अनूपपुर : कांग्रेस विधायक सुनील सराफ का क्रेशर हुआ सीज
कांग्रेस विधायक सुनील सराफ का क्रेशर हुआ सीजShrisitaram Patel

अनूपपुर : कांग्रेस विधायक सुनील सराफ का क्रेशर हुआ सीज

अनूपपुर, मध्य प्रदेश : विधानसभा क्षेत्र कोतमा के कांग्रेस विधायक सुनील सराफ के क्रेशर के ऊपर प्रशासन ने कार्रवाई की है। विधायक ने कहा कार्यवाही राजनीति से ओपप्रोत।

अनूपपुर, मध्य प्रदेश। विधानसभा क्षेत्र कोतमा के कांग्रेस विधायक सुनील सराफ के क्रेशर के ऊपर प्रशासन ने कार्रवाई की है, क्रेशर में पर्यावरण के नियमों को पालन न करना एवं माइनिंग के मानकों को पूरा न करने पर कलेक्टर द्वारा टीम गठित कर कार्यवाही की गई है। कार्यवाही के लिए आई टीम में पर्यावरण विभाग, खनिज विभाग, पुलिस विभाग एवं प्रशासनिक अमले में एसडीएम मौजूद थे। कोतमा नगर पालिका परिषद द्वारा परिषद में एक बिल पेश कर स्कूल तथा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के आसपास संचालित होने वाले क्रेशर के ऊपर कारवाई की शिकायत की गई थी, जिसके बाद दो बार माइनिंग टीम एवं एसडीएम द्वारा क्रेशर का निरीक्षण किया गया था।

मापदंड का नहीं हो रहा था पालन :

खनिज विभाग एवं पर्यावरण विभाग द्वारा संयुक्त रूप से कार्यवाही की गई, जिसमें बताया गया कि संचालित खनिज विभाग और ना ही पर्यावरण के मानक एवं मापदंडों का पालन नहीं करता था। साथ ही क्रेशर के 500 मीटर की परिधि के अंदर स्कूल छात्रावास तथा अस्पताल मौजूद थे, जिसकी शिकायत नगर पालिका परिषद कोतमा द्वारा की गई थी, जहां कलेक्टर द्वारा टीम गठित कर कार्यवाही की गई है, कार्यवाही में संचालित मशीन को सीज कर कार्रवाई की गई है।

कार्यवाही करते विभाग के कर्मचारी
कार्यवाही करते विभाग के कर्मचारीShrisitaram Patel

राजनीति से ओतप्रोत कार्रवाई :

जिस तरह की कार्यवाही कोतमा विधायक के क्रेशर पर की गई है, उसे जनता द्वारा राजनीति से ओतप्रोत बताई जा रही है, बताया जाता है कि बीते दिनों कोतमा विधायक द्वारा पीडब्ल्यूडी विभाग द्वारा भूमि पूजन का कार्यक्रम रखा गया था, जहां कोतमा विधायक और भाजपा नेताओं के बीच तू-तू मैं-मैं हो गई थी तथा कांग्रेस के विधायक ने खुले मंच से भाजपा के इस कार्यक्रम का विरोध किया था वही कोतमा विधायक द्वारा कलेक्टर को फटकार लगाते हुए कहा था कि 'आप कलेक्टर साहब आप अपनी कलेक्टरी करिए', जिसके बाद विधायक मंच से उतर कर चले गए थे। कुछ दिन बाद ही विधायक के क्रेशर पर कार्यवाही कर दी गई और क्रेशर को पूरी तरह सील कर दिया गया।

परिषद ने की थी शिकायत :

नगर पालिका परिषद कोतमा द्वारा अस्पताल तथा स्कूल के आसपास संचालित होने वाले क्रेशर से होने वाले प्रदूषण को लेकर खनिज विभाग से कार्रवाई की मांग की थी। 22 जून 2020 को कोतमा नगर पालिका परिषद द्वारा एक संकल्प पारित किया गया था। जिसमें उल्लेखित था कि कोतमा वॉर्ड नंबर 04 में संचालित क्रेशर के कारण आम जनमानस को आये प्रदूषण के करण तकलीफ होती थी, वही पास में ही सरकारी स्कूल और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र संचालित था, जिसको ध्यान में रखते हुए नपा द्वारा शिकायत किया गया था।

प्रजातंत्र में मेरी आवाज दबाने का किया जा रहा प्रयास: विधायक

इस संदर्भ में जब विधायक सुनील सराफ से बात की गई तो उन्होंने कहा कि क्रेशर का संचालन 15 साल से किया जा रहा था, अचानक से आज खनिज विभाग को कैसे याद आया कि मेरा पैसा अमानक है या उनके मापदंडों का पालन नहीं करता है, यह तो पूरी तरह राजनीतिक से ओतप्रोत कार्यवाही है, अचानक कल रात को मेरा क्रेशर की खदान का लिस्ट खत्म कर दिया गया और आज कार्रवाई कर क्रेशर को सीज कर दिया गया। प्रजातंत्र में विपक्ष या मेरी आवाज को दबाने का प्रयास किया जा रहा है क्योंकि मैंने खुले मंच में इनका विरोध किया था, जिसके फलस्वरूप कलेक्टर द्वारा मेरे क्रेशर पर राजनीति से ओतप्रोत होते हुए कार्रवाई की गई है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co