Raj Express
www.rajexpress.co
पूरा देश अलर्ट पर
पूरा देश अलर्ट पर|Neha Srivastava- RE
मध्य प्रदेश

पूरा देश अलर्ट पर, सोशल मीडिया पर भी प्रशासन की पैनी नजर

भोपाल, मध्यप्रदेश : अयोध्या मुद्दे पर आने वाले फैसले को लेकर संपूर्ण शहर में विशेष सुरक्षा व्यवस्था के साथ प्रशासन अलर्ट पर है, सुरक्षा के लिए व्यापक स्तर पर नाकाबंदी-वाहन चैकिंग शुरू कर दी गई है।

Priyanka Yadav

Priyanka Yadav

राज एक्सप्रेस। अयोध्या मुद्दे पर आने वाले फैसले को लेकर संपूर्ण शहर में विशेष सुरक्षा व्यवस्था के साथ प्रशासन अलर्ट पर है। सुरक्षा के लिए व्यापक स्तर पर नाकाबंदी और वाहन चैकिंग शुरू कर दी गई है। फैसले को लेकर जिले के आला अधिकारियों सहित धर्म समाज के लोगों ने शहरवासियों से शांति और सौहार्द बनाए रखने की अपील की है। निकट भविष्य में साम्प्रदायिक सौहार्द और कानून व्यवस्था की स्थिति बनाए रखने और किसी भी प्रकार की आकस्मिक स्थिति से निपटने के लिेए समुचित कदम उठाए जाएं ।

ये निर्देश संभागायुक्त ने संभाग के सभी कलेक्टरों को दिए

ये निर्देश संभागायुक्त कल्पना श्रीवास्तव ने संभाग के सभी कलेक्टरों को दिए हैं। कमिश्नर ने मध्यप्रदेश शासन गृह विभाग द्वारा जारी एडवाइजरी का हवाला देते हुए कहा है कि, अयोध्या प्रकरण के संबंध में उच्चतम न्यायालय की संविधान पीठ द्वारा निकट भविष्य में संभावित निर्णय के परिप्रेक्ष्य में सांप्रदायिक सौहार्द और कानून व्यवस्था बनाए रखें। गृह विभाग के जारी आदेश में स्पष्ट किया है कि-

  • कलेक्टर्स जिले में शांति समिति की बैठक आयोजित करें और संवेदनशील क्षेत्रों तथा ऐसे व्यक्तियों पर निगरानी भी रखें, जो कानून व्यवस्था भंग करते हों।

  • उन्होंने सोशल मीडिया पर भी धार्मिक भावनाओं को भड़काने वाले मैसेज पोस्ट पर भी सूक्ष्म निगाह रखने कहा है।

  • सभी जिलों में आपात सेवाओं का समुचित प्रबंध और अति आवश्यक सेवाओं की आपूर्ति बनाए।

  • सभी विभागों के अधिकारियों को सतर्कता और उपस्थिति सुनिश्चित करने के निर्देश भी दिए गए हैं।

एसडीएम ने शांति व्यवस्था रखने की दी समझाईश

हुजूर एसडीएम राजेश श्रीवास्तव ने फंदा ब्लॉक के सभी सरपंच और सचिव के साथ ग्रामीण क्षेत्रों में शांति और कानून व्यवस्था बनाए रखने को लेकर बैठक ली। जिला पंचायत कार्यालय में हुई इस बैठक में उन्होंने सभी को अपने आसपास के लोगो के साथ बातचीत करने और समन्वय बनाने के निर्देश दिए गए। इसके साथ ही यदि आस पास कोई संदिग्ध गतिविधियां मालूम होती है तो उसकी जानकारी तुरंत संबंधित मजिस्ट्रेट और कंट्रोल रूम को देने की अपील की गई।

संयम व शांति का दामन न छोड़ें

बाबरी मस्जिद-रामजन्म भूमि विवाद पर आने वाले फैसले को लेकर कौमी फिक्रमंदों ने अपनी तरफ से हर फैसले को अल्लाह की रजा और हिन्दूवादी नेताओं ने ईश्वर का आदेश मानते हुए स्वीकार करने की बात कही है। हर धर्म के धर्मावलंबियों ने किसी भी हालात में अमन, शांति और भाईचारे की डोर बंधी रहने की अपील की है।

शांत का गहवारा है प्रदेश

आरएसएस से संबद्ध अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के राष्ट्रीय सह संगठन मंत्री प्रफुल्ल अकाल ने कहा है कि शहर और प्रदेश की गंगा-जमुनी तहजीब, रिवायत और शांति के गहवारा कहे जाने वाले प्रदेश में किसी भी बात को लेकर आपसी रिश्ते खराब न होने की कोशिश की जाना चाहिए। सभी धर्मो के लोग चाहते हैं कि माहौल सुकून भरा बना रहे और किसी तरह के साम्प्रदायिक फसाद से नुकसान लोगों को न देखना पड़े। प्रफुल्ल अकाल ने आश्वस्त किया कि वे इस बात का ख्याल रखेंगे कि हिन्दूवादी विचारधारा रखने वाले लोग संयम और शांति का दामन न छोड़ें।

एक साथ आए सभी धर्मगुरु-व्यापारी संघ

जिले की अमन शांति के लिए सभी धर्मो के गुरुओं और प्रतिनिधियों ने एक स्वर में कहा कि पूरी दुनिया की निगाह हम पर लगी हैं। सुप्रीम कोर्ट जो भी निर्णय देता है उसे स्वीकार करेंगे। देश का सम्मान और हमारी परंपरा गंगा जमुना संस्कृति से हम सब उस निर्णय को स्वीकार करेंगे। कलेक्टर तरुण पिथोड़े ने कहा कि जिले में सुप्रीम कोर्ट का अयोध्या के संबंध में जो निर्णय आने वाला है उसके लिए हम सब तैयार रहे और उसको स्वीकार करे सभी बाजार खुले रहें, सब काम सामान्य रूप से करें, कहीं भी तनाव निर्मित ना होने दें, कुछ भी असामान्य दिखता है तो उसकी सूचना प्रशासन को अवश्य दें।

सुरक्षा के सभी इंतज़ाम

  • डीआईजी ईरशाद वली ने कहा कि सुरक्षा के सभी इंतज़ाम किए गए हैं। जगह जगह सुरक्षा के लिये कैमरे से भी मॉनिटरिंग की जा रही है।

  • सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने वालों के विरुद्ध भी सायबर सेल एक्टिवेट कर दिया गया है।

  • इसके साथ ही पुलिस की सोशल मीडिया टीम ने दो मोबाइल नंबर 7804033795 और 7805914907 जारी किए हैं।

  • कोई भी ऐसी सूचना और चित्र भेजे जा रहे हैं तो इस नंबर पर भेज दे इसके साथ ही सभी सोशल मीडिया ग्रुप मे भी इस नंबर को जोड़ ले, कुछ भी गलत पोस्ट आने पर उसे रोका जा सके और कार्यवाही की जा सके।

  • बैठक में शहर काजी और अन्य मुस्लिम प्रतिनिधियों ने कहा कि आज जुमे की नामाज के बाद 5 लाख से अधिक लोगों को भाई-चारे के साथ इस निर्णय को स्वीकार करने के लिए कहा है।

  • साथ ही नमाज में यह दुआ भी की गई कि हमारे देश मे अमन शांति कायम रहे और देश तरक्की करे।

बैठक में सामाजिक और व्यापारिक संगठनों ने कहा कि-

"हम समाज मे अमन शांति के लिये ही कार्य कर रहे हैं। हर समाज का प्रतिनिधित्व करने वाले लोगो की मंशा है कि हम हर निर्णय को माने और सुकून चैन से रहे हम सब परिवार का हिस्सा है और उसकी तरक्की उन्नति के लिए मिलकर रहे और काम करे।"

कायम रखें भाईचारे के रिश्ते: मंसूरी समाज

ऑल इडिया मंसूरी समाज ने देश और शहर-ए-भोपाल के बाशिंदों से गुजारिश की है कि, फैसले के मद्देनजर बन रहे संशय के हालात से बाहर आएं। हम जिस गंगा-जमुनी तहजीब को अब तक जीते आए हैं, उसी में खुद को भिगोए रखेंगे तो यही हमारा देश, अपने शहर,अपने मजहब और अपने पूज्यनीय के लिए हमारा नजराना होगा, फैसला जो भी आए, उसे अल्लाह की रजा मानकर कुबूल करें और आपसी भाईचारे के रिश्तों को कमजोर न होने दें। उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया और आम चर्चाओं में फैलने वाली किसी भी तरह की अफवाहों पर ध्यान न दें और ऐसे काम को आगे बढ़ाने वालों के खिलाफ तत्काल पुलिस प्रशासन को सूचना दें।

सोशल साइट्स पर पुलिस की पैनी नजरें

आज अयोध्या का फैसला आना संभावित है। जिसे देखते हुए पुलिस ने शहर में एक्टिवेट तमाम वाट्सऐप ग्रुप और फेस बुक, ट्वीटर, इंस्टाग्राम सहित तमाम सोशल साइट्स पर नजरें रखना शुरू कर दिया है। पुलिस के तमाम आला अधिकारी स्वयं शहर के माहौल पर नजरें बनाए हुए हैं।

पुलिस का कहना है कि-

किसी भी प्रकार की भड़काऊ पोस्ट को शेयर करने वाले को नहीं छोड़ा जाएगा। किसी भी तरह से राजधानी की फिजा में जहर घोलने का प्रयास करने वाले को नहीं बक्शा जाएगा।

शहर की नाकाबंदी, चैकिंग जारी

अयोध्या पर फैसले को लेकर संपूर्ण शहर में व्यापक स्तर पर नाकाबंदी और वाहन चैकिंग शुरू कर दी गई है। नाकाबंदी में जिला बल, एसएएफ, होमगार्ड, एसपीओ समेत कुल 4615 अधिकारी व कर्मचारी शामिल हुए हैं। एडीजी-आईजी भोपाल जोन आदर्श कटियार और डीआईजी इरशाद वली के निर्देश पर विभिन्न स्थानों पर नाकाबंदी कर संदिग्ध लोगों व वाहनों की चैकिंग की जा रही है। बस स्टैंड व रेलवे स्टेशन के अलावा शहर की होटलों, धर्मशालाओं, लॉजों, सराएखानों व मुसाफिर खानों आदि की चैकिंग की जा रही है।

हर सूरत में फैसले का ऐहतमाम करें: शहर काज़ी

मसाजिद कमेटी के सचिव एसएम सलमान ने बताया कि, शहर काजी सैय्यद मुश्ताक अली नदवी साहब की जानिब से यह अपील की गई है कि, हो सकता है कि फैसला हमारे हक में आए और यह भी हो सकता है कि हमारे खिलाफ आए, दोनों सूरतों में अदालत के फैसले का ऐहतराम करना है। मुसलमानों के हक में फैसला हो जाने की सूरत में किसी भी प्रकार का जश्न नहीं मनाना है और अगर खुदा न खास्ता फैसला हमारे खिलाफ हो तो भी कोई हंगामा व मुजाहिरा नहीं करना है। हर सूरत में सुप्रीम कोर्ट के फैसले का ऐहतराम करना है ताकि मुल्क व कानून का वकार बाकी रहे। अफवाहों पर बिल्कुल ध्यान न दें बल्कि सब्र व तहमुम्म और बर्दाश्त से काम लेना है। अल्लाह की मदद सब्र करने वालों के साथ होती है। साथ ही दुआओं का खूब एहतिमाम करें।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।