Bhopal Collector order for Screening campaign to high risk person
Bhopal Collector order for Screening campaign to high risk person|Kavita Singh Rathore -RE
मध्य प्रदेश

कलेक्टर के आदेश पर भोपाल में चलाया जाएगा स्क्रीनिंग अभियान

भोपाल कलेक्टर पिथोडे ने हाई रिस्क वाले लोग जैसे, गैस पीड़ित और उम्र दराज लोगों की स्क्रीनिंग का अभियान चलाने के आदेश दिए हैं। साथ ही सभी गैस राहत अस्पतालों में ओपीडी की अलग से जांच के आदेश भी दिए।

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

राज एक्सप्रेस। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में बढ़ते कोरोना पोसिटिव मामलों को देखते हुए भोपाल के कलेक्टर तरुण कुमार पिथोड़े ने कल देर रात हुई बैठक के बाद हाई रिस्क वाले लोगों जैसे, गैस पीड़ित और उम्र दराज या 60 साल से अधिक उम्र के लोगों की स्क्रीनिंग का अभियान चलाने के आदेश दिए है। साथ ही सभी गैस राहत अस्पतालों में ओपीडी की अलग से जांच के आदेश भी दिए। इन आदेशों का पालन करते हुए जल्द ही भोपाल में गैस पीड़ितों और 60 साल से अधिक उम्र के व्यक्तियों के लिए सभी गैस राहत अस्पतालों में स्क्रीनिंग करने का अभियान चलाया जाएगा।

भोपाल कलेक्टर के निर्देश :

दरअसल, खबरों के अनुसार ऐसा माना जा रहा है कि, भोपाल में रह रहे गैस पीड़ितों को कोरोना संक्रमण का सबसे ज्यादा खतरा है, क्योंकि ऐसे लोगों का इम्यून सिस्टम नार्मल लोगों की तुलना में काफी कमजोर है और यह किसी ना किसी बीमारी से पीड़ित रहते हैं। इसलिए, भोपाल कलेक्टर तरुण पिथोड़े ने निर्देश जारी करते हुए कहा है कि,

"ऐसे लोगों के लिए आवश्यक है कि, उन सभी व्यक्तियों को स्क्रीनिंग कराई जाये। सर्दी खांसी बुखार के मरीजों की सैंपलिंग हो इसके लिए सभी के गैस राहत अस्पतालों को इसके लिए अधिकृत किया गया है । इन सभी गैस पीड़ितों का डेटा BHM RC और राष्ट्रीय पर्यावरण स्वास्थ संस्थान उपलब्ध कराएगा।"

तरुण कुमार पिथोड़े, भोपाल कलेक्टर

सभी गैस राहत अस्पतालों में ओपीडी की जांच :

हाई रिस्क वाले लोगों की स्क्रीनिग अभियान चलने के साथ ही भोपाल कलेक्टर तरुण पिथोड़े ने सभी गैस राहत हॉस्पिटल में ओपीडी सेवा भी शुरू करने के निर्देश दिए गए। साथ ही उन्होंने पल्मनरी हॉस्पिटल गिन्नौरी को गैस पीड़ित लोगों के कोविड सेंटर के रूप में रखने के लिए भी निर्देश जारी किए जा रहे हैं। वहीं, भोपाल मेमोरियल रिसर्च अस्पताल को केवल गैस पीड़ितों से लिए जा रहे सैंपल की जांच करने के लिए लिखा जा रहा है।

बैठक में यह लोग हुए शामिल :

बताते चलें करेक्टर के साथ हुई इस बैठक में एडीएम सतीश कुमार एवं गैस पीड़ित एक्टिविस्ट रचना ढींगरा सीएमएचओ प्रभाकर तिवारी , डॉ रवि वर्मा, के के दुबे, आर आर तिवारी संचालक राष्ट्रीय रिसर्च पर्यावरण स्वस्थ संस्थान, राशिदा बी अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co