बरही : दादी की थमी सांस, शालिनी नहीं बनी दुल्हन
अस्पताल में हादसे में हुए घायल लोगAjay Verma

बरही : दादी की थमी सांस, शालिनी नहीं बनी दुल्हन

बरही, मध्य प्रदेश : ग्राम गोहपारु से उचेहरा शादी के लिए जा रही बस महरोई बस स्टेण्ड के पास करीब 5 बजे सुबह अनियंत्रित होकर पलट गई। हादसे में लगभग सभी को गंभीर चोटें आई।

बरही, मध्य प्रदेश। शहडोल जिले के ग्राम गोहपारु से सतना जिले के उचेहरा शादी के लिए जा रही बस बरही तहसील से लगभग 15 किमी दूर महरोई बस स्टेण्ड के पास करीब 5 बजे सुबह अनियंत्रित होकर पलट गई। हादसे में लगभग सभी को गंभीर चोटें आई हैं जिसमें दुल्हन की दादी रामबाई गुप्ता उम्र 65 वर्ष की घटना स्थल पर ही मौत हो गई। शेष घायलों को बरही सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में प्राथमिक उपचार के बाद कटनी जिला चिकित्सालय के लिये रिफर कर दिया गया है।

जानकारी के अनुसार गोहपारु शहडोल निवासी अशोक गुप्ता की बेटी शालिनी गुप्ता का विवाह उचेहरा में दिनांक 26/11/2020 को तय हुआ था, व्यवस्थानुसार लड़की वाले अपने स्वयं के वाहन से उचेहरा के लिये सुबह 3 बजे निकले लेकिन महरोई बस स्टेण्ड के करीब मोड़ के पास बस अनियंत्रित होकर पलट गई।

घटना की जानकारी ग्रामीणों को लगते ही तत्काल मौके पर पहुंच कर एम्बुलेंस व अन्य साधन की व्यवस्था बना घायलों को बरही स्वास्थ्य केन्द्र में लाया गया।

बीएमओं राममणि पटेल अपने स्टाफ के द्वारा यथा उचित व्यवस्था बनाते हुये घायलों का उपचार प्रारंभ किया गया, घायलों की संख्या में इजाफा देख बरही नगर के चिकित्सक जिनमें डाॅ. जगदीश गुप्ता एवं डाॅ. आर. डी. जायसवाल ने भी अपना अभूतपूर्व योगदान दिया।

अस्पताल 30 का व्यवस्था 03 की भी नहीं :

कटनी जिले की विकसित तहसील मानी जाने वाली बरही में कहने को तो 30 बिस्तर वाला सुव्यवस्थित हास्पिटल है लेकिन व्यवस्था में देखा जाये तो इस अस्पताल में महज 3 मरीजों की भी व्यवस्था नहीं है। प्रायः देखने में आया है कि उक्त अस्पताल में न तो पलंग में बिछाने के गद्दे हैं, न तकिया और कंपकपा देने वाली ठंड में कंबल की व्यवस्था भी नहीं है। डाॅ. राममणि पटेल से जानकारी ली गई तो उनके कथनानुसार जितनी मांग की जाती है उसकी पूर्ति नहीं हो पाती है। सबसे महत्तवपूर्ण बात तो यह है कि इतने बड़े अस्पताल में सफाईकर्मी तक का टोटा है । कुल मिलाकर अस्पताल की व्यवस्था भगवान भरोसे है।

समाजसेवियों का रहा अभूतपूर्व योगदान :

सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र बरही की चरमराई व्यवस्था एवं घायलों की संख्या में बढोत्तरी देख नगर के समाजसेवियों ने अपना योगदान देते हुये स्थितियों पर नियंत्रण रखा। अजय वर्मा (प्रदेश सचिव) मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी, आईटी सेल के द्वारा घायलों को ठंड से बचाव हेतु कंबल व चाय की व्यवस्था की गई। समाजसेवियों में प्रमुख रुप से मुनेश्वर गुप्ता, नंदू गुप्ता, बृजेष गुप्ता, कृष्णकांत ताम्रकार, प्रभाकर तिवारी, विपिन सोनी, संतोष गुप्ता आदि का महत्तवपूर्ण योगदान रहा। नगर निरीक्षक संदीप अयाची का भी योगदान रहा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co