नकली दूध
नकली दूध|Social Media
मध्य प्रदेश

'शुद्ध के लिए युद्ध अभियान' को ठेंगा दिखाते साँची दूध सप्लायर

मध्यप्रदेश राजधानी भोपाल से नामी गिरामी दूध कम्पनी के दूध टैंकर में मिलावट का ताजा मामला सामने आया है।

Priyanka Yadav

Priyanka Yadav

राज एक्सप्रेस। मध्यप्रदेश में एक तरफ तो सरकार प्रदेश की जनता को तरह-तरह के आश्वासन देती रहती है कि, मिलावटखोरी और नकली सामन पर रोकथाम कर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इसके बावत बाकायदा सरकार ने 'शुद्ध के लिए युद्ध अभियान' तक चला रखा है पर मिलावटखोर बाज नहीं आ रहे हैं। ताजा मामला नामी गिरामी दूध कम्पनी के दूध टैंकर में मिलावट का सामने आया है।

क्या है मामला

मिली जानकारी के अनुसार मामला राजधानी भोपाल का है, मुलताई से भोपाल आ रहे मिलावटी सांची दूध के टैंकर को भोपाल क्राइम ब्रांच ने रंगे हांथ जप्त किया है। 36 कैन दूध टैंकर से निकाल लेते थे और बदले में केमिकल मिलाकर नकली दूध तैयार किया जाता था। करीब 1000 से 1500 लीटर नकली दूध, सांची दूध के टैंकर में मिलाकर भेजा जाता था।

भोपाल क्राइम ब्रांच की कार्यवाही

सूत्रों से पता चला है कि, भोपाल टैंकर से जीपीएस निकालकर, पंचर की दुकान पर रख दिया जाता है और टैंकर को किसी सुनसान जगह ले जाकर वहा शुद्ध दूध में केमिकल ओर पानी मिलाकर सप्लाई किया जाता है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co