बैतूल: अमानवीयता की हद पार, अस्पताल के गेट पर महिला ने दिया बच्चे काे जन्म

बैतूल, मध्यप्रदेश: जिला अस्पताल के गेट पर एक महिला ने बच्चे को जन्म दिया, जहां जननी एक्सप्रेस का ड्राइवर उसे गेट पर छोड़ कर ही चला गया था।
बैतूल: अमानवीयता की हद पार, अस्पताल के गेट पर महिला ने दिया बच्चे काे जन्म
अस्पताल के गेट पर महिला ने दिया बच्चे काे जन्मDeepika Pal-RE

बैतूल, मध्यप्रदेश। प्रदेश में कोरोना महामारी का प्रकोप जहां संक्रमण के मामलों के साथ कम और ज्यादा होता जा रहा है वहीं दूसरी तरफ संक्रमण काल के बीच कई अप्रत्याशित घटनाएं सामने आती जा रही है इस बीच ही जिले से एक खबर सामने आईं जहां जिला अस्पताल के ट्रॉमा सेंटर के गेट पर एक महिला ने बच्चे को जन्म दिया, बताया जा रहा है कि, जननी एक्सप्रेस का ड्राइवर उसे गेट पर छोड़ कर ही चला गया था। घटना के बाद कार्रवाई हुई है।

क्या है पूरा मामला

मिली जानकारी के अनुसार, यह घटना बैतूल जिले की है जहां अस्पताल के गेट पर महिला ने नवजात शिशु को जन्म दिया। बताया जा रहा है कि, जननी एक्सप्रेस का ड्राइवर महिला को तड़पता हुआ गेट पर ही छाेड़ गया। वहां ना गार्ड था, ना ही काेई वार्ड बाॅय जाे महिला काे भीतर ले जाता। महिला की डिलीवरी गेट पर ही हाे गई। जहां खून से लथपथ जच्चा-बच्चा को आसपास के लोगों ने देखा तो हंगामा किया जिसके बाद जच्चा और बच्चा को वार्ड में भर्ती कराया गया। बता दें कि, महिला 40 किमी दूर बोड़ी गांव की रेखा बाई जननी एक्सप्रेस से मां मुन्नी बाई के साथ जिला अस्पताल पहुंची थी।

सवाल उठने के बाद अस्पताल प्रबंधन ने की कार्रवाई

इस संबंध में, घटनाक्रम के बाद जिले अस्पताल की स्वास्थ व्यवस्था को लेकर सवाल उठने लगे तब अस्पताल प्रबंधन के कार्रवाई करते हुए सीएमएचओ डाॅ. प्रदीप धाकड़ ने अस्पताल के गार्ड को हटा दिया तो वहीं आशा कार्यकर्ता और जननी एक्सप्रेस ड्राइवर को भी नोटिस दे दिया। कहा कि, सुबह सिविल सर्जन और सीएमएचओ के संज्ञान में आया। उन्होंने प्रसव वार्ड पहुंचकर मामले की जानकारी ली। इसके बाद सिविल सर्जन डॉ. अशोक बारंगा ने ड्यूटी पर नदारद रहने वाले गार्ड को हटाने की कार्रवाई की गई है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co