प्रधानमंत्री को भेंट किया जाएगा अमृत माटी कलश : भूपेन्द्र सिंह
प्रधानमंत्री को भेंट किया जाएगा अमृत माटी कलश : भूपेन्द्र सिंहSocial Media

प्रधानमंत्री को भेंट किया जाएगा अमृत माटी कलश : भूपेन्द्र सिंह

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को प्रदेश के 75 चयनित स्थानों जहां पर आजादी के लिए अपना बलिदान देने वाले महापुरूषों की जन्मभूमि, बलिदान भूमि एवं उनके जीवन से जुड़े स्थानों की अमृत माटी कलश भेंट किया जाएगा।

भोपाल, मध्यप्रदेश। भगवान बिरसा मुंडा की जयंती 15 नवंबर को जनजातीय गौरव दिवस कार्यक्रम में शामिल होने आ रहे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को प्रदेश के 75 चयनित स्थानों जहां पर आजादी के लिए अपना बलिदान देने वाले महापुरूषों की जन्मभूमि, बलिदान भूमि एवं उनके जीवन से जुड़े स्थानों की अमृत माटी कलश भेंट किया जाएगा। प्रदेश के जनजातीय क्षेत्रों से लाखों की संख्या में जनजातीय भाई बंधु अपनी सांस्कृतिक परंपरा और पारंपरिक वेशभूषा के साथ गौरव दिवस के कार्यक्रम में शामिल होंगे। यह बात प्रदेश शासन के मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने प्रदेश कार्यालय में शनिवार को पत्रकारों को जनजातीय गौरव कार्यक्रम के तैयारियों की जानकारी देते हुए कही। श्री सिंह ने बताया कि मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने 15 नवंबर भगवान बिरसा मुंडा की जयंती को जनजातीय गौरव दिवस के रूप में मनाने का निर्णय लिया था। यह प्रसन्नता का विषय है कि भारत सरकार ने भी पूरे देश में बिरसा मुंडा की जयंती को 15 नवंबर से पूरे सप्ताह मनाने का निर्णय लिया है। सप्ताह भर प्रदेश भर में भी कार्यक्रम होंगे जो कि प्रतिवर्ष चलाया जाएगा।

आदिवासी परंपरा से होगा प्रधानमंत्री जी का स्वागत :

भूपेन्द्र सिंह ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी15 नवंबर को दोपहर 12:33 बजे राजाभोज विमानतल पहुंचेंगे। यहां से प्रधानमंत्री हेलीकॉप्टर द्वारा जंबूरी मैदान पहुंचेंगे। जंबूरी मैदान में जनजातीय भाई बहन पारंपरिक समूह नृत्य के माध्यम से प्रधानमंत्री अगवानी करेंगे। जिसके पश्चात प्रधानमंत्री श्री मोदी भगवान बिरसा मुंडा एवं जनजातीय समाज के क्रांतिकारियों पर केन्द्रित प्रदर्शनी का उद्घाटन करेंगे। साथ ही जनजातीय बहनों के सेल्फ हेल्प ग्रुप द्वारा तैयार किए गए उत्पादों के स्टॉल का अवलोकन करेंगे। तत्पश्चात प्रधानमंत्री मुख्य मंच पर पधारेंगे। प्रधानमंत्री के मंच पर आते ही कार्यक्रम स्थल में अलग अलग स्थानों पर पारंपरिक वेशभूषा में तैयार कलाकार पारंपरिक नृत्यों एवं वाद्य यंत्रों के माध्यम से उनका स्वागत करेंगे। श्री सिंह ने बताया कि कार्यक्रम के पश्चात हेलीकॉप्टर द्वारा बरकतुल्ला यूनिवर्सिटी स्थित हेलीपेड पहुंचेंगे। यहां से सड़क मार्ग द्वारा रानी कमलापति रेलवे स्टेशन पहुंचकर कार्यक्रम में शामिल होंगे। प्रधानमंत्री शाम 4 बजे राजाभोज विमानतल से प्रस्थान करेंगे।

भोपाल शहर के आसपास 12 शहरों में आंगुतकों की व्यवस्था :

श्री सिंह ने बताया कि कार्यक्रम में प्रदेश के सभी स्थानों से जनजातीय बंधु शामिल होने भोपाल आ रहे हैं। उन्हें किसी भी प्रकार की असुविधा न हो इसके लिए बेहतर व्यवस्थाएं की गयी है। भोपाल शहर के आसपास 12 शहरों में गौरव दिवस में शामिल होने वाले आंगतुकों के ठहरने और भोजन, चाय की व्यवस्था की गई है। आंगतुक कार्यक्रम की पूर्व रात्रि विश्राम करेंगे एवं प्रात: कार्यक्रम स्थल के लिए रवाना होंगे।

स्वयंसेवी संस्था और सामाजिक संगठन करेंगे जनजातीय बंधुओं का स्वागत :

भूपेन्द्र सिंह ने बताया कि इस कार्यक्रम को लेकर सभी समाज और वर्गों में उत्साह का वातावरण है। विभिन्न सामाजिक संगठन और स्वयंसेवी संगठन 15 नवंबर के कार्यक्रम में शामिल होने भोपाल आ रहे जनजातीय बंधुओं का स्नेहपूर्वक स्वागत करेंगे। जगह-जगह गौरव द्वार, फ्लेक्स और जनजातीय वीरों के चित्र लगाए गए है। चौराहों को सजाया गया है। पार्टी के जनप्रतिनिधि और कार्यकर्ता भी जनजातीय भाई बहनों की अगवानी करेंगे। प्रमुख चौराहों पर जनजातीय समाज के भाई बहन पारंपरिक वेशभूषा में दिखाई देंगे। उन्होंने बताया कि जंबूरी मैदान में जब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी गौरव दिवस कार्यक्रम को संबोधित करेंगे तब प्रदेश की सभी पंचायतों में इसका सीधा प्रसारण होगा। लगभग 2 करोड़ लोग वर्चुअली इस कार्यक्रम से जुड़ेंगे। इस अवसर पर प्रदेश महामंत्री भगवानदास सबनानी, प्रदेश मीडिया प्रभारी लोकेन्द्र पाराशर, प्रदेश प्रवक्ता दुर्गेश केसवानी एवं नेहा बग्गा उपस्थित थे।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co