Anuppur : तो भाजपा से राधिका होंगी नपा से अध्यक्ष पद की उम्मीदवार

अनूपपुर, मध्यप्रदेश : नगरवासियों के लिए स्मार्ट अनूपपुर बनने का सपना होगा साकार। कांग्रेस व निर्दलीय बहुमत से कोसो दूर, फिर भी संशय बरकरार।
तो भाजपा से राधिका होंगी नपा से अध्यक्ष पद की उम्मीदवार
तो भाजपा से राधिका होंगी नपा से अध्यक्ष पद की उम्मीदवारSitaram Patel
Summary

नगर पालिका परिषद् अनूपपुर में भाजपा के सात पार्षद निर्वाचित होने के बाद तमाम तरह के कयास लगाए जा रहे थे, लेकिन शनिवार को वार्ड क्रमांक-12 से निर्वाचित निर्दलीय पार्षद राधिका जयकिशन बियानी ने भाजपा में शामिल होकर तमाम कयासो पर विराम लगा दिया। इसके बाद से कांग्रेस व निर्दलीय जीते पार्षद जो अध्यक्ष बनने का ख्वाब देख रहे थे वह अब बहुमत से कोसो दूर दिखाई पड़ रहे है वहीं भाजपा को एक कद्दावर अध्यक्ष पद का उम्मीदवार भी मिल गया।

अनूपपुर, मध्यप्रदेश। नगरपालिका अनूपपुर के राजनैतिक इतिहास में जब-जब अध्यक्ष का पद सामान्य हुआ है, तब-तब कुर्सी कांग्रेस में त्रिपाठी परिवार व द्विवेदी परिवार के इर्द-गिर्द रही है। यह पहला अवसर होगा जब दशकों से अनूपपुर शहर को स्मार्ट नगर बनाने का सपना संजोय रहवासियों को एक नया अध्यक्ष मिलेगा, जो नगर के विकास की नई ईबारत लिख भावी पीढ़ी को दिशा दे सकेगा। पहली बार अध्यक्ष प्रणाली से पार्षदों के द्वारा अध्यक्ष चुने जाने के लिए हुए चुनाव में न तो भारतीय जनता पार्टी को पूर्ण बहुमत के बराबर सीटे मिली और कांग्रेस तो तीसरे पायदान तक नहीं पहुंच पाई, ऐसे में निर्णायक भूमिका निर्दलीयों की मानी जा रही थी, लेकिन परिणाम आने के तीन दिन तक लगातार कयासो का दौर चलता रहा और चौथे दिन शनिवार 23 जुलाई को वार्ड नंबर-12 से निर्दलीय विजयी पार्षद श्रीमती सुनीता (राधिका) जयकिशन बियानी के भाजपा में शामिल होने के बाद वह दौर थम गया।

राधिका होंगी योग्य उम्मीदवार :

भारतीय जनता पार्टी में सुनीता (राधिका) जयकिशन बियानी के शामिल होने के बाद अध्यक्ष पद के लिए एक योग्य उम्मीदवार की तलाश पूर्ण हुई। हालांकि यह बिल्कुल तय नहीं है कि भाजपा इन्हे ही अध्यक्ष बनाएगी, लेकिन निर्वाचित पार्षदों की अपेक्षा है कि एक सुयोग्य, शिक्षित, मिलनसार व्यक्ति को नगरपालिका का अध्यक्ष बनाया जाए, तांकि आगामी पांच सालों में वह स्वविवेक निर्णय लेकर नगर के विकास हेतु नए आयाम तय कर सके।

स्मार्ट बनेगा अनूपपुर नगर :

जिला बनने के बाद अनूपपुर पहुंचने वाला कोई भी व्यक्ति शहर को व्यवस्थित नहीं कहता। वजह भी है कि यहां पर जो आवश्यकता है, उसकी पूर्ति आपसी खीचतान में पूर्ण नहीं हो सकी। ऐसा नहीं है कि इसके पहले लोग सोचते नहीं थे और करने की लालसा नहीं रखते थे, लेकिन एक कठोर निर्णय लेने में हमेशा अटकले आ जाती थी। यदि भारतीय जनता पार्टी ने राधिका को अध्यक्ष बनाया तो अनूपपुर नगर स्मार्ट नगर की पहचान आगामी पांच सालों में अवश्य बनाएगा।

नि:स्वार्थ भाव से किया भाजपा का समर्थन :

नगरपालिका परिषद अनूपपुर में पार्षद पदों के निर्वाचन का परिणाम आने के बाद से लगातार अध्यक्ष की कुर्सी पर काबिज होने को लेकर सौदेबाजी के उठते बोल पर विराम लगाने के लिए वार्ड क्रमांक-12 से निर्दलीय निर्वाचित पार्षद सुनीता राधिका बियानी ने स्वयं नि:स्वार्थ भाव से भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता मध्यप्रदेश शासन के खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री बिसाहूलाल सिंह के निज निवास परासी पहुंचकर ली। इसके बाद राज एक्सप्रेस से चर्चा करते हुए उन्होने कहा कि नगर में ऐसी परम्परा न कायम हो कि निर्वाचित पार्षदों पर बिकने के आरोप लगे इस हेतु मैने स्वयं भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता लेने का निर्णय लिया और बगैर किसी पद व लालच के मै भारतीय जनता पार्टी का परिषद में अध्यक्ष बनाने के लिए सहयोग करूंगी।

बिगड़ा निर्दलियों व कांगेस का समीकरण :

भारतीय जनता पार्टी के पार्षदों को संख्या बल में बहुत प्राप्त न होने के बाद निर्दलीय निर्वाचित पार्षद व कांग्रेस के विजयी पार्षदो द्वारा अध्यक्ष बनाने का समीकरण लगाया जा रहा था, लेकिन स्वयं के निर्णय से भाजपा में वार्ड क्रमांक-12 की निर्वाचित निर्दलीय पार्षद राधिका बियानी के शामिल हो जाने के बाद से निर्दलियों व कांग्रेस का समीकरण बिगड़ गया। इतना ही नहीं दूर-दूर तक निर्दलीय व कांग्रेस कोई राग न अलाप सके, इसको लेकर वार्ड क्रमांक-01 की निर्दलीय निर्वाचित पार्षद श्रीमती अंजुलिका सिंह के पति शैलेन्द्र सिंह ने भी भाजपा की सदस्यता ले ली।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co