Raj Express
www.rajexpress.co
समस्याओं से जूझ रहे लोग, पर पार्षदों को अपनी चिंता
समस्याओं से जूझ रहे लोग, पर पार्षदों को अपनी चिंता|Priyanka Yadav
मध्य प्रदेश

भोपाल: समस्याओं से जूझ रहे लोग, पर पार्षदों को अपनी चिंता

भोपाल : पूरे तीन महीने बाद शनिवार को नगर-निगम परिषद बैठक आयोजित की गई। उम्मीद थी कि बैठक में शहर की समस्याओं पर चर्चा होगी, लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ।

Priyanka Yadav

Priyanka Yadav

राज एक्सप्रेस। पूरे तीन महीने बाद नगर-निगम की परिषद बैठक शनिवार को बुलाई गई। उम्मीद थी कि शहर की 23 लाख आबादी का नेतृत्व करने वाले जनप्रतिनिधि शहर की समस्याओं को उठाएंगे, लेकिन बैठक में धारा 370, मेट्रो का नामकरण, सड़कों का नामकरण और मोदी-कमलनाथ जिंदाबाद के नारे ही लगते रहे। 26 जून को नगर निगम की अंतिम परिषद बैठक आयोजित हुई थी। इस दिन निगम का बजट पेश किया गया था।

जबकि हर दो महीने में बैठक बुलाने का प्रावधान है। यानि पूरे तीन महीने बाद शनिवार को परिषद बैठक आयोजित की गई। उम्मीद थी कि बैठक में शहर की समस्याओं पर चर्चा होगी। लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ। पूरे 8 घंटे चली बैठक में ऐसे प्रस्तावों पर चर्चा हुई, जिसका आम जनता से कोई सरोकार नहीं है। शहर में भारी बारिश के कारण 85 वार्डों की सड़के जर्जर हों चुकी हैं। करोड़ों रुपए की लागत से लगाई गईं 42 हजार से ज्यादा स्ट्रीट लाइटों में से 15 हजार लाइटें बंद पड़ी हुई हैं। वहीं शहरवासी आवारा कुत्तों और पशुओं से परेशान है। ट्रैफिक सिग्नल से लेकर पार्किंग और हाकर्स कार्नर की हालत खराब है। लेकिन परिषद में इन मुद्दों पर भी चर्चा नहीं हुई।