उप चुनाव के बाद एक बार फिर कांग्रेस की सरकार बनेगी : पायलट

ग्वालियर, मध्य प्रदेश : सिंधिया से मुलाकात पर बोले, मैं अपने दल के लिए काम कर रहा हूं और वह अपने दल के लिए।
उप चुनाव के बाद एक बार फिर कांग्रेस की सरकार बनेगी : पायलट
उप चुनाव के बाद एक बार फिर कांग्रेस की सरकार बनेगी : पायलटSocial Media

ग्वालियर, मध्य प्रदेश। हर व्यक्ति अपना निर्णय करने के लिए स्वतंत्र है, वह अपने जल के लिए काम कर रहे हैं और मैं अपने दल के लिए। अब दल बदल दिया तो क्या कोई मिलेगा नहीं? यह बात राजस्थान के पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने एयरपोर्ट पर मुलाकात को लेकर पूछे गए सवाल पर कहा। पायलट ने कहा कि उप चुनाव क्यों हो रहे हैं इस बात को पूरा देश जानता है तो फिर मुझे कहने की क्या जरूरत है और उप चुनाव के बाद मध्यप्रदेश में एक बार फिर कांग्रेस की सरकार बनने जा रही है। पायलट दो दिन के लिए मध्यप्रदेश में कांग्रेस का चुनावी प्रचार के लिए आए हुए थे।

सचिन पायलट बताया कि लंबे समय तक मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह रहे, लेकिन जब 2018 के चुनाव में जनता ने सत्ता से बाहर कर दिया था, तो उन्होंने पिछले दरवाजे से सत्ता हासिल कर ली अब यह बात जनता को गले नहीं उतर रही है कि आखिर शिवराज सिंह को सत्ता से इतना मोह क्यों है। पायलट ने कहा कि मुझे जनता से मिले फीडबैक से लग रहा है कि प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनेगी और सभी प्रत्याशी जीतेंगे।

पूर्व कांग्रेस विधायकों के भाजपा में शामिल होने को लेकर पायलट ने कहा कि कोई भी विधायक-सांसद क्या करता है, क्या नहीं करता, जनता बहुत बारीकी से देखती है, जो पार्टी छोड़ता है, जनता में उसका नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। सिंधिया से मुलाकात को लेकर पूछे गए सवाल पर पायलट का कहना था कि सिंधिया अपनी पार्टी का प्रचार कर रहे हैं और मैं अपनी पार्टी का प्रचार कर रहे हैं, अब निर्णय जनता को करना है। पायलट ने बताया कि प्रदेश में व्यापम घोटाले में सैकड़ों लोग मारे गए, मंदसौर में किसानों के ऊपर गोली चलाई गई और बजरी का अवैध कारोबार धडल्ले से चल रहा है, किसान आत्महत्याएं कर रहे हैं, लेकिन कोई सुनने वाला नहीं है अब यह सब जनता देख रही है तो उसका हिसाब अपने मत से देगी। राजस्थान के पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट दो दिन ग्वालियर चंबल के दौरे पर रहे और सिंधिया के गढ़ में उन्होंने 9 चुनावी सभाएं की।

सिंधिया ने सचिन को कहा ऑल द बेस्ट :

सिंधिया और सचिन पायलट दोनों के बीच ये मुलाकात ग्वालियर एयरपोर्ट पर मंगलवार को हुई थी, बताया जा रहा है कि, इस दौरान सिंधिया ने अपने दोस्त सचिन पायलट को 'ऑल द बेस्ट कहा और दोनों अपने- अपने गतंव्य की तरफ निकल गए। सिंधिया भोपाल के लिए रवाना हो रहे थे, इसी दौरान पायलट ग्वालियर पहुंचे। सिंधिया और पायलट की दोस्ती पहले भी किसी से छिपी नहीं है। कांग्रेसी गद्दार कह रहे है, लेकिन आप नाम भी नहीं ले रहे? इस सवाल पर पायलट का कहना था कि उन्हे जो कहना होता है वह डंके की चोट पर कहते हैं और जो नहीं कहना उसे वह जानते है, मैं मुद्दो पर आधारित राजनीति करता हूं और ऐसी ही राजनीति होना चाहिए।

सभाओं में दोनों नहीं ले रहे एक- दूसरे का नाम :

सिंधिया के भाजपा में शामिल होने के बाद से ही दोनों ही नेताओं की विचारधाराएं अलग-अलग हो गई हैं। सचिन पायलट की भाषण शैली युवाओं के बीच काफी गहरी पैठ रखती है। यही वजह है कि कांग्रेस ने सिंधिया के गढ़ में ही उन्हें मैदान में उतारा है, जिससे कांग्रेस को फायदा मिल सके। सचिन पायलट 31 अक्टूबर को एक बार प्रदेश में चुनावी सभाएं लेने के लिए आएंगे। भले ही चुनावी सभाओं में भाजपा और कांग्रेस के नेता एक दूसरे पर तीखे हमले बोल रहे हैं, लेकिन सिंधिया और सचिन दोनों एक दूसरे का नाम नहीं ले रहे हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co