Anuppur : कार्यक्रम अधिकारी ने रद्दी की टोकरी में डाला लोक सूचना अधिकारी का पत्र
कार्यक्रम अधिकारी ने रद्दी की टोकरी में डाला लोक सूचना अधिकारी का पत्रसांकेतिक चित्र

Anuppur : कार्यक्रम अधिकारी ने रद्दी की टोकरी में डाला लोक सूचना अधिकारी का पत्र

अनूपपुर, मध्यप्रदेश : आवेदक लालदास पटेल व रामलाल साहू के द्वारा वर्ष 2020 में शिकायत की गई थी, जिसके बाद सीईओ के द्वारा जांच व निरीक्षण किया गया था।

अनूपपुर, मध्यप्रदेश। जनपद पंचायत अनूपपुर अंतर्गत ग्राम पंचायत छिल्पा के ग्रामीणों ने विकास की गाथा में भ्रष्टाचार कर रहे लोगों की शिकायत की थी, जिसके बाद तत्कालीन मुख्य कार्यपालन अधिकारी द्वारा जांच व निरीक्षण किया गया था, जिसमें कई विसंगतियां देखने को मिली थी, उस दौरान आवेदक के द्वारा जांच रिपोर्ट व निरीक्षण पंचानामा सूचना के अधिकार के तहत् चाही गई थी। आवेदक लालदास पटेल व रामलाल साहू के द्वारा वर्ष 2020 में शिकायत की गई थी, जिसके बाद सीईओ के द्वारा जांच व निरीक्षण किया गया था।

रद्दी की टोकरी में पत्र :

कार्यालय जनपद पंचायत अनूपपुर के लोक सूचना अधिकारी के द्वारा 25 फरवरी 2021 को कार्यक्रम अधिकारी राकेश आर्य को पत्र लिखते हुए आवेदकों को सूचना के अधिकार के तहत् चाही गई जानकारी उपलब्ध कराने हेतु कहा गया था, लेकिन आज दिनांक- तक यह जानकारी उपलब्ध नही कराई गई, कुल मिलाकर या तो विभागीय मिलीभगत है या फिर कार्यक्रम अधिकारी किसी के पत्र का जवाब देना उचित नही समझते या फिर ऐसे पत्रों को रद्दी की टोकरी में डालकर मनमानी करते हैं।

तो नहीं समाप्त होगा भ्रष्टाचार :

पंचायतों में होने वाले भ्रष्टाचार में सचिव से लेकर उच्चाधिकारी तक शामिल होते है, महज कमीशनों के खेल में मंत्री भी अछूते नहीं होते हैं, यही कारण है कि जनपद में अयोग्य अधिकारी का चुनाव कर लिया जाता है और भ्रष्टाचार को अंजाम दिया जाता है। आवेदकों ने ग्राम पंचायत में हुए भ्रष्टाचार को उजागर करने व आगे ग्राम में विकास को सही स्वरूप मिले इसके लिए लड़ाई लड़ना चाहा, लेकिन विभागीय अधिकारियों के द्वारा कोई साक्ष्य व दस्तावेज आवेदकों को पहुंचने ही नहीं देना चाहते हैं।

ऐसे होते है ग्राम पंचायत में भ्रष्टाचार :

ग्राम पंचायत छिल्पा के सचिव कौशल केवट ने तो मनरेगा योजना को कमाई का जरिया बना लिया है, जॉब कार्ड में कई विसंगतियां कर पैसो का आहरण किसी अन्य के नाम पर करना तो कही ठेकेदारी प्रथा पर कार्य कराने के साथ ही सप्लायरों के नाम पर कमीशन का काला खेल खेलना अब इनके लिए आम बात हो गई है। यही कारण है कि ग्रामीणों को योजनाओं का लाभ न देकर चहेतों को उपकृत करते हुए अधिकारियों को कमीशन की भेंट चढ़ा रहे हैं।

इनका कहना है :

अभी तो दो दिन छिुट्टी है, कार्यालयीन समय पर इस विषय में जानकारी लेता हूं, आवेदक चाहे तो गुरूवार को हमसे आकर मुलाकात कर ले, मामला संज्ञान में लिया जायेगा।

बीएम. मिश्रा, सीईओ, जनपद पंचायत अनूपपुर

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co