Raj Express
www.rajexpress.co
सड़क का निर्माण
सड़क का निर्माण|Afsar Khan
मध्य प्रदेश

शहडोल: एटकॉन कम्पनी बना रही अमलाई से अनूपपुर की सड़क

शहडोल, मध्यप्रदेश : एटकॉन कम्पनी द्वारा हो रहा जिले के ग्राम बकहो से होकर गुजरने वाली एनएच-43 से अनूपपुर जिला मुख्यालय तक की सड़क का निर्माण।

Afsar Khan

राज एक्सप्रेस। शहडोल में एटकॉन कम्पनी द्वारा जिले के ग्राम बकहो से होकर गुजरने वाली एनएच-43 से अनूपपुर जिला मुख्यालय तक की सड़क का निर्माण कराया जा रहा है, करोड़ों की लागत की यह सड़क कई माह पहले बनकर तैयार हो जानी थी, लेकिन सरकारी फंड आवंटित न होने का रोना रोकर निर्माण एजेंसी किनारा करती रही।

इधर बीते माह भर से एक बार फिर कम्पनी ने निर्माण कार्य शुरू किया, लेकिन हो रहे निर्माण कार्य को देखकर ऐसा लगता है कि कम्पनी अधिक से अधिक मुनाफा कमाने के फेर में है, यही नहीं मुनाफे के इस कारोबार में कथित कम्पनी के स्थानीय जिम्मेदार योगेन्द्र सिंह और मेजर आदि ने एमपीआरडीसी के आरई आर.बी.सिंह को भी साथ में मिला लिया है, जिस कारण विभाग का कोई भी अधिकारी निर्माणाधीन सड़क को देखने तक नहीं पहुंच रहा है।

अनूपपुर की सड़क
अनूपपुर की सड़क
Afsar Khan

राजमिस्त्री बना रहे सड़क

एमपीआरडी द्वारा जिस कम्पनी को यह काम दिया गया है, नियमत: सड़क निर्माण के लिये कॉमपेक्टर नामक मशीन का उपयोग होना चाहिए, पूर्व में जब निर्माण हो रहा था तब मशीन का उपयोग किया जा रहा था, लेकिन बीते सप्ताह भर से मशीन को विद्युत कालोनी स्थित रेस्ट हाउस के ठीक सामने खड़ा कर दिया गया है और मिक्चर प्लांट से ट्रकों में भरकर मिक्चर सड़क पर डाला जा रहा और इसके बाद जेसीबी मशीन के साथ आधा दर्जन राजमिस्त्री हाथ में कन्नी और लकड़ी की फंटी लेकर करोड़ों की सड़क की बुनियाद डाल रहे हैं।

सड़क का निर्माण
सड़क का निर्माण
Afsar Khan

जुगाड़ में हर कायदे शून्य

जुगाड़ के फेर में एमपीआरडीसी के आर.बी.सिंह नामक कथित अधिकारी और एटकॉन कम्पनी के दोनों जिम्मेदारों ने मनमानी की हदें लांघ दी हैं, पूर्व में भी मिक्चर को लाने के लिये जिस कॉमपेक्टर का उपयोग करना चाहिए, उसे तो कभी सड़क पर देखा ही नहीं गया, लेकिन अमरकंटक ताप विद्युत गृह कालोनी से होकर गुजरने वाले डेम से प्रभावित सड़क को राजमिस्त्रियों के माध्यम से बिना कॉमपेक्टर के ही निर्माण किया जा रहा है, यही नहीं कॉम्पेक्टर न होने के स्थान पर वाइब्रेटर तक का उपयोग नहीं हो रहा है, पूरी तरह कायदों को दरकिनार कर मुनाफे पर ध्यान केन्द्रित कर दिया गया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।