राजधानी में दोहरे मामलो में अभियुक्तों को किया गिरफ्तार
राजधानी में दोहरे मामलो में अभियुक्तों को किया गिरफ्तार|Social Media
मध्य प्रदेश

घूसखोरी पर ऐसी सख्ती : लोकायुक्त ने उतरवायी बाबू की पैंट

भोपाल, मध्यप्रदेश : रिश्वतखोरी के मामलों पर लोकायुक्त द्वारा छापामार कड़ी कार्रवाई होने के बाद भी लगातार मामले आ रहे हैं सामने, राजधानी में दोहरे मामलो में अभियुक्तों को किया गिरफ्तार।

Deepika Pal

Deepika Pal

राज एक्सप्रेस। मध्यप्रदेश की राजधानी में लोकायुक्त की टीम के द्वारा अभियुक्तों पर धरपकड़ और छापामार कार्रवाई होने के बाद भी मामलों में लगातार वृद्धि हो रही है, इसके चलते ही राजधानी में दोहरे रिश्वतखोरी के मामलों का खुलासा हुआ है। जिसमें लोकायुक्त की टीम ने कड़ी कार्रवाई की है। एक मामले में टीम ने माता मंदिर स्थित एक कार्यालय से क्लर्क को दो हजार की रिश्वत लेते गिरफ्तार किया वहीं अन्य मामले में ईदगाह हिल्स स्थित एक कार्यालय के अर्ध कुशल बाबू को पांच हजार की रिश्वत के साथ गिरफ्त में लिया। फिलहाल दोनो मामलों में जांच और आगे की कार्रवाई जारी है।

क्या है पहला मामला

मिली जानकारी के मुताबिक, यह मामला राजधानी के माता मंदिर स्थित नगर निगम कार्यालय से सामने आया है जहां के क्लर्क शमीमुद्दीन के खिलाफ लोकायु्क्त की टीम को शिकायतकर्ता द्वारा शिकायत मिली थी कि, अभियुक्त क्लर्क, शिकायतकर्ता महिला के पति के एरियर में बचे हुए डेढ़ लाख रुपए निकालने के लिए तीन हजार रुपए रिश्वत की मांग कर रहा है। इस पर लोकायुक्त की टीम ने योजनाबद्ध ढंग से अभियुक्त क्लर्क को गिरफ्तार किया। दरअसल महिला के पति नगर निगम के कर्मचारी थे और उनकी मृत्यु के बाद एरियर के पैसे निकालने के लिए आवेदन दिया गया था। जिसमें शिकायतकर्ता महिला ने बताया कि, अभियुक्त क्लर्क इस काम को कराने के लिए पहले भी एक हजार रूपए की घूस ले चुका है और बाकी के दो हजार रूपयों की मांग कर रहा था।

योजनाबद्ध तरीके से पकड़ा :

मामले में शिकायतकर्ता की शिकायत के बाद लोकायुक्त की टीम ने कार्रवाई करते हुए योजना के अनुसार शिकायतकर्ता के बेटे को बाकी के दो हजार रूपए देने नगर निगम कार्यालय भेजा जिसके बाद अभियुक्त ने पैसे लेकर जैसे ही जेब में डाले, वैसे ही लोकायुक्त की टीम ने मौके पर पहुंच घेराबंदी कर अभियुक्त क्लर्क को धर- दबोच लिया। इसके बाद टीम ने कार्रवाई के तहत उसके हाथ पानी से धुलवाए तो वे गुलाबी हो गए साथ ही अभियुक्त की पेंट भी उतरवायी गई जिसकी जेब में पानी डालते ही हिस्सा गुलाबी हो गया। इस दौरान टीम ने रिश्वत के पैसे के साथ सबूत के तौर पर क्लर्क की पैंट भी जब्त की।

ऐसा ही दूसरा मामला आया सामने :

इस मामले के बाद राजधानी के ईदगाह हिल्स स्थित वार्ड नंबर दस के नगर निगम कार्यालय से एक अर्ध कुशल श्रमिक बाबू मनोज जैन को भी पांच हजार की रिश्वत के साथ गिरफ्तार किया है। दरअसल लोकायुक्त की टीम को शिकायतकर्ता द्वारा लिखित में शिकायत मिली थी कि, महिला ने बेटे की मौत के बाद मजदूरी कार्ड के आधार पर मध्य प्रदेश शासन की अंत्येष्टि एवं अनुग्रह योजना के अंतर्गत मिलने वाली 2 लाख 60 हजार रुपए की राशि के लिए आवेदन किया था, जिसके मामले में बेटे की पोस्टमार्टम रिपोर्ट लगाने के एवज में अभियुक्त बाबू ने 25 हजार रुपए की रिश्वत मांगी थी। इस संबंध में अभियुक्त महिला से पहले भी 10 हजार रुपए की रिश्वत ले चुका है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co