भोपाल में लॉकडाउन लागू वाला मैसेज निकला फेक, कलेक्टर ने किया खंडन
भोपाल में लॉकडाउन लागू लगने वाला मैसज निकला फेक, कलेक्टर ने किया खंडनSyed Dabeer Hussain - RE

भोपाल में लॉकडाउन लागू वाला मैसेज निकला फेक, कलेक्टर ने किया खंडन

राजधानी भोपाल में लॉकडाउन को लेकर एक खबर आज सुबह से वायरल हो रही है। कई लोगों ने इस खबर को सच भी मान लिया है। इस वायरल हो रहे मैसेज के चलते कई लोगों के मन में सवाल उठने लगे थे, लेकिन यह मैसेज फेक है।

भोपाल, मध्य प्रदेश। कई बार ऐसे फेक मैसेज भी वायरल होने लगते हैं कि, लोग उनपर भरोसा कर लेते हैं। ऐसे ही मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में लॉकडाउन को लेकर एक खबर आज सुबह से वायरल हो रही है। कई लोगों ने इस खबर को सच भी मान लिया है। इस वायरल हो रहे मैसेज के चलते कई लोगों के मन में सवाल उठने लगे थे, लेकिन यह मैसेज फेक है।

क्या है फेक मैसेज :

दरअसल, आज सुबह से एक खबर काफी वायरल हो रही है। इस खबर के तहत कहा जा रहा है कि, 'मध्य प्रदेश की राजधानी 'भोपाल ज़िले में रविवार 18 जुलाई से 8 दिन का लगेगा लॉक डाउन, कलेक्टर अविनाश लवानिया ने धारा 144 में आदेश जारी किए हैं। कलेक्टर और जिला दंडाधिकारी अविनाश लावनिया ने क्षेत्र की जनता की सुरक्षा और कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए क्षेत्र में रविवार 18 जुलाई से 24 जुलाई तक लॉक डाउन करने के आदेश जारी कर दिए हैं। 18 जुलाई सुबह 5 बजे से 25 जुलाई रविवार रात्रि 10 बजे तक क्षेत्र की सीमाएं सील रहेंगी, किसी भी व्यक्ति को घर से निकलने की अनुमति नहीं होगी, मेडिकल आपातकाल को छोड़कर दुकानें और संस्थान बन्द रहेंगे।'

मैसेज में आगे कहा गया है कि, 'बेरिकेटिंग कर क्षेत्र की सीमाओं को बन्द रखा जाएगा। इस सम्बन्ध में कलेक्टर ने निर्देश जारी कर सीमाएं सम्बन्धित एस डी एम और नगर पुलिस अधीक्षक द्वारा निर्धारित की जाएंगी, मेडिकल आपात काल और शव यात्रा को छोड़कर अन्य किसी भी कारण से बाहर निकलने की अनुमति नहीं होगी। आवश्यक वस्तुओं की सप्लाई नगर निगम के द्वारा की जाएगी। कलेक्टर लवानिया ने बताया कि इस क्षेत्र में लगातार बढ़ते कोविड संक्रमण और मास्क नहीं लगाने, सोशल डिस्टेंस का पालन नहीं करने, बिना काम के सार्वजनिक जगहों पर घूमने के कारण ऐसी स्थिति उत्पन्न हो गई है, जिससे क्षेत्र की जनता को संक्रमण से बचाने के लिए सम्पूर्ण लॉक डाउन का निर्णय लिया गया है।'

भोपाल कलेक्टर ने किया मैसेज का खंडन :

बताते चलें, इस मैसेज को काफी लोगों ने सच मान लिया था, लेकिन हम आपको बता दें, सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रही यह खबर बिल्कुल गलत है। भोपाल में लॉकडाउन लगने वाला मैसेज पूर्ण रूप से फर्जी है। भोपाल कलेक्टर अविनाश लावनिया ने इस मैसेेज का खंडन किया है। उन्होंने खंडन करते हुए कहा कि, 'भोपाल-लॉक डाउन को लेकर वायरल हो रहा मैसेज पूरी तरह से गलत है। सोशल मीडिया पर लॉक डाउन लगने की फैल रही अफवाह पूरी तरह से गलत है।'

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co