कोरोना वैक्सीन के नाम पर चल रहा फ्रॉड, भोपाल साइबर सेल को मिली शिकायत
Bhopal cyber cell receives fraud complaint in the name of corona vaccineSyed Dabeer Hussain - RE

कोरोना वैक्सीन के नाम पर चल रहा फ्रॉड, भोपाल साइबर सेल को मिली शिकायत

भोपाल साइबर सेल ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया है कि, उन्हें ऐसे लोगों की कम से कम आधा दर्जन शिकायतें मिली हैं, जिन्हें घोटालेबाजों द्वारा कॉल करके वैक्सीन के रजिस्ट्रेशन कराने के लिए कहा था।

भोपाल। अब तक देश में अलग अलग बहानों से साइबर फ्राड की घटनाएं सामने आ रही थीं, लोग डेबिट-क्रेडिड कार्ड या किसी अन्य बहाने से लोगों के बैंक से पैसे उड़ा लेते थे। वहीं, अब कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच कोविड -19 की वैक्सीन के नाम पर फ्रॉड करने की कोशिश की जा रही हैं। इस बारे में भोपाल साइबर सेल ने जानकारी दी है।

भोपाल साइबर सेल ने दी जानकारी :

दरअसल, भोपाल साइबर सेल ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया है कि, उन्हें ऐसे लोगों की कम से कम आधा दर्जन शिकायतें मिली हैं, जिन्हें घोटालेबाजों द्वारा कॉल करके वैक्सीन से जुड़ा वादा किया गया था। यह घोटालेबाज कोरोना की वैक्सीन से जुड़ी जानकारी देते हुए वैक्सीन लगाने के लिए रजिस्ट्रेशन करने क बात करते हैं और यूजर के फोन पर आए OTP की मांग करते हैं।

ASP ने दी जानकारी :

इस बारे में ASP रजत सकलेचा ने जानकारी देते हुए बताया है कि, 'हालांकि, अभी तक किसी भी ग्राहक का पैसा नहीं गया है क्योंकि सभी शिकायतकर्ता समझदार थे और उन्होंने कोई जानकारी नहीं दी। लेकिन ऐसे साइबर ठग चालबाज होते हैं और कोई उनके लालच में पड़ सकता है।'

पुलिस ने दी सलाह :

इस मामले में पुलिस ने भी लोगों को सलाह दी है कि, 'ऐसी कॉल पर भरोसा न करें या फोन पर किसी अजनबी के साथ अपने बैंक विवरण साझा न करें। इसके अलावा ऐसे कॉल करने वालों के अनुरोध पर किसी भी मोबाइल ऐप को डाउनलोड न करें और ईमेल, इनबॉक्स या सोशल मीडिया के माध्यम से भेजे गए किसी भी लिंक पर क्लिक न करें। क्योंकि, ये घोटालेबाज कोविड वैक्सीन के नाम पर लोगों को शिकार बनाते हैं।'

भोपाल के एक व्यवसायी ने बताया :

साइबर अपराध शाखा से की गई ऐसी ही एक शिकायत में, भोपाल के एक व्यवसायी ने बताया कि 'उन्हें कोविड -19 वैक्सीन के लिए एक अजनबी का कॉल आया। कॉल गया कि, मार्केट में आने के बाद यह वैक्सीन हजारों रूपये की होगी, इसलिए अभी 500 रूपये से रजिस्टर करा लें। इसके बाद व्यवसायी ने अपने बैंक की जनकारी साझा करने से इनकार कर दिया, लेकिन कॉलर उन्हें लगातार OTP भेज कर उनसे उसे साझा करने का आग्रह कर रहा था। जिससे उनका वैक्सीन के लिए रजिस्ट्रेशन हो जाये।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co