सराफा के कंटेनमेंट एरिया का निरीक्षण करते कलेक्टर-एसपी। (फाइल फोटो)
सराफा के कंटेनमेंट एरिया का निरीक्षण करते कलेक्टर-एसपी। (फाइल फोटो) | Social Media
मध्य प्रदेश

अलर्ट मीडिया-मुस्तैद प्रशासन, सूचना पर फौरन कार्रवाई कर रहे कलेक्टर

नारायणपुर में चूल्हा गोलाई के पास की दुकानों के खुलने के कारण मजमा लगने की राज एक्सप्रेस की सूचना पर कलेक्टर ने निरीक्षण करने और नियम विपरीत खुल रही दुकानों पर कार्रवाई की..."

राज एक्सप्रेस

राज एक्सप्रेस

हाइलाइट्स

  • मीडिया ने धर्म निभाया

  • जिला प्रशासन ने निभाया फर्ज

  • अहम सूचना खुद DM कर रहे दर्ज

राज एक्सप्रेस। भले ही संस्कारधानी जबलपुर में कोरोना संक्रमण के बढ़ते आंकड़े चिंता का सबब हों लेकिन कलेक्टर के निर्देशन में जिला प्रशासन और साथ में पुलिस टीम की कदम ताल काबिल ए तारीफ भी है। लॉकडाउन के दौरान कई अवसर पर मीडिया की सूचना पर न केवल तत्काल कार्रवाई हुई बल्कि जरूरतमंदों को राहत भी मुहैया कराई गई।

कर्मचारियों की मदद -

लॉकडाउन की शुरुआत के दौरान मार्च में माढ़ोताल के पास स्थित ऑनलाइन सेलिंग कंपनी में कार्यरत जिला रायसेन निवासी सदस्यों को छोड़कर कंपनी अधिकारियों के भाग निकलने की सूचना मीडिया को मिली थी। जिसके बाद जागरूक मीडिया कर्मियों ने जिला प्रशासन को इस बात की जानकारी दी।

सूचना के बाद कलेक्टर भरत यादव ने पीड़ित वर्ग का पता-ठिकाना नोट कर मात्र 15 मिनट के भीतर संबंधित वर्ग की समस्या का निराकरण करने में मदद की। कंपनी के स्टाफ को भरपेट भोजन कराया गया और उनके ठहरने या फिर गंतव्य तक नियमानुसार पहुंचाने का प्रबंध किया गया। समय पर मिली मदद के कारण कंपनी के पीड़ित सदस्य प्रशासनिक अधिकारियों की तारीफ करते नहीं अघाये।

पैदल मुसाफिरों को राहत -

दूसरा वाकया अप्रैल माह का है जब नागपुर से पैदल दमोह जा रहे लोगों के परेशान होने की जानकारी का वीडियो मीडिया कर्मियों ने जिला प्रशासन तक पहुंचाया। मीडिया से प्राप्त वीडियो के बाद जिला प्रशासन और पुलिस दल के संयुक्त प्रयास से तकरीबन 60 सदस्यीय दल को बड़ी मदद मिली।

मीडिया से सूचना और अधिकृत निर्देश पाकर नगर निगम के अतिक्रमण विभाग में अधिकारी सागर बोरकर ने भोजन बीच में छोड़कर पीड़ित वर्ग के उदर पोषण का प्रबंध किया। सूरतलाई में डेरा जमाए करीब 60 लोगों ने इस मदद के लिए पुलिस टीम और जिला प्रशासन को दिल से धन्यवाद दिया। इस राहत मिशन में एसपी ग्रामीण आरएस नरवरिया ने उल्लेखनीय भूमिका निभाई।

नारायणपुर का मामला –

जबलपुर-नागपुर मार्ग पर नारायणपुर गांव में चूल्हा गोलाई के पास की दुकानों के खुलने के कारण मजमा लगने की राज एक्सप्रेस द्वारा दी गई सूचना पर कलेक्टर ने निरीक्षण करने और नियम विपरीत खुल रहीं दुकानों पर कार्रवाई के निर्देश दिये थे। इसके बाद टीम ने मौके का मुआयना कर दुकानदारों को समझाइश दी और दोबारा नियम का उल्लंघन करने वालों पर कार्रवाई की।

दरअसल चूल्हा गोलाई के पास स्थित दुकानों पर लग रही बाहरी प्रदेशों के लोगों की भीड़ के कारण नारायणपुर और आस-पास के इलाकों के नागरिकों के स्वास्थ्य पर संकट होने की सूचना कलेक्टर को दी गई थी।

नगरीय इलाकों में अलर्ट –

गौरतलब है जबलपुर के कुछ इलाकों में कोरोना वायरस संक्रमण का खतरा मंडराने के कारण इलाकों में आवाजाही प्रतिबंधित कर दी गई है। चांदनी चौक और इससे सटे इलाके रेड जोन माने गए हैं। इसके अलावा कोरोना संक्रमित मिले लोगों के रहवासी इलाकों को भी क्वारंटाइन कर सतर्कता बरती जा रही है।

ऐसे में कुछ इलाकों में क्वारंटाइन किये गए कुछ लोगों के द्वारा नियमों का उल्लंघन करने की सूचना पर भी जिला प्रशासन ने तत्काल कार्रवाई की और स्थानीय लोगों को कोविड-19 संक्रमण से बचने के लिए जागरूक किया।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co