Raj Express
www.rajexpress.co
फर्जी एनकांउटर के आरोप में पुलिस की टीम पर परिवाद दर्ज
फर्जी एनकांउटर के आरोप में पुलिस की टीम पर परिवाद दर्ज|Social Media
मध्य प्रदेश

भोपालः फर्जी एनकांउटर-पुलिस टीम पर FIR की मांग

भोपाल, मध्यप्रदेशः उत्तरप्रदेश की एसटीएफ पर एक बार फिर फर्जी एनकांउटर करने के सवाल उठे हैं जिसमें पिछले दिनों भोपाल से युवक को जबरन पकड़ कर यूपी में एनकांउटर कर दिया गया।

Deepika Pal

राज एक्सप्रेस। मध्यप्रदेश के भोपाल से एक युवक को उत्तरप्रदेश के एसटीएफ की टीम ने ले जाकर एनकांउटर कर दिया और बयान में पुलिस ने आरोपी को एक मुठभेड़ में मार गिराने की बात कही थी। मृतक के परि़जनों ने इस मामले के संबंध में दोषियों के खिलाफ एफआईआर की मांग करते हुए भोपाल कोर्ट में परिवाद दायर किया है।

क्या है मामलाः

जानकारी के मुताबिक मृतक तौकिर अहमद पिता हफीज़ अहमद (22) प्रतापगढ़ ,उत्तरप्रदेश का निवासी है। जिसके खिलाफ यूपी में पुलिस ने रंगदारी, हत्या, हत्या के प्रयास जैसे अपराधों के मामले दर्ज किए थे। लेकिन परिजनों का कहना है कि पुलिस द्वारा तौकिर पर बेवजह ही अपराध करने के आरोप लगाकर उसे वांटेड और एक लाख रुपये का इनाम भी घोषित किया गया। जिससे बचने के लिए तौकिर भोपाल में छिपा था।

पुलिस ने गिरफ्त में लेकर दिया एनकांउटर को अंजामः

एनकांउटर की घटना से दस दिन पहले ही तौकिर ने अपने दोस्त से पुलिस के सामने सरेंडर करने की बात कही थी। वही आरोपी तौकिर एसटीएफ प्रभारी इंस्पेक्टर हेमंत भूषण के लगातार संपर्क में था जिसके बाद 4 जून को लोकेशन के आधार पर भोपाल के इमामी गेट की एक दुकान के सामने से गिरफ्तार किया और 6 जून को सुबह एनकांउटर को अंजाम दिया। यह एनकांउटर की कार्रवाई प्रतापगढ़ के एसपी अभिषेक सिंह के सामने की गई।

केस की अगली सुनवाई 11 नवंबर तक टलीः

मृतक के परिजनों ने बताया कि, तौकिर ईद पर मिलने आया था, दुकान में लगे सीसीटीवी फुटेज में पुलिस हेमंत भूषण के तौकिर को ले जाने के फुटेज कैद हुए हैं।

इस मामले में मृतक के परिजनों की ओर से पैरवी कर रहे वकील यावर खान ने बताया कि, पुलिस के खिलाफ मामले के तहत तीन दिन पहले याचिका लगाई गई थी। जिसके अधीन कार्रवाई करते हुए न्यायिक दंडाधिकारी श्याम सुंदर झा ने प्रतापगढ़ कोतवाली पुलिस से इस मामले की जांच रिपोर्ट प्रस्तुत करने के आदेश दिए हैं जिसके संबंध में अगली सुनवाई 11 नवंबर को होगी।