Anuppur : फिर बेलगाम हुई बॉक्साइट की गाड़ियां
फिर बेलगाम हुई बॉक्साइट की गाड़ियांRaj Express

Anuppur : फिर बेलगाम हुई बॉक्साइट की गाड़ियां

अनूपपुर, मध्यप्रदेश : ओव्हरलोड और तेज रफ्तार ट्रक ने 3 को किया घायल। चपेट में आने से युवक का टूटा पैर, दो गम्भीर हालात में अस्पताल में भर्ती।

अनूपपुर, मध्यप्रदेश। राजेन्द्रग्राम मुख्यालय से तीस किलोमीटर दूर 22 अगस्त की दोपहर 2 बजे करपा-करौंदी मार्ग पर भीषण सड़क हादसे में मासूम सहित चार लोगों की मौत का मामला अभी ठंडा भी नही हुआ कि दूसरी सबसे बड़ी घटना घटित होने से रह गई। इस लापरवाही से सबब न लेने के कारण 1 सितम्बर बुधवार (साप्ताहिक बाजार) होने की वजह से ग्राम लीला टोला से लोग खरीददारी कर अपने घरों को लौट रहे थे, इसी दरमियान लगभग 7:30 शाम को राजेन्द्रग्राम की ओर से आ रही ट्रक क्रमांक-एम पी.18-जीए-1639 जिसमें बॉक्ससाइड लदा हुआ था, लोगों ने देखा की गाड़ी कॉफी तेज गति से आ रही है देखते ही देखते सड़क किनारे खड़ी मोटर साइकल को अपने चपेट में लेने के बाद पांच सौ मीटर तक हाइवे पर दौड़ती रही।

पिकअप और ऑटो को भी टक्कर :

बुधवार शाम लोगों क्षेत्रीय बाजार से घर जा रहे थे, तभी बॉक्साइट लेकर आ रही अनियंत्रित ट्रक ने पिकअप और ऑटो को टक्कर मारते हुए सुनपुरी निवासी व्यक्ति को रौंद दिया, जिससे उनका दाँया पैर टूट गया, दो अन्य लोगों को प्राथमिक उपचार के लिये पुलिस की मदद से बेनीवारी स्वास्थ्य केंद्र में कराया गया भर्ती। प्रत्यक्ष दर्शियों ने बताया कि ड्राईवर द्वारा बाजार क्षेत्र में तेज रफ्तार ट्रक निकाला जा रहा था, जिसके कारण यह घटना घटित हुई है।

वर्दी का खौफ या अवैध परिवहन :

पुलिस अधीक्षक की ताबड़-तोड़ कार्यवाही को देखते हुये अवैध गाड़ियां अपना मार्ग ही बदल रखें हैं, जिसे राजेन्द्रग्राम पुलिस और थाना करनपठार नजर अंदाज कर रही है जिसका, खामियाजा किसी की जान से होकर गुजरेगी। प्रत्यक्ष दर्शियों ने बताया कि अक्सर बॉक्साइट से लदी गाड़ियां मार्ग से गुजरती हैं, जिनकी गति इतनी तेज होती है कि सड़क किनारे चल रहे लोग दौड़ कर रोड से बाहर चले जाते हैं। लोगों ने यह भी बताया कि अक्सर ड्राइवर नशे की हालत में रहते हैं साथ ही हाइवे पर कहीं भी गति अवरोधक बोर्ड का भी न होना सवाल खड़ा करता है। पुलिस अधीक्षक के स्पष्ट दिशा-निर्देश के बाउजूद वाहनों की चैकिंग न करना या ग्रीन सिग्नल दे दी जाती है।

ग्रामीणों ने की कार्यवाही की मांग :

22 अगस्त के दिन करपा-करौंदी मार्ग सड़क हादसे के बाद दूसरी सबसे बड़ी घटना लीला टोला में होने से रह गई। जिसे देखते हुए लोगों ने कहा कि बेलगाम और अनफिट गाड़ियों की नियमित चैकिंग हो, गति अवरोधक बोर्ड लगाएं जाए और नशे की हालत में ड्राइवरों का लाइसेंस रद्द की जाये। एमपी ट्रांसपोर्ट की बेवसाईड के अनुसार गाड़ी क्रमांक-एम पी-18-जीए-1639 राजनगर निवासी बिसराम निषाद पिता हरगुन निसाद मालिक है। करपा-करौंदी मार्ग पर मासूम की मौत का जिम्मेदार शराबी ड्राइवर और गाड़ी मालिक के खिलाफ मामला कायमी है साथ ही 1 सितम्बर लीला टोला में घटित घटना के आरोपी ट्रक ड्राइवर को गिरफ्तार करते हुए मामला पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co