Anuppur : कौशल विकास के नए अवसरों को भी जोड़ने जिला पंचायत सीईओ ने दिया बल

अनूपपुर : जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी हर्षल पंचोली ने जिला मुख्यालय स्थित पुरानी बस्ती में परिधान गुणवत्ता निरीक्षक/औद्योगिक सिलाई मशीन ऑपरेटर प्रशिक्षण कार्यक्रम का अवलोकन किया।
Anuppur : कौशल विकास के नए अवसरों को भी जोड़ने जिला पंचायत सीईओ ने दिया बल
प्रशिक्षण कार्यक्रम का अवलोकन करते हुएSitaram Patel

अनूपपुर, मध्यप्रदेश। जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी हर्षल पंचोली ने जिला मुख्यालय स्थित पुरानी बस्ती में परिधान गुणवत्ता निरीक्षक/औद्योगिक सिलाई मशीन ऑपरेटर प्रशिक्षण कार्यक्रम का अवलोकन किया। अवलोकन के दौरान एनआरएलएम के जिला प्रबंधक स्किल दशरथ झारिया, लर्नेट स्किल फार लाईफ संस्थान के जिंदल सिंह, प्रशिक्षक मो. सकील, हिमाक्षी तिवारी, चंदन गुप्ता सहित प्रषिक्षणार्थी उपस्थित थे। जिला पंचायत के सीईओ श्री पंचोली ने प्रशिक्षण भवन के काउंसलिंग कक्ष, क्लासरूम, कैन्टीन, प्रशिक्षण कक्ष आदि का अवलोकन किया गया। उन्होंने अवलोकन के दौरान गारमेंट चेकर तथा स्विंग मशीन ऑपरेटर का प्रशिक्षण ले रही महिलाओं से संवाद कर जानकारी प्राप्त की। इस अवसर पर प्रशिक्षण संस्थान द्वारा साप्ताहिक एक्टिविटी के तहत चयनित प्रशिक्षणार्थी सुधा, अर्चना एवं भारती को सम्मानित किया गया। इस अवसर पर प्रशिक्षणार्थियों को प्रशिक्षण किट का भी वितरण किया गया। जिला पंचायत सीईओ श्री पंचोली ने आदिवासी बाहुल्य अनूपपुर जिले में किए जा रहे अनोखे नवाचार की सराहना करते हुए आवश्यक व्यवस्थाएं को और सुदृढ़ करने को कहा गया।

30 अभ्यर्थियों द्वारा लिया जा रहा प्रशिक्षण :

उन्होंने कहा कि कौशल विकास समय की आवश्यकता है। उन्होंने कम्प्यूटर प्रशिक्षण के लिए लैब की स्थापना, प्रशिक्षण संस्थान के बाउण्ड्रीवाल तथा पेयजल उपलब्धता के लिए प्रांगण में बोरवेल कराने की मांग पर आवश्यक पहल करने के संबंध में कहा। उन्होंने कहा कि लर्नेट स्किल फार लाईफ संस्थान द्वारा जिला पंचायत, राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के माध्यम से किए जा रहे कार्यों की सराहना करते हुए कौशल विकास के नए अवसर प्रतिष्ठित करने के निर्देश दिए। वर्तमान में परिधान गुणवत्ता निरीक्षक एवं औद्योगिक सिलाई मशीन ऑपरेटर के 30 अभ्यर्थियों द्वारा प्रशिक्षण लिया जा रहा है, जिन्हें प्रशिक्षण उपरांत प्रतिष्ठित निजी कंपनियों में प्लेसमेंट के प्रयास किए जाएंगे। प्रशिक्षण में चयनित प्रशिक्षणार्थियों को आवासीय सुविधा उपलब्ध कराते हुए निर्धारित प्रशिक्षण देकर कौशल उन्नयन के सार्थक प्रयास किए जा रहे हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co