नरेंद्र गिरी ने कंप्यूटर बाबा के आश्रम के खिलाफ हुई कार्रवाई का किया समर्थन

भोपाल, मध्यप्रदेश : अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरी महाराज ने कंप्यूटर बाबा के आश्रम के खिलाफ हुई कार्रवाई काे सही बताया है।
नरेंद्र गिरी ने कंप्यूटर बाबा के आश्रम के खिलाफ हुई कार्रवाई का किया समर्थन
अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरी ने कहाSocial Media

भोपाल, मध्यप्रदेश। इन दिनों इंदौर के चर्चित कंप्यूटर बाबा उर्फ नामदेव दास त्यागी का मुद्दा सियासी जगत में तेजी से गरमाया हुआ है, बता दें कि मध्यप्रदेश के इंदौर में कंप्यूटर बाबा के आश्रम को जिला प्रशासन द्वारा तोड़े जाने की कार्रवाई काे अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरी महाराज ने सही बताया है और इसके लिए अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरी ने शिवराज सरकार को धन्यवाद दिया।

कम्प्यूटर का नाम ही अजीबोगरीब है : नरेंद्र गिरी

अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरी ने कहा कि कंप्यूटर बाबा उर्फ नामदेव दास त्यागी का नाम ही अजीबोगरीब है। अवैध कब्जा कर अपने लिए सुविधाजनक आलीशान भवन बनाया, यह कार्य निंदनीय है। कोई भी संत इस कार्य का समर्थन नहीं करेगा। इसके साथ ही इस तरह के जहां भी अतिक्रमण हैं उन पर भी कार्रवाई की जाना चाहिए, अखिल भारतीय अखाड़ा ने कहा कि उनका आचरण संतों के विपरीत है, अंत में यही कहूंगा, जैसी करनी वैसी भरनी।

अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरी महाराज ने कंप्यूटर बाबा के आश्रम के खिलाफ हुई कार्रवाई का समर्थन किया है। नरेंद्र गिरी ने कहा कि कंप्यूटर बाबा ने गौशाला की जमीन पर आधुनिक महल बना रखा था, वहीं उनके आश्रम में बहुत सी अमर्यादित वस्तुएं मिली हैं, जो संतों के पास नहीं होनी चाहिए। कंप्यूटर अपने फायदे के लिए राजनीति दामन बदलता रहता था, उसकी कार्यशैली से नाराज होकर दिगम्बर अखाड़ा ने उसे बाहर कर दिया था, हालांकि बाद में उन्हें शामिल किया गया था।

आज सुबह इंदौर विकास प्राधिकरण की योजना 151 में शामिल लगभग पांच करोड़ रुपए मूल्य की 20 हजार वर्ग फीट जमीन से अतिक्रमण हटाया गया। कंप्यूटर बाबा ने अपने कथित राजनैतिक रसूख के चलते हाल के वर्षों में इंदौर जिले के अलावा राज्य में अनेक स्थानों पर इसी तरह आश्रम और अन्य स्थल बनाए हैं, बाबा के इन सभी ठिकानों की प्रशासनिक स्तर पर जांच करवायी जा रही है। इस बीच संत समुदाय से जुड़े अनेक साधुओं ने प्रशासन की इस कार्रवाई की सराहना करते हुए कहा कि कानून के ऊपर कोई नहीं हो सकता है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co