डॉ गोविन्द सिंह
डॉ गोविन्द सिंह|Social Media
मध्य प्रदेश

ग्वालियर : डॉ. गोविन्द सिंह की पदयात्रा के बाद प्रशासन हुआ सक्रिय

ग्वालियर, मध्य प्रदेश : सक्रियता के बाद भी रेत का अवैध उत्खनन जारी। भिण्ड में चंबल कमिश्नर कर चुके दौरा, अब ग्वालियर संभागायुक्त ने अवैध उत्खनन पर सख्ती के दिए निर्देश।

राज एक्सप्रेस

राज एक्सप्रेस

ग्वालियर, मध्य प्रदेश। पूर्व मंत्री एवं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता डॉ. गोविन्द सिंह द्वारा नदी बचाओ यात्रा को लेकर भले ही भाजपा के लोग सवाल उठा रहे हो, लेकिन उन्होंने अवैध रेत उत्खनन का मामला मंत्री रहते हुए भी उठाया था। भाजपा के सवाल इसलिए मजबूरी हो गए, क्योकि भिण्ड में जो कांग्रेस से भाजपा में गए है वह रेत का ही व्यापार करने में जुटे हुए थे। डॉ. सिंह की पदयात्रा के बाद प्रशासन भी सक्रिय हुआ है, लेकिन इसके बाद भी यात्रा वाले क्षेत्र को छोड़ दे तो अन्य क्षेत्रो में रेत का अवैध उत्खनन हो रहा है।

पूर्व मंत्री डॉ. गोविन्द सिंह ने जब नदी बचाओ यात्रा शुरू की तो अंचल के भाजपा नेता नहीं बल्कि सिंधिया समर्थक नेताओ के पेट में दर्द होने लगा था। सिंधिया समर्थक भिण्ड के रमेश दुबे से लेकर अन्य नेताओ ने डॉ. सिंह की यात्रा का नाटक करार देते हुए कहा था कि "डॉ. सिंह ही असली रेत माफिया है।" इस सवाल पर डॉ. सिंह ने कोई जवाब नहीं दिया, क्योंकि जिन्होंने सवाल किए वह उनके स्तर के नेता नहीं है, लेकिन जो पूर्व मंत्री सत्ता रहते अवैध रेत उत्खनन का मामला उठा चुका है उसके बारे में इस तरह के आरोप बेमानी लगते है। वैसे विधानसभा में जब कांग्रेस की सरकार थी तब नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने भ्रष्टाचार के आरोप लगाएं थे तो तत्कालीन मंत्री डॉ. सिंह ने खड़े होकर कहा था कि "आरोप सिद्ध होना बाद की बात है आप तो आरोप लगाने वाले को सामने खडा कर कहलवा दो कि डॉ. सिंह ने भ्रष्टाचार किया है अभी बिस्तर बांध कर भोपाल छोड दूंगा"। इस पर भार्गव बोले थे डॉ. साहब आपके खिलाफ नहीं बोला है। अब जब वह नदी बचाओ यात्रा निकाल रहे है तो भाजपा के पेट में दर्द क्यों हो रहा है? सवाल कई है, लेकिन इसके जवाब जनता ही दे सकती है। हां इस यात्रा से प्रशासन जरूर सक्रिय हुआ है।

अधिकारी करने लगे दौरे :

पूर्व मंत्री डॉ. गोविन्द सिंह की नदी बचाओ पदयात्रा के बाद चंबल संभाग के आयुक्त रविन्द्र मिश्रा ने भिण्ड क्षेत्र का दौरा कर अधिकारियों को अवैध उत्खनन करने वालो के खिलाफ सख्त कार्यवाही के निर्देश दिए वहीं बुधवार को ग्वालियर संभाग आयुक्त एमबी ओझा ने दतिया पहुंचकर बैठक ली और अधिकारियों को निर्देश दिए कि किसी भी हालात में अवैध उत्खनन एवं परिवहन न हो। अवैध उत्खनन एवं परिवहन करने वालों के विरूद्ध सख्ती से कार्यवाही की जाए।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co