Raj Express
www.rajexpress.co
सजा सुन कर आरोपी ने अपना ही गला काटा
सजा सुन कर आरोपी ने अपना ही गला काटा|Pankaj Yadav
मध्य प्रदेश

छतरपुर: रेप के आरोप की सजा सुन आरोपी ने काटा खुद का ही गला

छतरपुर: महिला द्वारा लगाये गए रेप के आरोप की सजा सुन कर आरोपी ने अपना ही गला काटने का आत्मघाती कदम उठाया। वकील का कहना है कि, फेसबुक से हुआ था प्यार और लड़की कर रही थी ब्लैकमेल।

Pankaj Yadav

हाइलाइट्स :

  • आरोप की सजा सुन कर आरोपी ने अपना ही गला काटा
  • अदालत में साथ छुपा कर लाया था चाकू
  • वकील का कहना है, फेसबुक से हुआ था प्यार
  • लड़की कर रही थी ब्लैकमेल

राज एक्सप्रेस। मंगलवार की शाम जिला न्यायालय परिसर में स्थित न्यायाधीश श्रीमती नोरिन निगम की अदालत में एक सनसनीखेज घटना सामने आई। इस मामले में रेप के आरोपी की सुनवाई हो रही थी, जैसे ही कटघरे में खड़े आरोपी ने सजा सुनी, उसने तुरंत ही चाकू से अपना गला काट लिया। आरोपी अदालत में अपने साथ चाकू छुपा कर लाया था।

रेप की सजा :

अदालत ने रेप के इस आरोपी को 10 साल की कैद और पांच हजार रूपए के जुर्माने की सजा सुनाई थी, सजा सुनते ही उसने यह आत्मघाती कदम उठा लिया। इस घटना के बाद अदालत परिसर में हड़कंप मच गया। अदालत में मौजूद पुलिसकर्मी और आरोपी के परिजन उसे जिला अस्पताल ले गए, यहां से गंभीर हालत में उसे ग्वालियर रैफर कर दिया गया ।

ये है मामला :

सागर जिले के बीना का रहने वाला एवं यहां स्थित रिफाइनरी में कार्यरत ओमकार अहिरवार पर 28.10.2015 में सिविल लाईन थाना पुलिस द्वारा एक लड़की की शिकायत पर रेप का मामला दर्ज किया गया था। आरोपी पिछले दिनों ही अग्रिम जमानत पर रिहा हुआ था। मंगलवार को उसके मामले में फैसले की घड़ी थी। शाम करीब 5 बजे न्यायाधीश श्रीमती नोरिन निगम ने तमाम गवाहों और सबूतों को सुनकर अपना फैसला सुनाया। सजा सुनते ही आरोपी ओमकार कांपने लगा और उसने जेब से चाकू निकालकर अपने गले को रेत डाला। अस्पताल में उसकी हालत अब भी नाजुक बनी हुई है।

फेसबुक से हुआ प्यार :

इस मामले में बचाव पक्ष के वकील राजेन्द्र सक्सेना ने बताया कि, आरोपी ओमकार अहिरवार बीना का निवासी था। लगभग 4 साल पहले उसे छतरपुर की एक लड़की ने फेसबुक पर फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजी और इस तरह वह उस लड़की के संपर्क में आया। लड़की और उसके बीच प्रेम संबंध निर्मित हो गए। बाद में लड़की उक्त लड़के को ब्लैकमेल करती रही और जब ब्लैकमेलिंग में कामयाब नहीं हुई तो, उसने लड़के के खिलाफ रेप की शिकायत दर्ज कराई थी। अपने विरूद्ध झूठा मुकदमा दर्ज होने के कारण ओमकार पिछले चार वर्षों से लगातार परेशान था इसी कारण उसने यह आत्मघाती कदम उठाया। जिस वक्त यह घटना हुई उस वक्त लड़के के पिता और भाई भी अदालत परिसर में मौजूद थे।