के यहां वाहन चलाने का काम करता था। वह 10 सालों से वहां कार्यरत था और बीच-बीच में भारत आता रहता था। सऊदी अरब के जिस स्थान पर मृतक काम रहता था, उससे 400 किलोमीटर दूर उसके रिश्ते का चचेरा भाई भी रहता था। इसी चचेरे भाई ने 14 नवंबर को सऊदी परिजनों को उसकी मौत की खबर दी। परिजनों ने यह भी बताया कि वह बीते कई दिनों से बीमार चल रहा था और परिवार जन लगातार उसके संपर्क में थे। सऊदी अरब स्थित मदनी अस्पताल में उसकी मौत के बाद उसके परिजनों ने वहां से शव लाने के लिए सऊदी अरब में प्रयास तो किये लेकिन उनकी कहीं नहीं चली तो परिजन कलेक्टर से मिले और उनके माध्यम से सरकार तक बात पहुंचाने का प्रयास किया।

किया जा रहा प्रयास :

कलेक्टर उमरिया स्वरोचिष सोमवंशी ने परिजनों की बात सुनने के बाद स्टेट प्रोटोकॉल से इस संदर्भ में बात की है। कलेक्टर ने कहा कि हमारे द्वारा प्रयास किया जा रहा है। शासन स्तर पर जो भी मदद होगी, वह मुहैया कराई जाएगी। हमारा प्रयास रहेगा कि जल्द से जल्द इस्तेखार का शव भारत आ जाए और अपनी सरजमीं में ही उसे सुपुर्द ए खाक करने की उनके परिजनों की मंशा पूरी हो। कलेक्टर ने बताया कि विदेश मंत्री के प्रमुख सचिव से भी बात कि है और कार्यवाही जारी है। मृतक की एफआईआर एवं मेडिकल रिर्पोट की कापी मिल चुकी है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।