ग्वालियर : महाराज बाड़े पर सबकी निगाह फिर भी तिल रखने को नहीं जगह

ग्वालियर, मध्य प्रदेश : हर त्यौहार पर महाराज बाड़े पर फुटपाथियो का हो जाता है कब्जा। नगर निगम के अमले ने की कार्यवाही पर शहर के अन्य बाजारो पर नहीं कोई ध्यान।
ग्वालियर : महाराज बाड़े पर सबकी निगाह फिर भी तिल रखने को नहीं जगह
महाराज बाड़े पर सबकी निगाह फिर भी तिल रखने को नहीं जगहRaj Express

ग्वालियर, मध्य प्रदेश। इस समय अगर कोई महाराज बाड़े होकर जाने का मन बनाता है तो उसे उस रास्ते से होकर जाने से बचना चाहिए, क्योंकि महाराज बाड़े पर फिलहाल फुटपाथियों का कब्जा बना हुआ है। कहने का महाराज बाड़े पर नगर निगम का अमला कार्यवाही करता है, लेकिन इसके बाद भी सड़क पर बाजार क्यों सज जाता है इसको लेकर कई तरह की चर्चाएं हैं। सड़क पर बाजार लगाने की एवज में जो वसूली होती है उस पर सबकी निगाह रहती है और यही कारण है कि कार्यवाही के बाद भी सड़क से बाजार नहीं हट पा रहा है।

दीपावली का त्यौहार आने वाला है और इसके चलते बाजारो में रौनक देखने को मिल रही है। शहर में सबसे अधिक महाराज बाड़े पर लोग खरीददारी करने जाते हैं। पुलिस ने भी महाराज बाड़े से निकलने वाले वाहनों की ट्रैफिक दूसरे रास्ते से डायवर्ट कर दिया है, लेकिन इसके बाद भी पैदल निकलना मुश्किल हो रहा है इसका कारण यह है कि बाड़े की सड़क पर बाजार सजा हुआ है। महाराज बाड़े के फुटपाथियों को लेकर कई बार विवाद भी हो चुका है ओर राजनीतिक दल के प्रतिनिधि भी सामने आ चुके हैं, लेकिन इसके बाद भी सड़क से बाजार नहीं हट पा रहा है। सड़क पर बाजार सजने से दुकानदारों को खासा नुकसान हो रहा है, क्योंकि सड़क पर बाजार लगाने वाले दुकानदार से सस्ता सामान बेंच रहे हैं। इसको लेकर दुकानदार भी शिकायत कर चुके हैं, लेकिन इसके बाद भी सिर्फ दिखावे की कार्यवाही की जाती है।

कार्यवाही होती है तो फिर क्यों सज जाता है बाजार :

महाराज बाड़े पर सड़क पर बाजार सजाने वालो पर निगम का अमला कार्यवाही करता है तो फिर कुछ ही घंटो बाद वहीं बाजार क्यों सज जाता है? इसको लेकर कई तरह की बाते चर्चा में है। सूत्र का कहना है कि शहर में सबसे अधिक कमाई महाराज बाड़े के सड़क पर बाजार सजने से निगम के अमले के साथ ही संबंधित पुलिस थाने को होती है, अगर ऐसा नहीं होता तो बाड़े पर पुलिस की चौकी होने के बाद भी सड़क पर बाजार कैसे सज जाता है। शिकायत जब मिलती है तो निगम का अमला दिखावे की कार्यवाही कर देता है,लेकिन अमले के जाते ही बाजार उसी स्थान पर फिर सज जाता है। शुक्रवार को निगम के अमले ने महाराज बाड़े पर सड़क पर बाजार सजाने वालो पर कार्यवाही की ओर कई का सामान भी जब्त कर ले गए। इस दौरान कुछ विवाद भी हुआ, लेकिन पुलिस के आने के बाद फुटपाथी शांत हो गए।

क्या शहर में दूसरे स्थान पर नहीं है कोई बाजार :

शहर में कोई अकेला महाराज बाड़ा ही नहीं है बल्कि मुरार एवं हजीरा का बाजार भी है, लेकिन निगम एवं पुलिस को सिर्फ महाराज बाड़े पर ही सड़क पर बाजार दिखता है ओर उसके बाद भी बाजार सड़क से नहीं हट पा रहा है। वहीं हजीरा एवं मुरार में स्थिति यह है कि बाजार से पैदल निकलना मुश्किल हो रहा है, हजीरा चौराहा से किला गेट की तरफ जाने वाले रास्ते में बाजार बीच सड़क पर सजा हुआ है ओर उसी तरह मुरार के सदर बाजार में भी यही स्थिति है। इस स्थिति के होने के बाद भी निगम का अमला उस तरफ ध्यान नहीं दे रहा है जिसके कारण आम लोग परेशान हो रहे हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co