Raj Express
www.rajexpress.co
BHOPAL EYE
BHOPAL EYE|Social Media
मध्य प्रदेश

पुलिस की "BHOPAL EYE" कसेगी अपराधियों पर शिकंजा

भोपाल, मध्यप्रदेश : राजधानी भोपाल में अपराध पर लगाम लगाने के लिए 'भोपाल आई ऐप' से पुलिस निगरानी करेगी।

Priyanka Yadav

Priyanka Yadav

राज एक्सप्रेस। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में अपराध पर लगाम लगाने के लिए भोपाल आई ऐप से पुलिस निगरानी करेगी, राजधानी भोपाल में "BHOPAL EYE" पुलिस द्वारा विभिन्न संगठनों व व्यापारियों के सहयोग से प्रारंभ की गई एक अभिनव पहल है, जिसका शुभारंभ आज डीआईजी शहर श्री इरशाद वली द्वारा पुलिस कंट्रोल रूम में किया गया एवं आमजन में जागरूकता हेतु हरीझंडी दिखाकर जागरूकता वाहन को रवाना किया गया।

जानकारी के अनुसार

अब नए ऐप पर इनके फीड होने के बाद पुलिस शहर के बड़े हिस्से की निगरानी कर सकेगी। इससे सीधी मॉनिटरिंग पुलिस कंट्रोल रूम के माध्यम से की जा सकेगी, जिससे शहर में हो रही अवांछनीय, अवैधानिक गतिविधियों पर नजर रखी जायेगी। "BHOPAL EYE" के माध्यम से शहर के व्यवसायिक, निजी भवनों, प्रतिष्ठानों के प्रबंधकों के सहयोग से उनके भवनों, प्रतिष्ठानों में सीसीटीवी कैमरे लगवाये जाएंगे, जो 'को-आईपी एड्रेस' से कनेक्ट रहेंगे। जिसमें असामाजिक तत्वों व अपराधियों पर नज़र रखने व अपराधों पर अंकुश लगाने एवं आमजन व प्रतिष्ठानों की सुरक्षा व्यवस्था संबंधी महत्वपूर्ण बिंदुओं पर चर्चा की गई।

अपराध पर लगाम
अपराध पर लगाम
Social Media

भोपाल पुलिस द्वारा तैयार किया गया रोडमैप

भोपाल पुलिस द्वारा विगत दिनों से शहर के थानों के विभिन्न व्यापारिक संस्थानों-प्रतिष्ठानों, मंदिर, मस्जिद, बैंक, एटीएम, स्कूल, कॉलेज, कोचिंग, शादी गार्डंन आदि महत्वपूर्ण संस्थानों की जानकारी एकत्र कर डाटा तैयार किया गया है, जिनके प्रमुखों से लगातार पुलिस कंट्रोल रूम से सम्पर्क कर सुरक्षा व्यवस्था सम्बंधी जानकारी ली जा रही है एवं सुरक्षा में किसी प्रकार की कमी है तो उसे प्राथमिकता से तुरंत दूर करवाने, सीसीटीवी लगवाने, सुरक्षा गार्ड रखने आदि संबंधी दिशा-निर्देश भी दिये जा रहे हैं, जो सुरक्षा व्यवस्था में काफी कारगर साबित हो रहा है।

डीआईजी श्री इरशाद वली के निर्देशानुसार

एएसपी जोन-1 श्री अखिल पटेल, एएसपी क्राइम श्री निश्छल झारिया एवं एएसपी सायबर श्री संदेश जैन द्वारा विभिन्न संगठनों, प्रतिष्ठानों, व्यापारियों से पुलिस कंट्रोल रूम में द्विपक्षीय संवाद कर भोपाल पुलिस के विभिन्न सुझावों व उद्देश्यों से अवगत कराया गया एवं उनके सुझाव जाने गए, जिस पर व्यापारियों व समुदायों के प्रमुखों द्वारा भोपाल पुलिस की उक्त अभिनव पहल को काफी सराहा गया एवं पुलिस का पूर्ण सहयोग करने हेतु आश्वासित किया गया साथ ही महत्वपूर्ण सुझाव दिए गए।

पुलिस ने एमपीनगर जोन-1 में व्यापारियों के आग्रह पर सर्वे कराया था, जहां सीसीटीवी लगाए जा सकते हैं। यहां 332 ऐसे प्वाइंट मिले थे, यहां सीसीटीवी लगने के बाद पूरा एमपीनगर का जोन-1 पुलिस की नजर में आएगा। शहर में शांति व सुरक्षा व्यवस्था बनाये रखने हेतु आमजन से भोपाल पुलिस को काफी अपेक्षाएं है एवं पुलिस का सहयोग हेतु आमजन से अपील का जा रही है।

"अभी 'भोपाल आई ऐप' की टेस्टिंग चल रही है, जल्द ही इसे लांच किया जाएगा। लोग ज्यादा से ज्यादा इसका उपयोग करें, ताकि अपराधियों पर शिकंजा कसे।"

इरशाद वली, डीआईजी

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।