Raj Express
www.rajexpress.co
माफिया मुक्त अभियान के तहत
माफिया मुक्त अभियान के तहत |Subodh Tripathi
मध्य प्रदेश

माफिया मुक्त अभियान के तहत तीन टीमों ने 4 एलएनटी और 56 ट्रक पकड़े

छतरपुर, मध्यप्रदेश : बांदा की ओर से घुसीं एक्शन टीमें, रेत माफियाओं के 56 ट्रक, 4 एलएनटी और 1 जेसीबी मशीन पकड़ी।

Subodh Tripathi

राज एक्सप्रेस। सीएम कमलनाथ के निर्देश पर देर से जागे जिला प्रशासन ने रेत माफियाओं पर कार्यवाही के लिए जब जिला मुख्यालय से तीन टीमों का गठन कर बांदा की ओर से छापामार कार्यवाही की तब जाकर बीती रात चंदला-गौरिहार क्षेत्र में रेत माफियाओं के 56 ट्रक, 4 एलएनटी और 1 जेसीबी मशीनें पकड़ी जा सकीं।

उल्लेखनीय है कि

कलेक्टर मोहित बुंदस ने माफिया मुक्त अभियान के तहत एडीएम प्रेम सिंह चौहान के नेतृत्व में रेत माफियाओं पर कार्यवाही का आदेश दिया था। इसी निर्देश के चलते रविवार की रात करीब 9 बजे एडीएम प्रेम सिंह चौहान, डिप्टी कलेक्टर राहुल, एसएलआर आदित्य सोनकिया, एसडीएम अनिल सपकाले, आईएएस अधिकारी स्वपनिल वानखेड़े और खनिज अधिकारी अमित मिश्रा के नेतृत्व में तीन टीमों ने चंदला क्षेत्र में रेत माफियाओं के खिलाफ कार्यवाही की।

एक टीम ने घूरागढ़ रोड बांदा की ओर से 22 ओवर लोड ट्रकों को पकड़ा। इस टीम ने पहरा चौकी और गौरिहार क्षेत्र में चल रही परेई, मवई घाट पर भी छापामार कार्यवाही की लेकिन यहां न तो मशीनें मिलीं और न ही ट्रक पकड़े गए। एक अन्य टीम ने गोयरा क्षेत्र में 4 एलएनटी मशीनें, 1 जेसीबी और 34 रेत से भरे ओवरलोड ट्रकों को पकड़ा। इस कार्यवाही के दौरान अधिकारियों के मोबाइल बंद कराए गए फिर भी कई घाटों पर टीम के पहुंचने की सूचना पहले ही पहुंच गई जिसके कारण माफियाओं की मशीनें भाग निकलीं।

बंसिया और हिनौता में नहीं पहुंची टीम

राज्यपाल आने के कारण ठंडा रहा अभियान प्रशासन की टीमों ने इसी क्षेत्र में बंसिया और हिनौता के समीप चल रहे रेत के घाटों पर कार्यवाही नहीं की जिससे कई सवाल खड़े हो रहे हैं। सोमवार को राज्यपाल लालजी टंडन छतरपुर के दौरे पर थे इसलिए एक दिन के लिए इस अभियान को बंद रखा गया। दिन भर खबर मिलती रही कि बंसिया और हिनौता में अब भी रेत का उत्खनन जारी है।

घबरा रहा नया ठेकेदार, कैसे रुकेगा अवैध उत्खनन

दरअसल जिले के सभी रेत घाटों को एक ही ठेकेदार ने निविदा के माध्यम से हासिल कर लिया है। जल्द ही विजय गुप्ता नाम के ठेकेदार के द्वारा ही जिले के सभी रेत घाटों को संचालित किया जाएगा। खनिज विभाग और ठेकेदार कंपनी के बीच 28 दिसंबर को अनुबंध हो सकता है। ठेकेदार ने टैक्स सहित लगभग 91 करोड़ में जिले का रेत ठेका लिया है लेकिन जिस हिसाब से जिले में रेत की चोरी हो रही है उससे नए ठेकेदार को घाटा लगने का डर सता रहा है। सूत्रों के मुताबिक ठेकेदार ने प्रदेश के वरिष्ठ मंत्रियों को रेत की चोरी बंद कराने के लिए आग्रह किया है। जिसके कारण छतरपुर में रेत माफियाओं पर आने वाले दिनों में बड़ी कार्रवाई हो सकती है।

रेत के उत्खनन सहित अन्य माफियाओं पर कार्यवाही का सिलसिला जारी रहेगा। प्रशासन के दिशा निर्देशों के आधार पर सतत अभियान चलाया जा रहा है।

प्रेम सिंह चौहान, एडीएम

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।