Raj Express
www.rajexpress.co
स्वच्छता की नई मिसाल
स्वच्छता की नई मिसाल|Raju Pawar
मध्य प्रदेश

बैतूलः सफाई अभियान में जुटी ये बड़ी अधिकारी

बैतूलः जब बात अपने शहर की स्वच्छता की आती है तो बड़े अधिकारी भी अपने हाथ में झाड़ू थाम ही लेते हैं। ऐसी ही मिसाल पेश की शहर की सीएमओ प्रियंका सिंह ने।

Raju Pawar

बैतूल। यह शहर मेरा है सफाई मैं करूंगी-जैसी भावपूर्ण बातें बोलकर शहर की सड़कों पर निकल आई सीएमओं प्रियंका सिंह ने सभी को चौंका दिया। किसी ने सोचा नहीं था कि एक महिला अधिकारी अपने कर्मचारियों को लेकर शहर की सफाई करने सड़कों और गलियों में पहुंचेंगी।

सफाई कामगारों के हड़ताल पर जाने से बिगड़ी थी स्थिति:

गौरतलब है कि 9 सितंबर से नगर के सफाई कामगारों के हड़ताल पर चले जाने से शहर की सफाई व्यवस्था बिगड़ गई थी। परंतु नगर पालिका की सीएमओ प्रियंका सिंह ने परिस्थिति को चुनौती मानकर शहर की सफाई व्यवस्था की बागडोर अपने हाथ में ली। इस अभियान में नपा ऑडिटर बंटी वासनिक मुख्य सहयोगी की भूमिका में रहे।

कांग्रेसी पार्षदों और अधिकारियों ने निभाई सहभागिताः

इस अनोखी पहल पर भागीदार बनने परिषद के भाजपाई पार्षद ही नहीं बल्कि कांग्रेसी पार्षदों ने भी सहभागिता निभाई। वही नगरवासी भी इस जाबांज सीएमओं की सराहना करने से नहीं चूके। हालांकि अन्य कर्मचारियों में एई श्री अग्रवाल, उपयंत्री नगेन्द्र वागद्रे, अधीक्षक वरकड़े, एकाउंटेंट अंशुल अग्रवाल, स्वच्छता निरीक्षक संतोष धनोलिया, सुभाष प्रजापति ,मदन विनोदकर, मोहन वर्मा, प्रवीण सिंह, अखिलेश चौहान, श्री पाल बाबू सहित लगभग सभी नपाकर्मी शामिल रहे।

राज्य सफाई आयोग के पास शिकायत लेकर पहुंचे सफाईकर्मी:

इस संबंध में सफाईकर्मी राज्य सफाई आयोग के पूर्व उपाध्यक्ष की शरण में पहुंचे लेकिन बात नहीं बनी। उन्होंने नपाध्यक्ष अलकेश आर्य से मदद की गुहार की। अलकेश आर्य के साथ उनके कक्ष में आयोग के पूर्वउपाध्यक्ष सूरज खरे भी मौजूद थे लेकिन नतीजा नहीं निकल सका। आयोग 13 सितंबर की उक्त बैठक में सफाई कामगारों की मांगों को सीधे स्वीकार कराने का दबाव बनाते रहे। अंतत: जब स्थिति बनी नहीं तब लिखित आश्वासन पत्र पर ही आंदोलन को खत्म करना पड़ा।

सीएमओ ने सफाईकर्मियों से करनी चाही थी बात:

जानकारी के मुताबिक 8 सितंबर को जब सीएमओ के सामने सफाई कामगारों ने अपनी मांगो को लेकर हड़ताल पर जाने की धमकी भरी सूचना दी। जिस संबंध में सीएमओ ने सफाई कामगारों से बात करनी चाही थी लेकिन दूसरे दिन 9 सिंतबर को सफाई कामगार हड़ताल पर बैठ गए।

आवश्यकता अनुसार जारी रहेगा अभियान:

सफाई कामगारों की हड़ताल समाप्त होने के बाद उन्होंने शनिवार से सफाई का काम संभाल लिया है लेकिन सीएमओ प्रियंका सिंह की अगुवाई में शनिवार को सभी नपाकर्मचारी सफाई अभियान में जुटे रहे और नपा स्वच्छता निरीक्षक संतोष धनोलिया ने आवश्यकता अनुसार सफाई अभियान चलते रहने की जिम्मेदारी ली।

सासंद भी सीएमओ के पक्ष से सहमत थे:

इस मामले को लेकर क्षेत्रीय सांसद डीडी उईके भी नगर पालिका पहुंचे और सभी बिन्दुओं पर चर्चा करने के उपरांत उन्होंने सीएमओ के पक्ष को सुना और सहमति दर्ज की।