MP:अतिवर्षा से निपटने के लिए पर्याप्त व्यवस्था,सीएम ने बैठक में दिए निर्देश
मध्यप्रदेश के सीएम ने आज वरिष्ठ अधिकारियों के साथ प्रदेश के अनेक स्थानों में हो रही भारी बारिश के चलते निर्मित हुई बाढ़ की स्थिति को लेकर समीक्षा बैठक की।
MP:अतिवर्षा से निपटने के लिए पर्याप्त व्यवस्था,सीएम ने बैठक में दिए निर्देश
सीएम ने बैठक में दिए निर्देशSyed Dabeer-RE

मध्यप्रदेश। प्रदेश में कोरोना संकटकाल के बीच भारी बारिश ने बढ़ाई परेशानी, मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज वरिष्ठ अधिकारियों के साथ प्रदेश के अनेक स्थानों में हो रही भारी बारिश के चलते निर्मित हुई बाढ़ की स्थिति को लेकर समीक्षा बैठक की, वहीं बैठक में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अधिकारियों को आपात स्थिति से निपटने दिए निर्देश।

मुख्यमंत्री ने प्रदेश में हो रही अतिवर्षा से उत्पन्न विपरीत परिस्थितियों से निपटने के लिए बैठक की और एसडीआरएफ और एनडीआरएफ की टीमें तैयार हैं। वल्लभ भवन और सीएम हाउस में कंट्रोल रूम बनाया गया है। आपात स्थिति होने पर आप एसडीआरफ के कंट्रोल रूम नंबर 1079 और डायल 100 पर भी संपर्क कर सकते हैं। प्रदेश सरकार किसी भी विषम परिस्थिति से निपटने के लिए पूरी तरह सक्षम है। निचले इलाकों में जल जमाव की रोकथाम की व्यवस्था पहले से ही कर ली जाये। जल जमाव और बाढ़ में लोग घिरे नहीं, इसके लिए टीमें अलर्ट रहें और सतत नजर बनाये रखें।

बता दें कि मुख्यमंत्री ने कहा है कि आपात स्थिति से निपटने के लिए हम सतत सेना और एयरफोर्स के संपर्क में हैं। इसके अलावा अन्य तैयारियां भी जारी हैं। कोरोना को ध्यान में रखते हुए सभी व्यवस्थाएं की जा रही हैं। भोजन, दवाई की पर्याप्त व्यवस्था के साथ स्वच्छता पर विशेष ध्यान देने के निर्देश दिये हैं। मेरे प्रदेश के भाई-बहनों, अति वर्षा से निपटने के लिए पर्याप्त व्यवस्था है। मैं सतत हालात और व्यवस्थाओं पर नजर बनाये हुए हूं। आप जरा भी चिंतित न हों। जल जमाव अथवा बाढ़ की स्थिति हो, तो तत्काल प्रशासन को सूचित करें, ताकि समय रहते हम आपकी मदद कर सकें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मध्यप्रदेश के कई जिलों और राज्य के आपदा प्रबंधन के कंट्रोल रूम चौबीसों घंटे काम कर रहे हैं। किसी भी प्रकार की सहायता या आपात स्थिति की सूचना देने के लिए कॉल कीजिये। आप जरा भी चिंता न करें। आपात स्थिति से निपटने के लिए हेलीकॉप्टर, गोताखोर, बोट आदि की पर्याप्त व्यवस्था है, मेरी आप सभी से एक प्रार्थना है कि सड़क, पुल, पुलिया पर बाढ़ का पानी होने की स्थिति में आप उसे पार करने से बचें। बाँधों के गेट खोलने से पूर्व प्रशासन द्वारा नागरिकों को सूचित किया जा रहा है। कृपया सूचनाओं को गंभीरता से लें। चिंता ना करें। इस संकट से आपको पार निकालकर ले जायेंगे।

संकट के समय मध्यप्रदेश सरकार नागरिकों के साथ : सीएम

मुख्यमंत्री सीहोर और होशंगाबाद ज़िलों के नर्मदा नदी किनारे स्थित क्षेत्रों का हवाई दौर कर स्थिति का जायज़ा ले रहे हैं। प्रदेश में अतिवृष्टि का एक और संकट आय़ा है। भारी वर्षा के कारण जबलपुर, भोपाल और होशंगाबाद संभाग के कई गांवों और शहरों में बाढ़ जैसी परिस्थितियां निर्मित हो रही हैं। लेकिन घबराएं नहीं, जहां जरूरी है, वहां राहत व बचाव के सारे इंतजाम किए जाएंगे।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co