पुलिस की कार्यवाही पर उठ रहे सवाल
पुलिस की कार्यवाही पर उठ रहे सवाल|Gaurav Kapoor
मध्य प्रदेश

थाने में दर्ज अवैध शराब मामले के आरोपी अन्य थाना क्षेत्रो में काट रहे चाँदी

खाचरौद, मध्य प्रदेश : चार महीने बीत जाने बाद भी शराब माफिया को पकड़ने में पुलिस की असफलता पर उठ रहे सवाल। नगर में सट्टे के कारोबार ने भी पकड़ी चाल।

Gaurav Kapoor

खाचरौद, मध्य प्रदेश। मध्यप्रदेश उज्जैन जिले में जहाँ एक और पुलिस अधीक्षक मनोज सिंह ने मध्यप्रदेश सरकार की मंशा अनुसार माफियाओं पर नकेल कसने हेतु अभियान छेड़ रखा है ग्रामीण अंचलों में माफियाओं को संरक्षण देने वाले छोटे पुलिसकर्मियों को भी जिले से बाहर का रास्ता दिखाया हैं।

पुलिस अधीक्षक मनोज सिंह की कार्य शेली से अलग ग्रामीण अंचलों के थानों में माफियाओं अपराधियों पर पुलिस की धरपकड़ कमजोर बनी हुई है कई प्रकार के सवाल पुलिस पर उठ रहे हैं। माफियाओं को सफेदपोश नेताओं का संरक्षण प्राप्त है जिसके चलते 4 साल बाद फिर से नगर के चौराहों पर सफेदपोश नेताओं के संरक्षण में सट्टे का अवैध कारोबार पुनः लंबे समय के बाद शुरू हो गया है जो समाचार पत्रों के प्रतिनिधियों की आवभगत कर खुलेआम चलने वाले सट्टे के समाचार नहीं प्रकाशित करने पर मोटी रकम देने को भी आमादा हैं सट्टे-डब्बे के कारोबार से भले पुलिस के आला अधिकारी अनजान बन रहे हैं लेकिन जिम्मेदारों को क्षेत्र में चल रही अवैध गतिविधियों की जानकारी अच्छे से है बिना संरक्षण में उक्त अवैध व्यवसाय खुलेआम संचालित होना समझ से परे हैं।

संगीन अपराधों में फरार आरोपी पुलिस के आला अधिकारियों के संरक्षण में वीआईपी जिंदगी बसर कर रहे हैं ऐसे मामलों में पुलिस के साथ-साथ उज्जैन पुलिस अधीक्षक की कार्यशैली पर भी सवाल उठ रहे हैं। जिन्हें जेल की सलाखों के पीछे होना चाहिये वे महीनों बीत जाने के बाद भी पुलिस की गिरफ्त से कोसो दूर होकर सुनसान जंगलों में जुएं के अड्डे संचालित करने वालों की शरण में हैं।

लाकडाउन के दौरान पत्रकारों की सजगता से खाचरौद पुलिस ने कई जगह दबिश देकर अवैध शराब कारोबारियों की पकड़ा धकड़ी कर सबसे बड़ी कार्रवाई कर बड़ी मात्रा में अवैध शराब जप्त की थी। कही अज्ञात तो कही ज्ञात तो कही मोके पर ही आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार किया था।

पत्रकारों के स्टिंग ऑपरेशन के बाद एक महत्वपूर्ण मामला सामने आया है खाचरौद थाने की सीमा से लगे ग्राम दिवेल में पुलिस ने लाकडाउन के दौरान दबिश देकर कांग्रेस नेता जीवन गुर्जर के खेत से बड़ी मात्रा में अवेध शराब जप्त की थी लेकिन एफआईआर में आरोपी फरार बताया गया था। चार माह बीत जाने के बाद भी खाचरौद पुलिस आरोपी तक नही पहुँच पाई हैं। सूत्रों से मिली जानकारी अनुसार आला अधिकारियों की ओट में आरोपी चाँदी काट रहा है आला अधिकारी द्वारा अवैध धंधो को अन्य थाना क्षेत्रों में संचालित करने की खबर भी प्राप्त हो रही है। मिली जानकारी अनुसार खाचरौद थाने का फरार शराब माफिया भाट पचलाना थाना क्षेत्र के इर्द गिर्द लगे ग्रामीण अंचलों में छिपा हुआ है उक्त स्थान पर पुलिस का पहुँचना मुमकिन नहीं नामुमकीन है । जेल की सलाखों से बचने के लिये आरोपी बड़े अधिकारियों के संपर्क में हैं जो अपने काले धंधो को जंगलों से टेक्नोलॉजी की मदद से संचालित कर रहा है।

इस मामले की पत्रकारों ने गहनता से मौके पर पहुँचकर खोजबीन की तो कई चौंकाने वाली जानकारी मीडिया को साक्ष्य के रूप में प्राप्त हुई हैं जिसमें बताया जा रहा है कि बड़े लेवल का जुआ जंगलों खेतों में बने मकानों में संचालित किया जा रहा है जहाँ पुलिस का भी पहुँचना नामुमकिन है फरार आरोपी ऐशो आराम की जिंदगी गुजार रहे हैं। कोरोना काल तथा बाद से ही दर्ज हुए कई संगीन अपराधों में अपराधियों को खाचरौद पुलिस जेल की हवा खिला चुकी है लेकिन चार माह पुराने मामले का अवैध शराब माफिया अब तक पुलिस की पहुँच से बाहर है।

अवैध धंधों को संचालित करने वाले माफियाओं की आव भगत में लगे अधिकारियों को क्षेत्र के मामलों की जानकारी होने के बाद भी माफियाओं पर कोई कार्रवाई नहीं करना लोकतंत्र में कई प्रकार के सवाल पैदा कर रहा है। ग्रामीण अंचलों के थाना क्षेत्र में सफेदपोशो के संरक्षण में पनप रहे माफियाओं को उज्जैन पुलिस अधीक्षक की कार्रवाई तो नही पहुँची हैं लेकिन माफियाओं की आला अधिकारियों के कार्यालयों में जमकर आव भगत देखने को मिल रही हैं।

फरार आरोपी के मामले में खाचरौद भाट पचलाना थाना क्षेत्र के जिम्मेदार अधिकारी एसडीओपी अरविंद सिंह से राज एक्सप्रेस ने मोबाइल पर चर्चा की तो उन्होंने बताया कि अभी त्योहारों से निपटे हैं आरोपी को पकड़ने की जिम्मेदारी खाचरौद थाना प्रभारी की है में दिखवाता हूं।

थाना प्रभारी रविंद्र बारिया ने इस मामले में राज एक्सप्रेस को जानकारी देकर बताया कि "मुझे आए एक महीना हुआ है मामले की जानकारी प्राप्त हुई हैं आज ही मैंने सब इंस्पेक्टर आर. के. सिंगावत को आरोपी की गिरप्तारी के लिये बोला हैं आरोपी जल्द ही पुलिस गिरफ्त में होगा।"

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co