भिण्ड : चंबल व सिंध नदी का फिर बढ़ने लगा जल स्तर
भिण्ड : जिले में चंबल और सिंध नदियाँ पूरे उफान पर है। राज एक्सप्रेस, संवाददाता।

भिण्ड : चंबल व सिंध नदी का फिर बढ़ने लगा जल स्तर

नदी के प्रवाह ने 150 गांव तबाह कर दिये हैं, जिनके ऊपर छत भी नहीं बची, ऊंचाई वाले इलाकों में पहुंचकर ट्रैक्टर-ट्रॉलियों में पन्नी बांधकर जीने का प्रयास कर रहे हैं भोजन की व्यवस्था भी नहीं हो पा रही है।

हाइलाइट्स :

  • सहायक नदियां फिर उफान पर होने से प्रशासन ने किया अलर्ट।

  • रविवार की सुबह जलसंसाधन विभाग द्वारा लिए गए जलस्तर को बढ़ा हुआ पाया, जलस्तर 122.80 मीटर पहुंचा।

  • बाढ़ से अभी लोग उभरे भी नहीं फिर बढ़ने लगी धड़कनें, कहीं फिर से गांव में न आ जाए पानी।

भिण्ड, मध्य प्रदेश। चंबल व सिंध नदी ने लगभग 150 गांव तबाह कर दिये हैं, जिनके ऊपर छत भी नहीं बची, ऊंचाई वाले इलाकों में पहुंचकर ट्रैक्टर- ट्रॉलियों में पन्नी बांधकर जीने का प्रयास कर रहे हैं लोगों को भोजन की व्यवस्था भी नहीं हो पा रही है और फिर से नदियों का जल स्तर बढ़ने से लोगों धड़कने तेज होने लगी है जिले में चंबल और सिंध नदियों पूरे उफान पर है। सिंध नदी का जलस्तर पिछले 12 घंटे में एक मीटर बढ़ा है।

इधर चंबल नदी पिछले तीन दिन से अटेर किले की घेराबंदी किए हुए है। यह दोनों नदियों के साथ ही क्वारी उफान मार रही है। पहूंज नदी का जलस्तर सामान्य से अधिक बना हुआ। बीते मंगलवार से जिले में सिंध नदी तबाही मचाए हुए है।

यह नदी 5 किलोमीटर तक एरिया को कबर करके बह रही थी। अब यह जलस्तर घटा है परंतु डैंजर प्वाइंट से ऊपर बनी हुई है। शनिवार की शाम 7 बजे सिंध नदी का जलस्तर मेंहदा घाट पर 121.40 मीटर था। वहीं रविवार की सुबह जलसंसाधन विभाग द्वारा लिए गए जलस्तर को बढ़ा हुआ पाया। यहां जलस्तर 122.80 मीटर हो चुका है।

चंबल नदी का जल स्तर पिछले 12 घंटे में 0.5 मीटर उछला :

चंबल नदी का देखने को मिल रहा है। चंबल नदी पिछले तीन दिनों से एक दर्जन गांव वासियों को घर छोड़ने पर मजबूर किए हुए हैं। यह नदी का जलस्तर पिछले 12 घंटे में 0.5 मीटर उछला है। यह जल स्तर शनिवार की शाम को 126.04 मीटर से रविवार की सुबह तक 126.74 मीटर पर पहुंच गया है। इस तरह आधा मीटर से ज्यादा जलस्तर बढ़ चुका है। इसके बाद सुबह 10 बजे जलसंसाधन विभाग ने जारी बुलेटिन में 126.84 मीटर बताया है। इसी तरह से सुबह 10 बजे की रिपोर्ट में सिंध का जलस्तर 12.80 मीटर हो चुका है।

इनका कहना है :

लगातार बारिश हो रही है। दोनों ही नदियों की सहायक नदियों का जलस्तर बढ़ा है परंतु धीरे-धीरे जलस्तर गिरेगा। अब बाढ़ की आशंका नहीं है। सिंध और चंबल, दोनों ही नदियां अभी खतरे के निशान से ऊपर है। किन्तु जल्द ही जलस्तर गिरेगा।

नरेश पाल सिंह, कार्यपालन यंत्री, जलसंसाधन विभाग, भिण्ड

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.